विश्वकप 2019 - कौन बनेगा विजेता?

विश्वकप 2019 का ऐलान होते ही क्रिकेट के इस महारण में भाग लेने वाले सभी देश इंग्लैंड और वेल्स में अपना जोहर दिखाने को बेताब हैं। इस बार के वर्ल्ड कप की खास बात यह है कि इसे राउंड रॉबिन तकनीक से कराया जा रहा है। इसका अभिप्राय है कि वर्ल्ड कप 2019 में ग्रुप ए, ग्रुप बी जैसा कि प्ले ऑफ मैच के लिये पहले होता आया है नहीं होगा और सब टीमों के बीच मैच होंगे। ऐसे में अंक तालिका के शिखर पर जो चार टीम रहेंगी उनके बीच सीधे सेमिफाइनल होगा। अब दस में से वो चार कौनसी टीम रहेंगी जो अंकतालिका में शीर्ष पर बनी रह सकती हैं। वर्ल्ड की प्रबल दावेदार मानी जा रही पांच टीमों का ज्योतिषीय विश्लेषण हम इस लेख में करेंगें लेकिन उससे पहले जानिए कौनसी दस टीम खेल रही हैं इस वर्ल्ड कप 2019।

 

वर्ल्ड कप 2019 की दस टीम

2019 विश्वकप में मेजबान ईंग्लैंड सहित भारत, ऑस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका, न्यूजीलैंड, श्रीलंका, पाकिस्तान, बांग्लादेश, वेस्ट इंडीज़ और अफ़गानिस्तान ये दस टीम अपना दम दिखायेंगी। देखना ये होगा कि इन दस में से कौन किस पर भारी पड़ सकता है। अफगानिस्तान के राशिद व मोहम्मद नबी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बना चुके हैं इसलिये अफगानिस्तान की टीम को हल्के में नहीं लिया जा सकता। बांग्लादेश ने भी कई बार विश्वकप में उलटफेर किए हैं।

 

वर्ल्ड कप 2019 में क्या कहती है कप्तानों की किस्मत?

प्रत्येक टीम अपने आप को वर्ल्ड कप का दावेदार समझती है। मेजबान इंग्लैंड सहित भारत, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिणी अफ्रीका, न्यूजीलैंड की टीम की दावेदारी और भी प्रबल मानी जा रही है। खेल विशेषज्ञ भी इस बार ईंग्लैंड से इतिहास रचने की उम्मीद कर रहे हैं तो भारत की विराट सेना भी अंग्रेंजों की उम्मीदों पर पानी फेरने को बेताब है। कहते हैं कि क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है। खेली जाने वाली हर गेंद मैच का पासा पलटने की क्षमता रखती है ऐसे में किस्मत का साथ मिलना भी टीम के लिये काफी मायने रखता है। एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्य ज्योतिष के नज़रिये बता रहे हैं कि प्रबल दावेदार टीमों के कप्तानों की किस्मत क्या कहती है? 30 मई से विश्वकप का आगाज़ हो रहा है। स्थानीय समय के अनुसार विश्वकप 2019 का आरंभ कर्क लग्न व मीन राशि में हो रहा है, ऐसे में कप्तानों की सूर्य राशि व नाम राशि के अनुसार एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों ने इसका आकलन किया है।

सपष्टीकरण – यह सामान्य ज्योतिषीय आकलन है। ज्योतिषशास्त्र में जन्मकुंडली के अनुसार किये गये आकलन ज्यादा सटीक माने जाते हैं। हमारी सलाह है कि यदि आप किसी तरह की गाइडेंस ज्योतिषी जी से चाहते हैं तो यहां क्लिक करें और हमें 9999091091 पर कॉल करें।

 

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान एरोन फिंच की किस्मत

17 नवंबर 1986 को जन्में एरोन फिंच की सूर्य राशि वृश्चिक (23 अक्तूबर से 21 नवंबर) है। ए वर्ण से इनका नाम शुरु हो रहा है जिससे इनकी नाम राशि मेष बन रही है। दोनों ही राशियों में इनके लिये राशि स्वामी मंगल बनते हैं। विश्वकप की शुरुआत के समय लग्न कुंडली से देखा जाए तो इनके लिये चंद्रमा पंचम भाव में विराजमान हैं जो कि इनके लिये इस विश्वकप में काफी उतार-चढ़ाव के संकेत कर रहे हैं। राशि स्वामी मंगल का राहू के साथ होना इनके लिये अंगारक दोष बना रहा है। कुल मिलाकर ऑस्ट्रेलिया भले ही प्रबल दावेदारों में से एक हो लेकिन उसके लिये विश्वकप 2019 का सफ़र आसान नहीं कहा जा सकता।

 

इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन की किस्मत

मेजबान इंग्लैंड की टीम इस वर्ल्डकप की सबसे श्रेष्ठ टीम मानी जा रही है। यहां तक लगभग विराट कोहली से लेकर लगभग सभी टीम के कप्तान इस बार ईंग्लैंड से कड़ी चुनौति मिलने के संकेत कर रहे हैं। आइये जानते हैं ज्योतिषाचार्य मोर्गन की किस्मत को लेकर क्या कहते हैं?

इयोन मोर्गन की जन्मतिथि 10 सितंबर 1986 है। इस विवरण के अनुसार इनकी सूर्य राशि कन्या (23 अगस्त से 22 सितंबर) बनती है। इ वर्ण से नाम शुरु होने के कारण इनकी नाम राशि मेष है। सूर्य राशि के अनुसार बात करें विश्वकप के शुरु होने के समय की लग्न कुंडली से देखें तो इनके लिये चंद्रमा सप्तम भाव में रहेंगें। राशि स्वामी बुध भाग्य स्थान में सूर्य के साथ बुधादित्य योग भी बना रहे हैं जो कि इनके लिये बहुत ही सौभाग्यशाली कहा जा सकता है। हालांकि कर्मभाव में राहू और मंगल भी बैठे हैं जो कि अंगारक दोष बना रहे हैं इसलिये इंग्लैंड की टीम को ऑवर कोन्फिडेंस से बचने की आवश्यकता रहेगी। वहीं अगर मोर्गन की नाम राशि से देखें तो इनके लिये चंद्रमा 12वां रहेगा जो कि शुभ नहीं कहा जा सकता। वहीं पराक्रम में मंगल राहू कड़ी चुनौतियां मिलने के संकेत कर रहे हैं तो भाग्य में शनि व केतु कुछ साथ जरुर दे सकते हैं।

 

भारत के कप्तान विराट कोहली की किस्मत

विराट कोहली का जन्म 5 नवंबर 1988 को दिल्ली में हुआ। इस विवरण से इनकी सूर्य राशि भी वृश्चिक (23 अक्तूबर से 21 नवंबर) बनती हैं। व या कहें अंग्रेजी के वी वर्ण से नाम शुरु होने से इनकी नाम राशि वृषभ बनती है।

सूर्य राशि के अनुसार विराट के हालात फिंच से मेल खाते लग रहे हैं लेकिन इनकी नाम राशि से परिस्थितियां थोड़ी भिन्न हैं। वृषभ राशि से चंद्रमा लाभ स्थान में विराजमान हैं। वृषभ राशि में ही बुधादित्य योग भी बन रहा है। राशि स्वामी शुक्र 12वें स्थान में मौजूद हैं। कुल मिलाकर यह संयोग विराट कोहली के लिये अच्छे लाभ के संकेत कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें -  विश्वकप 2019 में भारत के मैच कब व किसके साथ होंगे     |   वर्ल्ड कप  2019 शेड्यूल

 

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फैफ डु प्लेसिस की किस्मत

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फैफ डु प्लेसिस का जन्म 13 जुलाई 1984 को हुआ है। इनकी सूर्य राशि कर्क (21 जून से 22 जुलाई) बनती है। अंग्रेजी के एफ और हिंदी के फ वर्ण से नाम की शुरुआत होने से इनकी नाम राशि धनु बनती है।

विश्वकप आरंभ होने के समय व स्थानानुसार बनी लग्न कुंडली से इनकी सूर्य राशि के स्वामी स्वयं चंद्रमा हैं जो राशि से भाग्य स्थान में मौजूद हैं। कर्क लग्न में ही विश्वकप की शुरुआत भी हो रही है। इसका लाभ इन्हें मिल सकता है। लाभ स्थान में बुधादित्य योग भी इनके लिये बन रहा है। नाम राशि धनु से चंद्रमा चौथे स्थान पर हैं। लेकिन पराक्रम में केतु और शनि के होने व प्रतिस्पर्धा के स्थान यानि छठे भाव में सूर्य बुध की युति इनके लिये थोड़ी चिंताजनक रह सकती है।

 

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन की किस्मत

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन की जन्मतिथि 8 अगस्त 1990 है, जिसके अनुसार इनकी सूर्य राशि सिंह (23 जुलाई से 22 अगस्त) है। क वर्ण से नाम की शुरुआत हो रही है जिससे इनकी नाम राशि मिथुन बनती है।

सूर्य राशि से देखा जाए तो इनके लिये चंद्रमा अष्टम भाव में रहेंगें वहीं लाभ स्थान में राहू और मंगल का अंगारक दोष बन रहा है लेकिन कर्म भाव में सूर्य व बुध बुधादित्य योग भी बना रहे हैं। इससे इनके लिये मिलेजुले परिणाम मिलने के संकेत हैं। नाम राशि से देखें तो इनकी राशि में ही राहू व मंगल अंगारक दोष बना रहे हैं। 12वें स्थान में बुधादित्य योग बन रहा है तो कर्मेश भी इनके लिये छठे स्थान में वक्री चल रहे हैं। 10वां चंद्रमा भी सामान्य रहने के संकेत कर रहा है कुल मिलाकर न्यूजीलैंड के लिये यह विश्वकप काफी चुनौतिपूर्ण दिखाई दे रहा है।

कुल मिलाकर इंग्लैंड, भारत, साउथ अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया अंतिम चार टीमें रह सकती हैं। फिर भी चूंकि टीम में 11 खिलाड़ी खेलते हैं और किस खिलाड़ी के भाग्य का उदय कब हो जाए कुछ कहा नहीं जा सकता और अनिश्चितता के इस खेल में निश्चित तौर पर कुछ कहना बहुत मुश्किल है। लेकिन एस्ट्रोयोगी पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स हैं। आईपीएल 2019 में भी एस्ट्रोयोगी एस्ट्रोलॉजर्स की प्रेडिक्शन बहुत सटीक रही हैं। उम्मीद करते हैं कि विश्वकप को लेकर भी हमारा अनुमान सत्य के करीब हो। बहरहाल यदि आप अपनी पर्सनल लाइफ, करियर, प्यार, विवाह आदि किसी भी तरह की प्रोब्लम को लेकर ज्योतिषाचार्यों से गाइडेंस ले सकते हैं। अभी परामर्श लेने के लिये यहां क्लिक करें और हमें 9999091091 पर कॉल करें।

 

एस्ट्रो लेख

शुक्र का सिंह र...

ऊर्जा व कला के कारक शुक्र माने जाते हैं। शुक्र जातक के किस भाव में बैठे हैं यह बहुत मायने रखता है। शुक्र के हर परिवर्तन के साथ जातक की कुंडली में शुक्र की स्थिति में भी बदलाव आता ह...

और पढ़ें ➜

विदेश जाने का य...

क्या आपको पता है कि आपके विदेश जाने राज आपके हथेली में छुपा है? क्या आप इस बात को मानते है कि हमारे हथेलियों की लकीर में छिपा है हमारे किस्मत का राज? यदि जवाब हां में है तो ठीक यदि...

और पढ़ें ➜

भाद्रपद - भादों...

हिन्दू पंचांग के अनुसार साल के छठे महीने को भाद्रपद अथवा भादों का महीना कहा जाता है। ये श्रावण माह के बाद और आश्विन माह से पहले आता है। सावन शंकर का महीना है तो भादों श्रीकृष्ण का ...

और पढ़ें ➜

भाई की सुख समृद...

हिंदू धर्म में कई तरह के रीति-रिवाज और परंपराएं विद्यमान है। दुनियाभर में भारत को त्योहारों का देश कहा जाता है, यहां आए दिन कोई न कोई पर्व मनाया जाता है। वहीं किसी भी तीज-त्योहार क...

और पढ़ें ➜