Skip Navigation Links
राशि के अनुसार करें नववर्ष का स्वागत, पायें एक अच्छी शुरुआत


राशि के अनुसार करें नववर्ष का स्वागत, पायें एक अच्छी शुरुआत

31 दिसंबर की रात को जैसे ही रात्रि के 11 बजकर 59 मिनट और 59 सैकेंड से घड़ियां आगे बढी आसामन में शोरगुल के साथ पटाखों की छिटकती रोशनी दिखाई दी, नए साल के स्वागत में किलकारियों की गूंज सुनाई दी, एक दूसरे को बधाईयां देने का सिलसिला शुरु हुआ और हैप्पी न्यू इयर एक अंतर्राष्ट्रीय स्लोगन बनता हुआ दिखाई दिया। हो भी क्यों न आखिर लोग इस दिन को आशा की एक नई किरण के रुप में देखते हैं। हर कोई नए साल को लेकर उत्साहित है ऐसे में आप अपनी राशि के अनुसार नए साल 2016 का स्वागत कर इसकी एक अच्छी शुरुआत कर सकते हैं, आइए जानते हैं कैसे करें अपनी राशि अनुसार नव वर्ष का स्वागत।

मेष

अंग्रेजी की एक कहावत है ‘फर्स्ट इंप्रैशन इज द लास्ट इंप्रैशन’ इसलिए साल की शुरुआत अपने ईष्ट देवताओं की पूजा से करें, अपने बड़ों एवं गुरुओं से लिए सबक स्मरण करें, दोस्तों के साथ उत्सव मनाएं लेकिन अति उत्साह से बचें क्योंकि अति उत्साह कई बार मजा किरकिरा कर देता है।

वृष

वृष राशि वाले जातक शांति प्रिय स्वभाव के होते हैं, हुड़दंग बाजी इन्हें रास नहीं आती अत: आप अपने परिजनों के साथ, अपने चाहने वालों के साथ नए साल का स्वागत करें। अपने प्रियजन को कोई भेंट दे सकते हैं परिवार को बाहर घुमाने या फिल्म दिखाने का कार्यक्रम भी बना सकते हैं।

मिथुन

मिथुन राशि के व्यक्ति सज्जन और उदार हृद्यी होते हैं। विपरीत लिंगी के प्रति आपका आकर्षण कुछ ज्यादा ही रहता है। आप नव वर्ष की शुरुआत दान-पुण्य करके करें। अपने प्रेमी या दोस्तों या परिजनों के साथ मस्ती भरा समय बीताएं व अपना 2016 का राशिफल जरुर पढ़ें।

कर्क

कर्क राशि के जातक ग्रहणशील, धैर्यवान और एकाग्र होते हैं। नए वर्ष का स्वागत अपने चाहने वालों के साथ उत्सव मनाते हुए करें। परिवार के मंगल की कामना करें। दोस्तों के साथ पार्टी करें लेकिन मर्यादा का उल्लघंन न करें।

सिंह

सिंह राशि के जातक जुबान के धनी होते हैं। अपने चाहने वालों से नए साल को लेकर जो वादे किए हैं उन्हें पूरा करें। मनोरंजन आपको काफी पसंद होता है इसलिए परिवार के साथ पिकनिक मनाएं। आपके सितारे बुलंद हैं इसलिए दान-पुण्य करके अपने लिए नेकी बटोरने की शुरुआत साल के पहले दिन से ही शुरु करें।

कन्या

अक्सर आपके बारे में लोग गलत धारणा बना लेते हैं इसलिए नए साल पर अपने प्रियजनों को सरपराइज़ पार्टी देकर इस धारणा तोड़ एक सकारात्मक शुरुआत कर सकते हैं। दूसरों की खुशी में अपनी खुशी होती है। किसी गरीब के चेहरे पर मुस्कान लाकर साल की अच्छी शुरुआत कर सकते हैं।

तुला

प्रेम और सुंदरता का ग्रह आपकी राशि का स्वामी है। इसलिए अपने चाहने वाले को अपने जीवन साथी की इच्छा का ध्यान रखें। शोर-शराबा, भीड़-भाड़ अगर पसंद नहीं है तो घर पर भी अच्छे से सेलिब्रेट कर सकते हैं। जीवन संगीनी या संतान के हाथ से किसी गरीब को गर्म कपड़े दान करके आत्मिक शांति एवं साल की अच्छी शुरुआत कर सकते हैं।

वृश्चिक

अपने प्यार किसी नव वर्ष पार्टी में ले जाकर एक आनंदमयी शुरुआत कर सकते हैं। विवाहित हैं तो अपनी संगिनी को कोई सरपराइज़ गिफ्ट दे सकते हैं। माता-पिता व घर के बड़े-बुजुर्गों का आशीर्वाद लें साल की शुरुआत अच्छी रहेगी।

धनु

धनु राशि के व्यक्ति जीवन के वास्तविक अर्थ को समझते हैं। आप साल की शुरुआत किसी धार्मिक आयोजन से कर सकते हैं। युवा जातक काफी खुले विचारों के होते हैं, इसलिए अपने दोस्तों के साथ मदहोशी के आलम में साल के ये शुरुआती पल गुजार सकते हैं बस जोश के साथ होश बरकरार रखें।

मकर

मकर राशि के जातक काफी संवेदशनशील और खुश मिजाज होते हैं लेकिन इनके दिल को चोट भी बहुत जल्दी पंहुचती है। इसलिए नव वर्ष 2016 का उत्सव मनाएं लेकिन बेगानी महफ़िल से दूरी बनाएं। बुजूर्गों की सेवा-टहल करें उनका आशीर्वाद लें, साल का पहला दिन अच्छा गुजरेगा।

कुंभ

कुंभ राशि के जातक काफी भावुक और चंचल स्वभाव के होते हैं। इन्हें हमेशा कुछ नया करने की आदत होती है। नया साल है नया दिन है इसलिए इस मौके पर चौका लगाना तो बनता है। जमकर नए साल पर धमाल करें और अपनी खुशी में दूसरों को भी शरीक करें। साल की शुरुआत को और भी अच्छा करने के लिए बस आप जैसी खुशी दूसरों को मिले इसकी प्रार्थना करें, निश्चित रुप से आपकी शुरुआत अच्छी होगी।

मीन

मीन राशि के जातक दिखावा व चालाकी पसंद नहीं करते, दोस्त भी गिनचुने पर बहुत अच्छे होते हैं, इसलिए अपने दोस्तों के साथ नए साल का उत्सव मनाएं। अपने प्रेमी या जीवन साथी के साथ साल के शुरुआती लम्हों को यादगार बना सकते हैं। किसी जरुरतमंद दोस्त की मदद करें आपके साल की शुरुआत अच्छी रहेगी।




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

महाशिवरात्रि - देवों के देव महादेव की आराधना पर्व

महाशिवरात्रि - देव...

देवों के देव महादेव भगवान शिव-शंभू, भोलेनाथ शंकर की आराधना, उपासना का त्यौहार है महाशिवरात्रि। वैसे तो पूरे साल शिवरात्रि का त्यौहार दो बार आ...

और पढ़ें...
शिव मंदिर – भारत के प्रसिद्ध शिवालय

शिव मंदिर – भारत क...

सावन का महीना आ चुका है और इस पावन महीने में भगवान शिव की आराधना करने का पुण्य बहुत अधिक मिलता है। शिवभक्तों के लिये तो यह महीना बहुत खास होत...

और पढ़ें...
सूर्य ग्रहण 2017 जानें राशिनुसार क्या पड़ेगा प्रभाव

सूर्य ग्रहण 2017 ज...

26 फरवरी को वर्ष 2017 का पहला सूर्यग्रहण लगेगा। सूर्य और चंद्र ग्रहण दोनों ही शुभ कार्यों के लिये अशुभ माने जाते हैं। पहला सूर्यग्रहण हालांकि...

और पढ़ें...
नटराज – सृष्टि के पहले नर्तक भगवान शिव

नटराज – सृष्टि के ...

भगवान भोलेनाथ, शिव, शंकर, अर्ध नारीश्वर, हरिहर, हर, महादेव आदि अनेक नाम भगवान शिव के हैं। त्रिदेवों में सबसे लोकप्रिय भगवान शिव ही माने जाते ...

और पढ़ें...
सूर्य ग्रहण 2017

सूर्य ग्रहण 2017

ग्रहण इस शब्द में ही नकारात्मकता झलकती है। एक प्रकार के संकट का आभास होता है, लगता है जैसे कुछ अनिष्ट होगा। ग्रहण एक खगोलीय घटना मात्र नहीं ह...

और पढ़ें...