अंक ज्योतिष

अंकशास्त्र विद्या ( Hindi Numerology) में अंकों का विशेष स्थान होता है। अंकशास्त्र में हर व्यक्ति का एक अंक मुख अंक होता है जिसे अंक स्वामी बोलते हैं और इसी अंक स्वामी के द्वारा आपके भाग्य का आंकलन किया जाता है।

आपके करियर, व्यवसाय, नौकरी, प्रेम और आपके जीवन की हर छोटी व बड़ी बात को, यह आपका स्वामी अंक आपके लिए तय करता है। तो क्या आप जानते हैं अपना अंक स्वामी? या आप जानना चाहते हैं कि कैसे यह आप पर अपना प्रभाव डालता है? तो जानिये एस्ट्रोयोगी की मदद से अपने अंकशास्त्र की सही और सटीक जानकारी।

अंक ज्योतिष प्राप्त करें
दिन
महीना
साल

एस्ट्रो जानकारी

2022 अंकज्योतिष भविष्यवा...

नया साल 2022 आपके लिए ढेर सारी अच्छी चीजें लेकर आया है! इसके बारे में सब कुछ जानने...

और पढ़ें

भाग्यांक

भाग्यांक(Life Path Number) की अंक ज्योतिषशास्त्र में बहुत अधिक महत्ता है। प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में अंकों का...

और पढ़ें

आपका स्वामी अंक

क्या आपका स्वामी अंक 4 या 8 है? कैसे यह आपको प्रभावित करता है? अपने स्वामी नंबर की सभी जानकारियां ...

और पढ़ें

अंकज्योतिष, व्यक्तित्व व...

अपने मुल्यांक (स्वामी अंक) की मदद से आप खुद के व्यक्तित्व का एक सटीक विश्लेषण प्राप्त कर सकते हैं। क्या ...

और पढ़ें

अंक ज्योतिषाचार्यों से बात करें

loader_image

अंकज्योतिष क्या है?

अंकज्योतिष(Numerology in Hindi) अंकों की सहायता से भविष्यवाणी करने का विज्ञान है। अंकज्योतिष के माध्यम से मनुष्य की भविष्य जानने की मूलभूत इच्छा की पूर्ति होती है।

अंकज्योतिष में गणित के नियमों का व्यवहारिक उपयोग करके मनुष्य के अस्तित्व के विभिन्न पहलुओं पर नजर डाली जा सकती है।.

वास्तव में अंकज्योतिष में नौ ग्रहों सूर्य, चन्द्र, गुरू, यूरेनस, बुध, शुक्र, वरूण, शनि और मंगल की विशेषताओं के आधार पर गणना की जाती है। इन में से प्रत्येक ग्रह के लिए 1 से लेकर 9 तक कोई एक अंक निर्धारित किया गया है, जो कि इस बात पर निर्भर करता है कि कौन से ग्रह पर किस अंक का असर होता है। ये नौ ग्रह मानव जीवन पर गहरा प्रभाव डालते हैं।

एस्ट्रो लेख

chat Support Chat now for Support
chat Support Support