Skip Navigation Links
दिवाली बड़ा बचत पैक


दिवाली बड़ा बचत पैक

इस दीपावली के शुभ अवसर पर क्यों न अपने प्रियजनों को ऍस्ट्रोयोगी डॉट कॉम के बड़े बचत पैक के रूप में खुशहाली एवं सकुशलता के यंत्र उपहार में देकर उन्हें आश्चर्यचकित व भावभिवोर कर दें।!

हमारे पराद लक्ष्मी-गणेश और सम्पूर्ण महालक्ष्मी यंत्र आपके जीवन को धन-धान्य एवं खुशहाली से सम्पन्न कर देंगे साथ ही आपकी सफलता के रास्ते से सभी प्रकार की बाधाओँ का अन्त करके आपके सौभाग्य को जगा देंगे। ये सभी मंगलकारी उत्पाद हमारे ही ज्योतिषाचार्यों द्वारा अभिमन्त्रित किए जाते हैं। इससे अधिक प्रसन्नता की बात क्या होगी कि दिवाली के शुभ अवसर पर आप इन की खरीदारी पर भारी छुट पा रहे हैं!


उत्पाद:
पराद (पारा) एक दैविक पदार्थ है। पराद से बनाई गई चीजों में बेहद चमत्कारिक गुण होते हैं। पारे से बनीं देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश आपको धन-संपत्ति तथा व्यापार एवं धंधे में सफलता प्रदान करते हैं और आपके जीवन को बाधाओं एवं समस्याओं से मुक्त करते हैं।

बड़ा बचत पैक दिवाली के अवसर पर इस विशेष बड़े बचत पैक में आप तीन प्रकार की सामग्री पाएंगे जिनका ब्यौर इस तरह है:

पराद गणेश:माना जाता है कि भगवान गणेश प्राणीमात्र के जीवन से बाधाओं को हरते हैं और आपके जीवन के सभी कार्यों में सफलता प्रदान करते हैं इसीलिए तो इन्हें विघ्नहर्ता भी कहा जाता है। सभी प्रकार के हवन-पूजन एवं पुण्य संस्कारों में विघ्नहर्ता गणेश का ही सर्वप्रथम आहवाहन किया जाता है। इनका पूजन सिद्धि (कार्यों में सफलता) तथा बुद्धि (विलक्ष्णता) की प्राप्ति के लिए किया जाता है। किसी भी प्रकार के शुभ कार्य को करने से पहले गणपति जी की ही पूजा की जाती है। वे विधा, ज्ञान, बुद्धि, साहित्य एवं ललित कलाओँ के भी अधिदेव हैं। भगवान गणेश के पूजन से आपके जीवन में सम्पूर्णता एवं संतुलन की वृद्धि होगी।

गणेश मन्त्र – “ओम श्री गणेशाय नमः ओम” (गणेश पूजन के समय इसी मन्त्र का जाप करें)

पराद लक्ष्मी:
लक्ष्मी जी हर प्रकार की धन-संपत्ति, समृद्धि एवं खुशहाली की देवी हैं फिर चाहे यह भौतिक हो अथवा अध्यात्मिक। लक्ष्मी जी एक सुन्दर कलम पर विराजमान हैं तथा समृद्धि एवं धन-धान्यता का प्रतीक हैं। अपने जीवन से धन-संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए लक्ष्मी जी का नित्य पूजन करें। यदि आप किसी कानूनी झगड़े अथवा संपत्ति विवाद में उलझे हैं तो पराद लक्ष्मी जी के पूजन से आपको शीघ्र ही इन समस्याओँ से राहत मिलेगी।

लक्ष्मी मन्त्र – “ओम श्री महालक्ष्मेए नमः” अथवा “ओम श्रीन् ह्रीन् श्रीन् कमले कमलाए प्रसीद् प्रसीद् श्रीन् ह्रीन् श्रीन् महालक्ष्मे नमः” (लक्ष्मी पूजन के समय इसी मन्त्र का जाप करें)

सम्पूर्ण महालक्ष्मी यंत्र:
महालक्ष्मी यंत्र धन-संपत्ति, वैभव एवं सुख-सुविधाओँ की प्राप्ति के लिए बहुत ही शुभ यंत्र है। यह यंत्र दिवाली पूजन के पश्चात आपके गल्ले, अलमारी, बटुए या पर्स अथवा घर के मन्दिर में भी रखा जा सकता है। महालक्ष्मी यंत्र को ताँबे के पत्तर पर 24 कैरेट सोने की नक्काशी से जड़कर बनाया गया है। ध्यान रहे कि जब भी आप महालक्ष्मी यंत्र का पूजन करें तो शांतचित्त एवं दृढ़ होकर ही करें। महालक्ष्मी यंत्र के नित्य-पूजन तथा मन्त्रोच्चारण से सफलता तथा सम्पन्नता की निश्चित प्राप्ति होती है।

यह यन्त्र  24 कैरेट सोने की नक्काशी  नक्काशी से शुद्ध ताँबे के पत्तर पर जड़ित है।

इन सभी शक्तिशाली तथा अतिमंगलकारी वस्तुओं के पैक की वास्तविक कीमत 2600/- रुपये है किन्तु दिवाली के पावन अवसर पर विशेष छुट के चलते आप इन सभी मंगलकारी वस्तुओं को मात्र 2100/- रुपये में पा सकते हैं। ध्यान दें – यह विशेष दिवाली प्रस्ताव केवल 21 अक्तूबर 2009 तक के ऑर्डरों पर ही मान्य है।







एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

महाशिवरात्रि - देवों के देव महादेव की आराधना पर्व

महाशिवरात्रि - देव...

देवों के देव महादेव भगवान शिव-शंभू, भोलेनाथ शंकर की आराधना, उपासना का त्यौहार है महाशिवरात्रि। वैसे तो पूरे साल शिवरात्रि का त्यौहार दो बार आ...

और पढ़ें...
शिव मंदिर – भारत के प्रसिद्ध शिवालय

शिव मंदिर – भारत क...

सावन का महीना आ चुका है और इस पावन महीने में भगवान शिव की आराधना करने का पुण्य बहुत अधिक मिलता है। शिवभक्तों के लिये तो यह महीना बहुत खास होत...

और पढ़ें...
सूर्य ग्रहण 2017 जानें राशिनुसार क्या पड़ेगा प्रभाव

सूर्य ग्रहण 2017 ज...

26 फरवरी को वर्ष 2017 का पहला सूर्यग्रहण लगेगा। सूर्य और चंद्र ग्रहण दोनों ही शुभ कार्यों के लिये अशुभ माने जाते हैं। पहला सूर्यग्रहण हालांकि...

और पढ़ें...
नटराज – सृष्टि के पहले नर्तक भगवान शिव

नटराज – सृष्टि के ...

भगवान भोलेनाथ, शिव, शंकर, अर्ध नारीश्वर, हरिहर, हर, महादेव आदि अनेक नाम भगवान शिव के हैं। त्रिदेवों में सबसे लोकप्रिय भगवान शिव ही माने जाते ...

और पढ़ें...
सूर्य ग्रहण 2017

सूर्य ग्रहण 2017

ग्रहण इस शब्द में ही नकारात्मकता झलकती है। एक प्रकार के संकट का आभास होता है, लगता है जैसे कुछ अनिष्ट होगा। ग्रहण एक खगोलीय घटना मात्र नहीं ह...

और पढ़ें...