Skip Navigation Links
विकास कृष्ण यादव के पंच में है पदक दिलाने का दम


विकास कृष्ण यादव के पंच में है पदक दिलाने का दम

रियो ओलिंपिक 2016 के बॉक्सिंग मुकाबले शुरु होते ही भारतीय पंच की ताकत दिखाई देने लगी है। संयुक्त राज्य अमेरिका के बॉक्सर को 3-0 से छकाकर विकास कुमार यादव प्री क्वाटर फाइनल में पंहुच चुके हैं। उनके लिये आने वाले मुकाबले कैसे रहेंगें? यह जानना तो आप सब चाहते ही होंगें। और यह पूर्वानुमान तो ज्योतिषशास्त्र से ही लगाया जा सकता है। एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों ने हरियाणा में जन्मे इस भारतीय बॉक्सर की कुंडली का आकलन किया है। तो आइये जानते हैं, क्या कहते हैं इस अर्जुन पुरस्कार विजेता इस बॉक्सर के ग्रह? एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों से आप भी जान सकते हैं आपकी कुंडली में ग्रहों की दशा व उनके अच्छे-बुरे प्रभाव के बारे में, अच्छे को और अच्छा और बूरे के प्रभाव को कैसे कम किया जाये इसका समाधान भी आप जान सकते हैं। देश के जाने-माने ज्योतिषाचार्यों से परामर्श करने के लिये डाउनलोड करें भारत की पहली एस्ट्रोलॉजर ऐप।


नाम : विकास कृष्ण यादव

जन्म स्थान : हिसार, हरियाणा

जन्म तिथि : 10 फरवरी 1992

जन्म समय : 12:00


उपरोक्त विवरण के अनुसार इनकी कुंडली वृषभ लग्न की बनती है जिसकी राशि मेष है। इस समय इन पर सूर्य की महादशा चल रही हैं जिसमें अंतर में बृहस्पति विद्यमान हैं।


इस राशि के जातक झूझारु प्रकृति के होते हैं और इनमें सपनों को साकार करने का जज्बा कूट-कूट कर भरा होता है। इनकी कुंडली के हिसाब से इनके लिये बुद्धादित्य योग बन रहा है जो कि जातक के लिये बहुत ही भाग्यशाली माना जाता है। साथ एक खास बात इनकी पत्रिका में यह भी है कि मंगल उच्चस्थ का है और अपनी राशि को देख रहा है इस प्रकार यह भी एक शुभ योग इनके लिये हो सकता है। वहीं सूर्य और बृहस्पति की दशा व सूर्य बुध का योग इनके करियर के हिसाब से ऊंचाईयों को छूने का अवसर मिल सकता है।


शनि की ढ़ैया हो सकती है परेशानी का सबब

वर्तमान में इन पर शनि की ढ़ैया चल रही है जो इनके रास्ते में अड़चने भी पैदा कर सकती है। लेकिन ज्योतिषशास्त्र में शनिदेव को न्यायप्रिय देवता माना जाता है इसलिये पूरी संभावनाए हैं कि इन्हें अपनी मेहनत का उचित फल मिले।


अपने अगले मैच में विकास को बड़ी सूझ-बूझ के साथ खेलना होगा। कई बार व्यक्ति की मेहनत भी उसकी किस्मत बदल देती है और फिर इनके साथ तो पूरे देश की दुआएं भी हैं। एस्ट्रोयोगी की पूरी टीम की ओर से उन्हें अपनी जीत की बधाई और अगले मुकाबलों के लिये ढ़ेर सारी शुभकामनाएं।


इन्हें भी पढ़ें

सायना नेहवाल – रियो ओलिंपिक में पदक की भारतीय उम्मीद   |   दीपा करमाकर क्या कहते हैं इस जिमनास्ट के सितारे   |  

 राहू है बलवान छा सकते हैं नरसिंह पहलवान   |   रियो ओलिंपिक 2016 - क्या भारतीय खिलाड़ियों को मिलेगा सितारों का साथ   |   

युवाओं के लिए कुछ खास है 2016   |   2016 - क्या खेलों में चमकेगा भारत   |   2016 - क्या कहते हैं भारत के सितारे   |   2016 - क्या कहते हैं आपके सितारे 

रियो ओलिंपिक में क्या भारतीय हॉकी टीम की पलटेगी किस्मत क्या कहते हैं सितारे




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

होलिका दहन - होली की पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

होलिका दहन - होली ...

होली, इस त्यौहार का नाम सुनते ही अनेक रंग हमारी आंखों के सामने फैलने लगते हैं। हम खुदको भी विभिन्न रंगों में पुता हुआ महसूस करते हैं। लेकिन इ...

और पढ़ें...
फाल्गुन पूर्णिमा – व्रत कथा व पूजा विधि

फाल्गुन पूर्णिमा –...

फाल्गुन जहां हिन्दू नव वर्ष का अंतिम महीना होता है तो फाल्गुन पूर्णिमा वर्ष की अंतिम पूर्णिमा के साथ-साथ वर्ष का अंतिम दिन भी होती है। फाल्गु...

और पढ़ें...
ब्रज की होली - बरसाने की लठमार होली

ब्रज की होली - बरस...

होली फाल्गुन मास का सबसे खास और हिंदू वर्ष का सबसे अंतिम त्यौहार होता है। अंतिम इसलिये क्योंकि फाल्गुन पूर्णिमा हिंदू वर्ष का अंतिम दिन माना ...

और पढ़ें...
क्यों मनाते हैं होली पढ़ें पौराणिक कथाएं

क्यों मनाते हैं हो...

होली के रंग भरे त्यौहार से तो आप सभी वाकिफ हैं। फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाने वाला यह पर्व बहुत ही उल्लास का पर्व होता है। इसमें प्रे...

और पढ़ें...
क्या है होली और राधा-कृष्ण का संबंध

क्या है होली और रा...

होली के पर्व का जिक्र आते ही मन रंगों से खेलने लगता है और प्रेम के इस पर्व में हर कोई राधा व कृष्ण हो जाना चाहता है। आप सोच रहे होगे कि राधा ...

और पढ़ें...