Skip Navigation Links
बुध राशि परिवर्तन – धनु से मकर में बुध किसके लिये शुभ?


बुध राशि परिवर्तन – धनु से मकर में बुध किसके लिये शुभ?

बुध की चाल में होने वाले परिवर्तन ज्योतिषशास्त्र  में बहुत अहमियत रखते हैं। 2018 में बुध का राशि परिवर्तन 6 जनवरी को धनु राशि में हुआ था 28 जनवरी को बुध फिर से अपनी राशि बदल रहे हैं। बुध इस समय धनु राशि से मकर में प्रवेश करेंगें जहां वे 14 फरवरी तक बने रहेंगें। इस समय बुध शुक्र व सूर्य के साथ होंगे। बुध व सूर्य की युति बहुत ही शुभ मानी जाती है। ऐसे में सभी 12 राशियों पर बुध के इस परिवर्तन का क्या प्रभाव पड़ेगा आइये जानते हैं?

मेष

मेष राशि से बुध का परिवर्तन दसवें स्थान में हो रहा है। कर्मभाव में बुध का गोचर आपके व्यावसायिक जीवन के लिये काफी अच्छा कहा जा सकता है। आप अपने कार्यों अपनी परियोजनाओं को लेकर काफी उत्साहित रह सकते हैं। रोमांटिक जीवन भी शानदार रहने के आसार हैं। साथी के साथ आनंदित लम्हों का लुत्फ़ उठा सकते हैं। दोस्तों का भी आपको पूरा सहयोग मिल सकता है।

वृषभ

आपकी राशि से बुध भाग्य स्थान में प्रवेश करेंगें। नवम भाव में बुध के प्रभाव से आपको ध्यान एकाग्र करने में परेशानी हो सकती है। सुस्ती का आलम भी आप पर हावि हो सकता है। हालांकि स्वास्थ्य के नज़रिये आप भले चंगे रहेंगें लेकिन मन चंचल रहेगा। संपत्ति संबंधी मामले में कानूनी पचड़े में पड़ सकते हैं। कुल मिलाकर सूझ बूझ के साथ कदम बढ़ाएगें तो बेहतर रहेगा।

मिथुन

आपकी राशि से अष्टम भाव में राशि स्वामी प्रवेश कर रहे हैं। अष्टम भाव में सूर्य व शुक्र पहले से ही गोचररत हैं। बुध के प्रभाव से इस समय आपके लिये अप्रत्याशित धन लाभ के योग बन रहे हैं। हालांकि स्वास्थ्य को लेकर आपको थोड़ा सचेत रहने की आवश्यकता है। सामाजिक तौर पर आपके संबंध बेहतर रहने की उम्मीद कर सकते हैं। कार्यस्थल पर अपने प्रतिद्वंदियों को मात देने में कामयाब हो सकते हैं। कुल मिलाकर इस समय आपको अपने कार्यों में सफलता मिलने के पूरे पूरे आसार हैं।

कर्क

आपकी राशि से बुध का परिवर्तन सप्तम भाव में हो रहा है। इस समय दांपत्य जीवन में थोड़ा संभलकर रहने की आवश्यकता है। यदि किसी के साथ विवाहेतर संबंध में हैं तो आपका भांडा फूटने के पूरे पूरे चांस हैं। अपने स्वास्थ्य का भी आपको ध्यान रखने की आवश्यकता है। यदि बहुत जरुरी न हो तो यात्रा करने से बचने का प्रयास करें।

सिंह

सिंह राशि वालों के लिये बुध छठे घर में दाखिल हो रहे हैं जो कि आपके लिये रोग व शत्रु का घर है। छठे घर में सूर्य के साथ बुध का होना आपके स्वास्थ्य के बेहतर होने की ओर ईशारा कर रहा है। साथ ही इस समय आप अपने प्रतिद्वंदियों पर हावि रह सकते हैं। शत्रुओं पर भी आपको विजय प्राप्त हो सकती है। नाम व प्रसिद्धि पाने के लिये भी यह समय अच्छा रहेगा। विशेषकर कलाक्षेत्र से जुड़े जातकों के लिये बहुत ही सौभाग्यशाली समय रह सकता है। व्यक्तिगत जीवन भी आनंददायी रहने के आसार हैं।

कन्या

बुध आपकी राशि के स्वामी हैं जो आपकी राशि से पंचम भाव में प्रवेश कर रहे हैं। विद्या, संतान, व संबंधों को लेकर समय ठीक रहेगा हालांकि थोड़ी चिंता अवश्य बनी रहेगी। लेकिन व्यावसायिक जीवन में आपको सचेत रहने की आवश्यकता रहेगी। इस समय व्यावसायिक एवं सामाजिक तौर पर आपकी प्रतिष्ठा में कमी आ सकती है। किसी नई योजना बनाने अथवा नई नौकरी के लिये प्रयास करने के लिहाज से समय उचित नहीं है आपको असफलता हाथ लग सकती है। इस समय एकाग्रता की समस्या से भी आपको झूझना पड़ सकता है। संभव है यह आपके तनाव का कारण भी बने। स्वास्थ्य का भी ध्यान रखें।

तुला

तुला राशि वालों के लिये बुध सुख भाव में परिवर्तन कर रहे हैं। माता के लिये यह समय बहुत ही सुखदायक रह सकता है। दोस्ती के दायरे में इजाफा हो सकता है और कुछ बहुत ही अच्छे व नये दोस्तों से आप जुड़ सकते हैं। यदि लंबे समय से कोई वाहन खरीदने की योजना बना रहे हैं तो यह समय इसके लिये बहुत ही सही साबित होने वाला है। यात्रा के भी लाभकारी योग आपके लिये बन रहे हैं। परिवार में बड़े बुजूर्गों का पूरा सहयोग आपको प्राप्त हो सकता है। पैतृक संपत्ति से भी लाभ प्राप्ति की उम्मीद कर सकते हैं।

वृश्चिक

आपकी राशि से बुध का प्रवेश पराक्रम क्षेत्र यानि तीसरे स्थान में हो रहा है। यह समय आपके लिये वित्तीय रूप से थोड़ा परेशानी वाला रह सकता है। व्यवसायी जातकों को जोखिम वाले क्षेत्र में धन निवेश करने से बचने की आवश्यकता रहेगी। परिजनों व सगे संबंधियों से किसी बात को लेकर विवाद बढ़ सकता है अपनी वाणी में संयम रखने का प्रयास करें। यात्रा भी फिलहाल स्थगित रखें तो बेहतर रहेगा। तमाम परिस्थितियों में जीवनसाथी का सहयोग आपकी हिम्मत को बढ़ा सकता है।

धनु

बुध का परिवर्तन आपकी ही राशि से हो रहा है। धन भाव में बुध का आना आपके लिये लाभकारी रहने के आसार हैं। इस समय आपके जहन में नये-नये विचार उत्पन्न हो सकते हैं। रचनात्मक क्षेत्रों विशेषकर लेखन के क्षेत्र से जुड़े जातकों के लिये यह समय लाभकारी रह सकता है।

मकर

मकर राशि में ही बुध का प्रवेश हो रहा है। बुध के प्रभाव से आध्यात्मिकता से आप थोड़ा विमुख हो सकते हैं। इस समय आप अपनी एक काल्पनिक दुनिया में रह सकते हैं यानि आप खयालों में खोये रह सकते हैं। आपके लिये सलाह है कि यदि अपने सपनों को साकार करना चाहते हैं तो काल्पनिक दुनिया से बाहर निकलकर जमीनी तौर पर कड़ी मेहनत करें। रोमांटिक जीवन सामान्य बने रहने की उम्मीद कर सकते हैं। स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा।

कुंभ

आपकी राशि से 12वें स्थान में बुध का परिवर्तन हो रहा है। व्यय भाव में बुध आपके खर्चों में बढ़ोतरी के संकेत कर रहे हैं। इस समय अपने आत्मविश्वास में भी कमी महसूस कर सकते हैं साथ ही सुस्ती का आलम भी आप पर हावि हो सकता है। व्यक्तिगत जीवन के लिये यह समय अच्छा नहीं कहा जा सकता। रोमांटिक जीवन भी आपको नीरस लग सकता है। स्वास्थ्य का भी ध्यान रखने की आवश्यकता आपको रहेगी। कार्यस्थल पर भी सचेत रहें, व्यक्तिगत से लेकर व्यावसायिक जीवन में आपकी प्रतिष्ठा को ठेस पंहुच सकती है।

मीन

आपकी राशि से लाभ घर में बुध आ रहे हैं। व्यक्तिगत जीवन के लिये बुध का यह परिवर्तन अच्छा कहा जा सकता है। परिस्थितियां आपके अनुकूल रहने की उम्मीद कर सकते हैं। नई दोस्ती की शुरुआत करने विशेषकर रोमांटिक जीवन में एक नई शुरुआत करने के लिये अच्छा समय हो सकता है। कामकाजी जीवन में भी कार्योन्नति की संभावनाएं हैं। यदि नौकरी में परिवर्तन करने का विचार बना रहे हैं तो कोई बेहतर अवसर भी आपको सुलभ हो सकता है।

यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन पर आधारित है। अपनी कुंडली के अनुसार बुध का प्रभाव जानने के लिये एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों से परामर्श करें। पंडित जी से अभी बात करने के लिये यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें

ग्रह गोचर 2018   |   बुध कैसे बने चंद्रमा के पुत्र ? पढ़ें पौराणिक कथा




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

शुक्र मार्गी - शुक्र की बदल रही है चाल! क्या होगा हाल? जानिए राशिफल

शुक्र मार्गी - शुक...

शुक्र ग्रह वर्तमान में अपनी ही राशि तुला में चल रहे हैं। 1 सितंबर को शुक्र ने तुला राशि में प्रवेश किया था व 6 अक्तूबर को शुक्र की चाल उल्टी हो गई थी यानि शुक्र वक्र...

और पढ़ें...
वृश्चिक सक्रांति - सूर्य, गुरु व बुध का साथ! कैसे रहेंगें हालात जानिए राशिफल?

वृश्चिक सक्रांति -...

16 नवंबर को ज्योतिष के नज़रिये से ग्रहों की चाल में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव हो रहे हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ग्रहों की चाल मानव जीवन पर व्यापक प्रभाव डालती है। इस द...

और पढ़ें...
कार्तिक पूर्णिमा – बहुत खास है यह पूर्णिमा!

कार्तिक पूर्णिमा –...

हिंदू पंचांग मास में कार्तिक माह का विशेष महत्व होता है। कृष्ण पक्ष में जहां धनतेरस से लेकर दीपावली जैसे महापर्व आते हैं तो शुक्ल पक्ष में भी गोवर्धन पूजा, भैया दूज ...

और पढ़ें...
गोपाष्टमी 2018 – गो पूजन का एक पवित्र दिन

गोपाष्टमी 2018 – ग...

गोपाष्टमी,  ब्रज  में भारतीय संस्कृति  का एक प्रमुख पर्व है।  गायों  की रक्षा करने के कारण भगवान श्री कृष्ण जी का अतिप्रिय नाम 'गोविन्द' पड़ा। कार्तिक शुक्ल ...

और पढ़ें...
देवोत्थान एकादशी 2018 - देवोत्थान एकादशी व्रत पूजा विधि व मुहूर्त

देवोत्थान एकादशी 2...

देवशयनी एकादशी के बाद भगवान श्री हरि यानि की विष्णु जी चार मास के लिये सो जाते हैं ऐसे में जिस दिन वे अपनी निद्रा से जागते हैं तो वह दिन अपने आप में ही भाग्यशाली हो ...

और पढ़ें...