Skip Navigation Links


मीन वित्त राशिफल 2017

मीन वित्त राशिफल 2017

वित्तीय तौर पर मीन जातकों की 2017 में अच्छी शुरुआत के बावजूद वर्ष के मध्य तक आर्थिक चुनौतियां बनी रहने के आसार हैं। साल के उत्तरार्ध में स्थिति बेहतर बनी रहने के संकेत हैं। कुल मिलाकर देखा जाये तो यह वर्ष आपकी वित्तीय स्थिति को बेहतर बना सकता है। वर्ष 2017 के आरंभ के समय में राशि स्वामी बृहस्पति कन्या लग्न में रहेंगें जहां से मीन जातकों पर उनकी सपष्ट दृष्टि पड़ेगी। प्रथम दृष्टि से इससे आभास होता है कि यह वर्ष आपके लिये अच्छा रहने के आसार हैं। दूसरा कारण जनवरी के अंत में शनि का राशि परिवर्तन भी है क्योंकि यह परिवर्तन भी मीन जातकों के लिये नुक्सानदायक नहीं है।

लेकिन फरवरी में राशि स्वामी गुरु के कन्या में वक्री होने पर थोड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। आपकी मदद के लिये जो हाथ आगे आने को तैयार थे अचानक वे वापस खींचे जा सकते हैं। लेकिन इस समय परिस्थितियों का सामना करते हुए आपके लिये अच्छी बात यह हो सकती है कि आप हालातों से सीख लेते हुए एक सकारात्मक ऊर्जा के साथ आगे बढ़ सकते हैं।

अप्रैल में मेष राशि में बुध का वक्री होना आपकी वित्तीय स्थिति को प्रभावित कर सकता है। इस समय धन की गति में बाधाएं आ सकती हैं। लेकिन यह ज्यादा चिंता का विषय नहीं बनने के आसार हैं। दरअसल इसी महीने में वक्री शुक्र आपकी राशि में उच्च का रहेगा जिससे मीन जातकों के व्यापारिक संबंध मजबूत होने का लाभ उन्हें मिल सकता है। हालांकि इसके सकारात्मक परिणाम मई में बुध के मार्गी होने के पश्चात मिलने के आसार हैं। जून में शुक्र का राशि परिवर्तन आपको व्यक्तिगत मामलों में उलझाकर आपके व्यावसायिक जीवन को प्रभावित कर सकता है जिसका आपकी आर्थिक स्थिति पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

सितंबर में राहू-केतु का परिवर्तन होगा, केतु आपकी राशि से ग्याहरवां होने से आपको पैतृक संपत्ति में हिस्सा मिलने के योग बन सकते हैं। वहीं लंबे समय से आपको मिलने वाले लाभ में कोई रुकावट है तो वह भी इस समय दूर हो सकती है। सितंबर में ही बृहस्पति का राशि बदलना आपकी स्वास्थ्य को लेकर खर्च बढ़ा सकता है लेकिन ‘जान है तो जहान है’ कहा भी जाता है ‘हेल्थ इज वेल्थ’। अक्तूबर में शनि पुन: परिवर्तन कर धनु में आ जायेंगें लेकिन आप पर प्रभाव सामान्य रहने से समय लाभकारी बना रहने के आसार है। आर्थिक तौर पर वर्ष का बाकि हिस्सा उत्तम फलदायी रहने के आसार हैं।

कुल मिलाकर वर्ष का पूर्वाध थोड़ा मुश्किल रह सकता है लेकिन उत्तरार्ध में आर्थिक स्थिति अच्छी होने के आसार हैं।