Skip Navigation Links
कन्या स्वास्थ्य

कन्या स्वास्थ्य

आप खाने के मामले में काफी चूजी होते हैं इस कारण आपको काफी परेशानियां झेलनी पड़ती हैं। आपके भोजन में लौह तत्व की कमी के चलते आप एनिमिया के शिकार हो सकते हैं। उचित मात्रा में केल्सियम ने मिलने से आप कमर की मांसपेशियों में खिंचाव या हड्डियों से संबंधित अन्य दर्द के शिकार हो सकते हैं। यदि आप शाकाहारी हैं तो अपने भोजन में ताजा फलों और सब्जियों की मात्रा को बढ़ाएं आपके लिये फायदेमंद रहेगा। मांसाहार का सेवन करने वाले जातकों को मछली अपने भोजन में शामिल करनी चाहिये।

आपको दुध एवं दुध से बने उत्पादों का भी इस्तेमाल करना चाहिये। शाकाहारी जातकों को अपने भोजन में प्रोटीन, केल्सियम एवं अन्य पोषक तत्वों को बढ़ाने पर जोर देना चाहिये। आपमें से कुछ जातकों को दांतों की समस्या से भी झूझना पड़ सकता है अत: अपने दांतों को लेकर आपको अतिरिक्त सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। इस राशि के अधिकतर जातक बहुत ज्यादा चिंता करते हैं इसलिये यह भी संभव है कि कुछ जातक मनोवैज्ञानिक परेशानियों का सामना करें। इसकी पूरी कोशिश करें की चिंताए आप पर ज्यादा हावि ना हों। इसके लिये आप व्यायाम, योग, संगीत अथवा नृत्य का सहारा भी ले सकते हैं। आपमें से अधिकतर जातक नैन नक्स के हिसाब से युवावस्था में काफी आकर्षक होते हैं। कद काठी भी औसत रुप से ठीक होती है लेकिन नाजुकता आपके अंदर बहुत होती है जिस कारण कुछ जातकों को लीवर, गाल ब्लैडर आदि की कमजोरी के चलते पाचन संबंधी समस्याओं से भी दो चार होना पड़ता है। फिर भी कुल मिलाकर कह सकते हैं कि कन्या जातकों की सेहत उमर के साथ-साथ बेहतर भी होती रहती है।

एस्ट्रो जानकारी