Skip Navigation Links


तुला राशिफल 2017

तुला राशिफल 2017

वर्ष 2017 की शुरुआत कन्या लग्न में हो रही है व लग्नेश बुध हैं। बृहस्पति लग्न में बैठे हैं कुल मिलाकर कह सकते हैं कि तुला जातकों के लिये साल की शुरुआत धमाकेधार हो सकती है। विशेषकर वित्तीय मामलों में तो यह साल काफी अच्छा रहने के आसार हैं वहीं व्यक्तिगत जीवन में भी यह वर्ष आपके अकेलेपन को दूर करने में मददगार हो सकता है यानि इसी वर्ष आपके परिणय सूत्र में बंधने के योग भी बन सकते हैं। विद्यार्थी वर्ग के लिये भी यह वर्ष काफी अच्छा रहने के आसार हैं। करियर के क्षेत्र में अपनी जमीन तलाश रहे जातकों को मंजिल मिल सकती है तो पहले से रोजगारशुदा जातकों के लिये पदोन्नति की संभावनाएं भी प्रबल हैं। लेकिन वर्ष के आरंभ में ही शुक्र व मंगल कुंभ राशि में रहेंगें जिसका साफ संकेत है कि आपको पैसे उधार देने से बचना चाहिये।

जनवरी के अंत में शनि का राशि परिवर्तन आपके लिये बहुत ही शुभ है क्योंकि इसके साथ ही आप पर चल रही शनि की साढ़े साती समाप्त हो जायेगी। फरवरी के शुरुआती सप्ताह में ही हालांकि बृहस्पति भी वक्री हो रहे हैं लेकिन तुला जातकों पर इसका प्रभाव नगण्य रहने के आसार हैं। हालांकि कोर्ट-कचहरी के चक्कर से दूर ही रहें तो बेहतर है।

अप्रैल तक का समय आपके लिये काफी शुभ कहा जा सकता है लेकिन अप्रैल के पहले सप्ताहांत पर शनि के वक्री होने से आपके बनते हुए काम अचानक रुक सकते हैं। यह समय आपके जीवन के हर क्षेत्र में मुश्किलें पैदा करने वाला हो सकता है। शुक्र व बुध भी इस समय वक्री होंगे जिसके कारण आपके संबंधों में भी खटास पैदा हो सकती है। बुध के वक्री होने से आपके स्वभाव में परिवर्तन हो सकता है। आवेश में आकर आप किसी की भावनाओं को ठेस भी पंहुचा सकते हैं। इस समय आपके लिये बेहतर रहेगा कि अपनी वाणी पर नियंत्रण रखें व संयम से काम लें। किसी भी तरह के वाद-विवाद में न ही पड़ें तो अच्छा है। ग्रहों के नकारात्मक प्रभाव से बचने के लिये विद्वान ज्योतिषाचार्यों से परामर्श अवश्य कर लें। शनिदेव की पूजा अर्चना करना या करवाना भी आपके लिये लाभदायक हो सकता है।

सितंबर तक का समय आपके लिये थोड़ा मुश्किलों भरा हो सकता है हालांकि अगस्त के अंत से आपकी समस्याएं कुछ कम होने के आसार बन सकते हैं। क्योंकि इस समय शनि मार्गी हो जायेंगें। सितंबर में राहू-केतु का परिवर्तन तुला जातकों के लिये सामान्य रहने के आसार हैं लेकिन सितंबर में ही बृहस्पति तुला राशि में ही आ जायेंगें। इस समय आपको अति आत्मविश्वास से बचना चाहिये। किसी भी कार्य की शुरुआत करने से पहले अपने माता-पिता, गुरु अथवा दोस्तों से सलाह अवश्य लें।

अक्तूबर के अंत में शनि के राशि परिवर्तन के साथ ही आपकी तमाम समस्याओं का समाधान भी होने लगेगा। इस समय आपके रुके हुए कार्य बनने व आपके जीवन की गाड़ी पटरी पर लौट आने की पूरी संभावना है। साल का बाकि बचा समय आपके लिये बहुत ही शुभ कहा जा सकता है।