Skip Navigation Links
आपकी राशि और नापसंद बातें


आपकी राशि और नापसंद बातें

हर राशि के व्यक्ति को किसी न किसी की कोई न कोई बात नापसंद होती है| यह इंसान की फितरत है इसलिए इसे नकारा नहीं जा सकता| तो आइये ज्योतिष विद्या के जरिये जानते है कि हर किस्म के व्यक्ति को ऐसी कौन-कौन सी बातें हैं जो बिलकुल पसंद नहीं होती|


मेष (21 मार्च - 19 अप्रैल)
मेष राशि के व्यक्तियों को ये बिलकुल भी पसंद नहीं कि उनके सामने कोई भी व्यक्ति चलते समय अपने पैर घसीट-घसीट कर चलें या कोई उनके फोन कॉल्स का जवाब न दें या वापस कॉल न करें| इन्हें ऐसे लोग भी कतई पसंद नहीं है जो बातचीत करते हुए सीधे मुद्दे पर नहीं आते या फिर जो लोग अपने पहनावे का खास ख़याल नहीं रखते|

वृषभ (20 अप्रैल - 20 मई)
इवृषभ राशि के व्यक्ति ऐसे लोगो का सामना नहीं कर सकते जो अपनी शेखी बखारने में विश्वास रखते हैं| साफ़-सफ़ाई का खास ख़याल रखने वाले वृषभ राशि वाले गंदगी बर्दाश्त नहीं कर सकते ना ही अस्त व्यवस्था पसंद होती है| कोई इनके साथ भद्दा मज़ाक करें तो उस व्यक्ति की खैर नहीं|

मिथुन (21 मई - 20 जून)
मिथुन राशि हंसमुख मिजाज़ के होते है इसलिए इन्हें ऐसे व्यक्ति पसंद नहीं है जो ना मज़ाक करते है और ना ही समझते है| धीमी गति से काम करने वाले व्यक्ति मिथुन राशि वालों को बिलकुल नहीं भाते फिर चाहे उनकी चलने की रफ़्तार धीमी हो या बोलने की| नकारात्मक सोच के व्यक्तियों से इन्हें दूरी बनाना सही लगता है|

कर्क (21 जून - 22 जुलाई)
कर्क राशि के व्यक्तियों का ना अधिक गर्मी बर्दाश्त है ना ही गरम मिजाज़ के लोग| जिन व्यक्तियों का पहनावा आकर्षक नहीं होता वे कर्क राशि वालों की आँखों को खटकते हैं| इन्हें आकर्षण का केंद्र बना रहना पसंद है इसलिए अगर कोई दूसरा इनसे अधिक लोकप्रिय होता है तो इन्हें अच्छा नहीं लगता|

सिंह (23 जुलाई - 22 अगस्त)
सिंह राशि के व्यक्तियों को रोक-टोक पसंद नहीं होती, इसलिए अगर कोई उनसे कहें कि यह मत करो या वो मत करो, तो सिंह राशि वालों की परेशानियाँ बढ़ने लगती है| अगर बाहर का मौसम अच्छा और सुहाना हो तो सिंह राशि के व्यक्ति घर में बैठना पसंद नहीं करते|

कन्या (23 अगस्त - 22 सितंबर)
कन्या राशि के व्यक्ति ऐसे लोगों का साथ पसंद नहीं करते है जो समय बर्बाद करते है| या फिर बिना किसी ठोस कारण के कारण कोई फालतू काम करने में लगे रहते है| गाली-गलौच वालें लोगों से तो कन्या राशि के व्यक्तिगण दूर ही रहते हैं|

तुला (23 सितंबर - 22 अक्टूबर)
तुला राशि वालों को अव्यवस्थित लोग नापसंद होते है| और इन्हें ऐसे माता-पिता या अभिभावक पसंद नहीं है जो अपने बच्चों या छोटों को अनुशाशन की बेड़ियों में बांधने की कोशिश करते है| उन्हें ना ही ऐसे व्यक्ति पसंद होते है जो समाज में गंदगी फैलाते है|

वृशिचक (23 अक्टूबर - 21 नवंबर)
वृश्चिक राशि के व्यक्तियों को किसी भी अफवाह का हिस्सा बनना बिलकुल पसंद नहीं होता हैं| और अगर कोई इनकी वफादारी पर शक करे तो मुमकिन है कि इनका खून खौल उठे, फिर चाहे ये वफादार हों या ना हों| वृश्चिक राशि वालों को ऐसे व्यक्तियों से भी नफरत है जो दूसरों से कोई भी सामान लेते हैं और उसे वापस करना भूल जाते हैं|

धनु (22 नवंबर - 21 दिसंबर)
धनु राशि के व्यक्तियों को हर बात पर शिकायत करने वालें लोग एक आँख नहीं भाते| इन्हें ऐसे लोग भी पसंद नहीं है जो कोई भी जोखिम लेने से कतराते हैं| कोई इन्हें कंजूस कहें, तो ये उस इंसान से नाता तोड़ने में ज्यादा वक्त नहीं गवाएंगे|

मकर (22 दिसंबर - 19 जनवरी)
मकर राशि वालों को ना ही ऐसे लोग पसंद है जो अधिक पैसा खर्च करते है, ना ही वो लोग जो उधार मांगते है| फिर अगर कोई उन्हें उधार माँगा हुआ पैसा ज़रूरत पड़ने पर वापस ना दे तो ये अपना आपा खो सकते है| इस राशि के माता-पिता अपने बच्चों को छूट देना पसंद नहीं करते|

कुंभ (20 जनवरी - 18 फरवरी) 
कुम्भ राशि के व्यक्ति ऐसे लोगों से दूर ही भागते है जो हर बात पर अपना बीता हुआ कल सामने ले आते है| किसी कबाब के बीच की हड्डी बनने से भी कुम्भ राशि वालें बचे रहते है| जो लोग वास्तविकता से दूर रहते है वो कुम्भ राशि वालों से भी दूर रहते हैं|

मीन (19 फरवरी - 20 मार्च)
मीन राशि वालो को गरम जगह नापसंद होती है| अगर ये किसी वाद-विवाद में है तो ये नहीं चाहेंगें कि कोई भी व्यक्ति उस विवाद को बीच में ही छोड़ कर जाएँ| मामूली सी बात पर भी जोर-जोर से हँसने वाले व्यक्ति मीन राशि वालों को पसंद नहीं होते हैं|




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

सूर्य ग्रहण 2017 जानें राशिनुसार क्या पड़ेगा प्रभाव

सूर्य ग्रहण 2017 ज...

26 फरवरी को वर्ष 2017 का पहला सूर्यग्रहण लगेगा। सूर्य और चंद्र ग्रहण दोनों ही शुभ कार्यों के लिये अशुभ माने जाते हैं। पहला सूर्यग्रहण हालांकि...

और पढ़ें...
सूर्य ग्रहण 2017

सूर्य ग्रहण 2017

ग्रहण इस शब्द में ही नकारात्मकता झलकती है। एक प्रकार के संकट का आभास होता है, लगता है जैसे कुछ अनिष्ट होगा। ग्रहण एक खगोलीय घटना मात्र नहीं ह...

और पढ़ें...
गुरु चाण्डाल दोष – कैसे बनता है गुरु चांडाल योग व क्या हैं उपाय

गुरु चाण्डाल दोष –...

ज्योतिषशास्त्र कुंडली के अनुसार हमारे भविष्य का पूर्वानुमान लगाता है। इसके लिये ज्योतिषशास्त्री अध्ययन करते हैं ग्रहों की दशाओं का। इन दशाओं ...

और पढ़ें...
धन प्राप्ति के लिये श्री कृष्ण के आठ चमत्कारी मंत्र

धन प्राप्ति के लिय...

भगवान श्री कृष्ण की अपने भक्तों पर विशेष अनुंकपा होती है। वे सखा के रूप में सुदामा का उद्धार करते हैं तो अर्जुन के सारथी बन उन्हें कर्तव्य पा...

और पढ़ें...
आपके माथे पर लिखा है आपका भाग्य, बताती हैं रेखाएं

आपके माथे पर लिखा ...

क्या आपने कभी महसूस किया है कि पहली बार में आप जिस शख्स को देखते हैं और जो धारणा उस समय बनाते हैं आगे चलकर वह उस पर खरा नहीं उतरता। या फिर कई...

और पढ़ें...