Skip Navigation Links

आपका दैनिक राशिफल

अपनी राशि चुनें
panchang

पँचांग

पँचांग सनातन समाज (हिन्दू) द्वारा वैदिककाल से मान्यता प्राप्त एक कैलेंडर है। इसके माध्यम से हम शुभ-अशुभ दिन, समय, महूर्त या व्रत-श्राद, नक्षत्र, करण आदि चीजों की सही एवं सटीक जानकारी प्राप्त करते हैं। यह पँचांग सूर्य और लूनी सोलर कैलेंडर, दोनों पर आधारित होता है।

calender
tarot

निशुल्क प्रणय मिलाप रिपोर्ट

ज्योतिष से फ़ोन पर तुरंत बात करे

बेस्ट सेलर्स

अन्य एस्ट्रो लेख

कुंडली में संतान योग

कुंडली में संतान योग

जिस तरह विवाह के बिना किसी भी व्यक्ति का जीवन अधूरा माना जाता है उसी प्रकार संतान के बिना भी परिवार को अधूरा ही माना जाता है। बच्चों की किलकारियों से घर के आंगन में जीवन जीवंत हो उठता है। अक्सर देखा जाता है कि विवाह के तुरंत बाद नव दंपति संतान के लिये योजन...

और पढ़ें...
अक्षय तृतीया

अक्षय तृतीया

हर वर्ष वैसाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि में जब सूर्य और चन्द्रमा अपने उच्च प्रभाव में होते हैं, और जब उनका तेज सर्वोच्च होता है, उस तिथि को हिन्दू पंचांग के अनुसार अत्यंत शुभ माना जाता है| और इस शुभ तिथि को कहा जाता है ‘अक्षय तृतीया` अथवा ‘आखा तीज`|...

और पढ़ें...
करणी माता मंदिर - यहां मूषक हैं माता की संतान

करणी माता मंदिर - यहां मूषक हैं माता की संतान

वैसे तो मूषक गणेश जी की सवारी हैं जिसके कारण हम इनमें अपनी श्रद्धा जता सकते हैं। लेकिन आमतौर पर घर से लेकर खेत तक में चूहों द्वारा किए उत्पात से परेशान लोग चूहों को अशुभ ही मानते हैं। यहां तक कि प्लेग जैसी भंयकर बिमारी फैलने का कारण भी चूहे ही बताये गये थे...

और पढ़ें...