Skip Navigation Links
मासिक राशिफल माह जनवरी 2014 एवं मास के व्रत, पर्व एवम त्यौहार


मासिक राशिफल माह जनवरी 2014 एवं मास के व्रत, पर्व एवम त्यौहार

जनवरी मास के व्रत, पर्व एवम त्यौहार:-
1 जनवरी: नववर्ष 2014 (र्इ0), देवपितृ कार्य अमावस्या, 4 जनवरी: गणेश चतुर्थी व्रत, 5 जनवरी : गुरु गोविन्द सिंह जयन्ती, 8 जनवरी: दुर्गाष्टमी, 10 जनवरी: शाम्ब दशमी, 11 जनवरी: पुत्रदा एकादशी व्रत, 12 जनवरी: स्वामी विवेकानन्द जयंती, 13 जनवरी: प्रदोष व्रत, लोहड़ी पर्व, 14 जनवरी: मकर संक्रांति (माघ मास प्रारम्भ), 15 जनवरी: पूर्णिमा व्रत (माघ स्नान प्रारम्भ), 19 जनवरी: संकष्ट चर्तुथी व्रत, 24 जनवरी: दुर्गाष्टमी, कालाष्टमी, 26 जनवरी: भारतीय गणतंत्र दिवस (65वाँ), 27 जनवरी: एकादशी व्रत, 28 जनवरी: प्रदोष व्रत, 29 जनवरी: मास शिवरात्री, 30 जनवरी: मौनी अमावस्या, देवपितृ कार्य अमावस्या, 31 जनवरी: गुप्त नवरात्री प्रारम्भ।


मासिक राशिफल माह जनवरी 2014 :-

मेष (Aries) चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ ।
नववर्ष का पहला माह जनवरी कुछ शुरुआती परेशानी लेकर आयेगा, किन्तु जल्दी ही परिस्तिथिया सामान्य हो जायेंगी। मास में हानि एवं लाभ बना रहेगा। परिवार का पूर्ण सहयोग व सान्निध्य मिलेगा। विधार्थियों को प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता मिलेगी। कार्य व्यवसाय में व्यवधान आयेंगे। भूमि भवन का लाभ होगा। कार्य क्षेत्र में अधिक मेहनत की आवश्यकता पड़ेगी। ऋण लेने की स्तिथिया उत्पन्न होंगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखे। शीत प्रकृति के रोग, बदन दर्द, कमर दर्द परेशान करेगा। जनवरी माह की 3, 12, 21 एवम 30 तारीखे नेष्ट फलदायक है, अत: सावधान रहना चाहिए। आप निरन्तर विष्णु भगवान की अराधना करें एवं ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय का नित्य जप करें।

वृषभ (Taurus) उ, ई, ऐ, ओ, बा, बी, बे, बो। 
इस माह कार्य क्षेत्र में कोर्इ महत्वपूर्ण कार्य पूर्ण होगा। समाज में मान प्रतिष्ठा बढ़ेगी। नवीन कार्य व्यवसाय स्थापित होगा। नजदीकी रिश्तों में अनावश्यक कड़वाहट आयेंगी। भूमि-भवन की प्राप्ति के योग। उच्चाधिकारियों की अनुकम्पा प्राप्त होगी। वाहनादि के प्रयोग में सावधानी बरतें। मासांत में आय के नये स्त्रोत विकसित होगी। जीवन साथी के स्वास्थ्य के कारण चिंतित रहेंगे। संतान से सुखद समाचार मिलेगा। यात्राओं की अधिकता रहेगीं। स्वास्थ्य नरम रहेगा। उदर विकार, सर्दी जुखाम रहेगा। मास की 1, 9, 18, 26 एवम 28 तारीखें नेष्ट फलदायक हैं, अत: सावधान रहना चाहिए। आप गणेश जी की अराधना करें एवम ऊँ गं गणपतये नम: का नित्य जप करें।

मिथुन (Gemini) क, की, कू, घ, ड, छ, के, को, हा।
इस माह नवीन कार्य व्यवसाय की योजनाएं बनेंगी। मांगलिक कार्यो में व्यय होगा। निकट सम्बन्धियों से विवाद की स्तिथिया आयेंगी। उत्तरार्द्ध में कार्य व्यवसाय में परेशानियाँ आयेंगी। वाहन प्राप्ति का योग। विदेश यात्रा सम्भव। जीवन साथी का सहयोग व सान्निध्य मिलेगा। इस माह बड़ा व्यावसायिक निर्णय लेना हितकर नहीं होगा। मित्रवर्ग के सहयोग से कार्यक्षेत्र में उन्नति होगी। मासांत में लोकप्रियता का ग्राफ भी बढ़ेगा। स्वास्थ सामान्यत: ठीक रहेगा। जनवरी माह की 3, 12, 24 एवम 27 तारीखे नेष्ट फलदायक है, अत: सावधान रहना चाहिए। आप विष्णु भगवान की अराधना करें एवं ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय का नित्य जप करें।

कर्क (Cancer) ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो।
इस माह कार्य क्षेत्र में प्रगति होगी। परिवार व मित्रजनो का भरपूर सहयोग मिलेगा। जीवन साथी के स्वास्थ्य को लेकर चिन्तित होंगे। विधार्थी वर्ग को प्रतियोगी परीक्षा में सफलता मिलेगी। इस माह बारम्बार भाग्योदयकारी घटनाऐ आयेंगी। स्थान परिवर्तन सम्भव। शासन सत्ता से सहयोग मिलेगा। उच्चाधिकारियों के सहयोग से कार्यो में सफलता मिलेगी। राजनीतिक लोगो से सम्पर्क बढ़ेगा। किसी धार्मिक आयोजन में शामिल होने का अवसर मिलेगा। माह में लिये गये उच्च कोटि के व्यावसायिक निर्णय भविष्य में लाभकारी सिद्ध होंगे। उदर विकार या पाचन संस्थान सम्बन्धी विकारों से सावधान रहें। जनवरी मास की 8, 17, 19 एवम 27 तारीखे नेष्ट फलदायक हैं, अत: सावधान रहना चाहिए। आप गणेश जी की अराधना करें एवम ऊँ गं गणपतये नम: का नित्य जप करें।

सिंह (Leo) मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे। 
इस माह धन का आवागमन अच्छा एवम धन की स्थिरता रहेगी। भूमि भवन संबंधी कोर्इ विवाद उत्पन्न होगा। मास में कर्इ बार टकराव की स्तिथिया आयेंगी। वरिष्ठ अधिकारियों से संबंध मधुर बनेंगे। राजकीय कार्यो में लाभ होगा। संतान की तरफ से सुखद समाचार मिलेगा। माता के स्वास्थ्य के कारण चिंतित रहेगे। आपकी योजना, प्रतिबद्धता आपको सफलता दिलायेगी। उत्तरार्द्ध में जैसे भाग्य आपका इंतजार कर रहा होगा। वायु विकार एवम त्वचा रोग के कारण स्वास्थ्य प्रभावित रहेगा। मासांत में हाताशा की भावना से गुजरेंगे। जनवरी माह की 5, 14, 22 एवम 24 तारीखें नेष्ट फलदायक है, अत: सावधान रहना चाहिए। आप सूर्य की अराधना करें एवम ऊँ घृणि: सूर्याय नम: का नित्य जप करें।

कन्या (Virgo) टो, पा, पू, ष, ण, ठ, पे, पी। 
इस माह नवीन योजनाएँ बनेंगी एवम सफलतापूर्वक क्रियान्वित भी होंगी। भूमि-भवन का लाभ होगा। परिवार में मागंलिक कार्यो का आयोजन होगा। किन्ही कारणवश जमा पूंजी व्यय करनी पड़ेगी। आर्थिक स्तिथिया अनुकूल न होने से क्लेश होगा। उत्तरार्द्ध में स्तिथियों में आंशिक सुधार दिखेगा। अत्यधिक परिश्रम उपरांत भी मनवांछित सफलता नहीं मिलेगी। शत्रु पक्ष से हानि संभव, परिवार व जीवनसाथी का सम्पूर्ण सहयोग मिलेगा। शिर:शूल एवम शारीरिक पीड़ा, पिण्डलियों में दर्द से स्वास्थ्य प्रभावित होगा। जनवरी मास की 1, 11, 19, 28 एवम 30 तारीखें नेष्ट फलदायक है, अत: सावधान रहना चाहिए। आप शिवजी की अराधना करें एवम ऊँ नम: शिवाय का नित्य जप करें।

तुला (Libra) रा, री, रू, रे, ता, ती, तू, ते।
इस माह कार्य व्यवसाय में वृद्धि होगी। वाद-विवाद की स्तिथियों में वृद्धि होगी। जीवन साथी व परिवार के कारण चिंतित रहेंगे। कोर्ट कचहरी के चक्कर काटने पड़ सकते हैं। न्यायालयी कार्यो में विजयश्री मिलेगी। वाहन चलाने में सावधानी बरतें। उत्तरार्द्ध में आय के नये स्त्रोत जुड़ेगे। यात्राओं की अधिकता रहेगी। सहयोगी की राय न मानने से कार्यक्षेत्र प्रभावित होगा। उच्चाधिकारियों से अनावश्यक वाद-विवाद, कलह उत्पन्न होगा। मासांत में किसी नयी कार्य योजना पर कार्य करेंगे। स्वास्थ्य सामान्यत: ठीक रहेगा। जनवरी माह की 6, 15, 25 एवम 26 तारीखे नेष्ट फलदायक है, अत: सावधान रहना चाहिए। आप शनि की अराधना करें एवम ऊँ शं शन्नैश्चराय नम: का नित्य जप करें।

वृशिचक (Scorpio) तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू।
इस माह सामाजिक मान प्रतिष्ठा में कमी आयेगी। राजकीय कार्यो में बाधायें उत्पन्न होंगी। शत्रुपक्ष हानि पहुँचाने की चेष्टा करेगा। ऋण लेने की आवश्यकता पड़ेगी। मांगलिक कार्यो में शामिल होने का अवसर मिलेगा। अत्यधिक परिश्रम उपरांत भी अनुकूल सफलता नहीं मिल पायेगी। जीवनसाथी से विवाद की स्तिथिया आयेंगी। परिवार के किसी सदस्य के स्वास्थ्य के कारण चिन्तित रहेंगे। उत्तरार्द्ध से कार्य क्षेत्र में धीरे-धीरे वृद्धि एवं सफलता प्राप्त होगी। अनियमित दिनचर्या के कारण स्वास्थ्य प्रभावित रहेगा। जनवरी माह की 3, 13, 22 एवम 23 तारीखे नेष्ट फलदायक है, अत: सावधान रहना चाहिए। आप शिवजी की अराधना करें एवम ऊँ नम: शिवाय का नित्य जप करें।

धनु (Sagittarius) ये, यो, भ, भी, भू, धा, फा, ढा, भे। 
इस माह समाज में मान प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। यदि आप बेरोजगार है तो रोजगार के अवसर सृजित होंगे। कार्य क्षेत्र में किया गया श्रम सार्थक सिद्ध होगा। धार्मिक कार्यो का आयोजन होगा। उत्तरार्द्ध में कार्य क्षेत्र में लापरवाही व अनियमितता के कारण कुछ हानि भी सम्भव है। स्वजनो से वाद - विवाद की स्तिथिया आयेंगी। पारिवारिक सहयोग व सान्निध्य मिलेगा। मित्रजनों से वातावरण कुछ दूषित रहेगा। बड़ा व्यावसायिक निर्णय लेना उचित नहीं कहा जा सकता। शीत प्रकृति के रोगो से स्वास्थ्य प्रभावित रहेगा। सार्वजनिक रुप से आप सम्मानित भी किये जायेंगे। जनवरी माह की 1, 11, 21 एवम 30 तारीखे नेष्ट फलदायक हैं, अत: सावधान रहना चाहिए। आप विष्णु भगवान की अराधना करें एवं ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय का नित्य जप करें।

मकर (Capricorn) भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, ग, गी।
इस माह कार्य क्षेत्र में उन्नति होगी। धन लाभ की स्तिथिया बनी रहेगी। समाज में मान सम्मान की प्राप्ति होगी। शत्रुपक्ष आपको हानि नहीं पहुँचा पायेगा। संतान पक्ष से सुखद समाचार की प्राप्ति होगी। माता के स्वास्थ के कारण चिन्तित रहेंगे। अत्यधिक भागदौड़ भरा माह रहेगा। परिवार में धार्मिक कार्यो का आयोजन होगा। छोटे-छोटे व्यावसायिक निर्णय आगे चलकर लाभप्रद सिद्ध होंगे। उत्तरार्द्ध में कार्य सम्पन्नता की गति अत्यंत धीमी रहेगी। फिर भी सफलता का प्रतिशत अच्छा जायेगा। सर्दी जुकाम, श्वास की तकलीफो से गुजरना होगा। अन्य सामान्यत: ठीक रहेगा। जनवरी माह की 4, 15, 19 एवम 22 तारीखे नेष्ट फलदायक हैं अत: सावधान रहना चाहिए। आप गणेश जी की अराधना करें एवम ऊँ गं गणपतये नम: का नित्य जप करें।

कुंभ (Aquarius) गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा। 
इस माह आर्थिक उपलब्धिया अच्छी रहेगी। समाज में मान-सम्मान में वृद्धि होगी। उच्चाधिकारियों से मनवांछित सहयोग मिलेगा। माह में आप कर्इ साहसिक निर्णय भी लेंगे। सार्वजनिक रुप से आप सम्मानित भी किये जायेंगे। यात्राओं की अधिकता रहेगी। वह छोटी व बड़ी दोनो प्रकार की होंगी। यह समय आपके कार्य स्थान एवं समाज में प्रतिष्ठा बढ़ाने वाला हैं। उतावली में किये गये कार्यो में प्रतिकूलता भी दिखेंगी। भूमि भवन में निवेश लाभप्रद रहेगा। मासांत में परेशानियों में वृद्धि होगी। भागदौड़ की अधिकता से स्वास्थ्य प्रभावित होगा। जनवरी माह की 11, 13, 23 एवम 24 तारीखे नेष्ट फलदायक हैं, अत: सावधान रहना चाहिए। आप विष्णु भगवान की अराधना करें एवं ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय का नित्य जप करें।

मीन (Pisces) दी, दू, थ, झ, दे, दो, चा, ची।
इस माह परिस्तिथियाँ प्रतिकूल रहेंगी, जिस कारण मानसिक उच्चाटन एवं धन संबंधी समस्याए बनी रहेगी। शत्रु पक्ष से हानि सम्भव। पारिवारिक विवाद में वृद्धि होगी। भूमि-भवन का लाभ होगा। गृह निर्माण कार्य प्रारम्भ होना सम्भव। उत्तरार्द्ध में लोकप्रियता में वृद्धि होगी, किन्तु ऋण प्रबन्धन की आवश्यकता पड़ेगी। घर में किसी सदस्य के स्वास्थ्य के कारण भी चिन्तित रहेंगे। मासांत में आय के नवीन स्त्रोत भी विकसित होंगे। कुल मिलाकर माह मिला जुला फल देकर जायेगा। उच्चाटन, शीत प्रकृति के रोग स्वास्थ्य को प्रभावित करेंगे। जनवरी माह की 6, 16, 24 एवम 25 तारीखे नेष्ट फलदायक है अत: सावधान रहना चाहिए। आप शिवजी की अराधना करें एवम ऊँ नम: शिवाय का नित्य जप करें।




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

गीता जयंती 2016 - भगवान श्री कृष्ण ने कुरुक्षेत्र में दिया था गीता का उपदेश

गीता जयंती 2016 - ...

कर्मण्यवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन |मा कर्मफलहेतुर्भूर्मा ते सङ्गोSस्त्वकर्मणि ||मनुष्य के हाथ में केवल कर्म करने का अधिकार है फल की चिंता करन...

और पढ़ें...
मोक्षदा एकादशी 2016 – एकादशी व्रत कथा व महत्व

मोक्षदा एकादशी 201...

एकादशी उपवास का हिंदुओं में बहुत अधिक महत्व माना जाता है। सभी एकादशियां पुण्यदायी मानी जाती है। मनुष्य जन्म में जाने-अंजाने कुछ पापकर्म हो जा...

और पढ़ें...
2017 में क्या कहती है भारत की कुंडली

2017 में क्या कहती...

2016 भारत के लिये काफी उठापटक वाला वर्ष रहा है। जिसके संकेत एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों ने उक्त समय दिये भी थे। खेलों के मामले में भी हमने कह...

और पढ़ें...
क्या हैं मोटापा दूर करने के ज्योतिषीय उपाय

क्या हैं मोटापा दू...

सुंदर व्यक्तित्व का वास्तविक परिचय तो व्यक्ति के आचार-विचार यानि की व्यवहार से ही मिलता है लेकिन कई बार रंग-रूप, नयन-नक्स, कद-काठी, चाल-ढाल आ...

और पढ़ें...
बुध कैसे बने चंद्रमा के पुत्र ? पढ़ें पौराणिक कथा

बुध कैसे बने चंद्र...

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मनुष्य के जीवन को ग्रहों की चाल संचालित करती है। व्यक्ति के जन्म के समय ग्रहों की जो दशा होती है उसी के आधार पर उसक...

और पढ़ें...