लोकसभा चुनाव 2019

लोकसभा चुनाव 2019


लोकसभा चुनाव 2019 का शंखनाद हो चुका है। चुनाव की घोषणा होते ही बीजेपी–कांग्रेस समेत देश के सभी राजनीतिक दल चुनावी मूड में आ गए हैं। सत्रहवीं लोकसभा का गठन करने के लिए आम चुनाव 2019 में कौन सा दल मैदान मार कर भारत के विकास की बागडोर संभालेगा, यह तो देश के मतदाता ही तय करेंगे। लेकिन ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ग्रहों की दशा व दिशा का व्यक्ति, समूह, स्थान आदि, पूरे वातावरण पर प्रभाव पड़ता है। ऐसे में राजनेताओं के साथ-साथ राजनीतिक पार्टियों के सितारे क्या कहते हैं? 2019 में कौन बनेगा भारत का प्रधानमंत्री? किस पार्टी को मिलेगा बहुमत? क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर देश के चौकीदार बन पायेंगें? क्या राहुल गांधी जनता के सामने विकल्प बनकर उभरेंगें? क्या तीसरा मोर्चा नरेंद्र मोदी की मुश्किलें बढ़ा पायेगा? देश की दो मुख्य राजनीतिक पार्टियों भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और इंडियन नेशनल कांग्रेस (कांग्रेस) की स्थापना दिवस के अनुसार इनकी कुंडली और वर्ष कुंडली में कैसे योग बन रहे हैं? भारत के प्रमुख राजनेता जो लोकसभा चुनाव में अपना प्रभाव छोड़ सकते हैं, उनकी किस्मत क्या कहती है? क्या क्षेत्रीय दल राष्ट्रीय दलों के लिये चुनौति पेश कर सकते हैं? इस सेक्शन में आपको लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े तमाम सवालों के जवाब के जवाब ज्योतिषीय नज़रिये से मिलेंगें। एस्ट्रोयोगी एस्ट्रोलॉजर्स ने राजनीतिक दलों के स्थापना दिवस, समय व स्थान के अनुसार इनकी कुंडली का ज्योतिषीय आकलन किया है। साथ ही प्रमुख राजनेताओं की जन्मकुंडली के आधार पर उनका विश्लेषण भी किया है। सात चरणों में होने वाले 2019 के लोकसभा चुनावों का परिणाम 23 मई को आयेगा। राजनीति से जुड़े जातकों के लिये लोकसभा चुनाव परिणाम 2019 के दिन की गोचर कुंडली क्या संकेत कर रही है? इसका आकलन भी किया गया है।

लोकसभा चुनाव 2019 पर एक नज़र

भारत की 543 लोकसभा सीटों में से सरकार बनाने के लिए 272 सीटों पर किसी भी दल का विजयी होना जरूरी है। जो दल इस आंकड़ें को पाने में सफल होगा वही सरकार बना पाएगा| आम चुनाव 2019 के रण में इस बार बीजेपी के घटक दल वाली एनडीए गठबंधन व कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों से मिलकर बना महागठबंधन आमने-सामने है। एनडीए गठबंधन आगामी लोकसभा चुनाव 2019 का रण एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में लड़ने जा रहा है। तो वहीं महागठबंधन का नेतृत्व आम चुनाव 2019 में कौन करेगा यह अब तक स्पष्ट नहीं हो पाया है। महागठबंधन में कई प्रादेशिक दल शामिल हैं जो लोकसभा चुनाव 2019 में महागठबंधन का नेतृत्व करने की अपनी दावेदारी सांकेतिक रूप से पेश करते रहे हैं। यहां तक की थर्ड फ्रंट तैयार करने की बात सामने निकलकर आ चुकी है। लेकिन कांग्रेस हमेशा से कहती आ रही है कि महागठबंधन 2019 के आम चुनाव में राहुल गांधी के नेतृत्व में चुनावी रण में जाएगा।

लोकसभा चुनाव 2019 कब और कितने चरणों में?

भारतीय चुनाव आयोग ने 2019 लोकसभा चुनाव को कुल सात चरणों में संपन्न कराने का ऐलान किया है। सातों चरण अप्रैल व मई माह में पूरे होने हैं। आगे हम सभी सातों चरणों के मतदान दिनांक, नामांकन दिनांक, नाम वापसी दिनांक समेत अन्य जानकारी देंगे।

लोकसभा चुनाव के सात चरण

पहला चरण
2019 लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के लिए चुनाव आयोग ने 11 अप्रैल का दिन निर्धारित किया है। इस दिन 20 राज्यों की कुल 91 सीटों पर मतदान होगा। उम्मीदवार अपना नामांकन पत्र 25 मार्च को दाखिल कर सकेंगे। उम्मीदवारों द्वारा दी गई जानकारी की जांच 26 मार्च को की जाएगी और यदि किसी उम्मीदवार को पहले चरण से अपना नाम वापस लेना है तो वह 28 मार्च को अपना नाम को ले सकते हैं।

दूसरा चरण
आम चुनाव 2019 के दूसरे चरण में 13 राज्यों की 97 सीटों पर 18 अप्रैल को मतदान होना है। इन सभी 97 सीटों के लिए उम्मीदवार अपना नामांकन पत्र 26 मार्च को दाखिल करेंगे। नामांकन पत्र में दिए गए तथ्यों की जांच 27 मार्च को की जाएगी। इस चरण से उम्मीदवार अपना नामा 29 मार्च को वापस ले सकेंगे।

तीसरा चरण
चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव 2019 के तीसरे चरण के मतदान हेतु 23 अप्रैल की तारीख़ तय को किया है। इस दिन 14 राज्यों की कुल 115 सीटों पर मतदाता अपना मत देंगे। तीसरे चरण के लिए नामांकन दिनांक 4 अप्रैल, तथ्य जांच 5 अप्रैल और उम्मीदवारों के नाम वापसी के लिए 8 अप्रैल का दिन निर्धारित किया गया है।

चौथा चरण
चौथे चरण में 9 राज्यों की कुल 71 लोकसभा सीटों पर मत पड़ने हैं। 2019 चुनाव के इस चरण के लिए 29 अप्रैल के दिन मत पड़ेंगे। उम्मीदवार चौथे चरण के लिए नामांकन पत्र 9 अप्रैल को भरेंगे। इन तथ्यों की जांच 10 अप्रैल को की जाएगी। चुनाव से नाम वापस लेने की तिथि 12 अप्रैल तय की गई है।

पांचवां चरण
आम चुनाव 2019 के पांचवें चरण में 7 राज्यों की 51 सीटों पर मतदाता 6 मई को अपने मत का प्रयोग करेंगे। इस चरण के लिए नामांकन पत्र 18 अप्रैल को दाखिल किया जाएगा। उम्मीदवारों द्वारा उपलब्ध कराए गए जानकारी की जांच 20 अप्रैल को की जाएगी। उम्मीदवारों के लिए इस चरण के चुनाव से अपना नाम वापस लेने के लिए चुनाव आयोग की ओर से 22 अप्रैल का दिन तय किया गया है।

छठा चरण
चुनाव आयोग के अनुसार 2019 लोकसभा चुनाव के छठे चरण का मतदान 12 मई को होगा। इस दिन कुल 7 राज्यों की 59 सीटों पर मत डाले जाएंगे। छठे चरण के लिए नामांकन पत्र 23 अप्रैल को और इन तथ्यों की जांच 24 अप्रैल को की जाएगी। छठे चरण के चुनाव से उम्मीवार अपना नाम 26 अप्रैल को वापस ले सकेंगे।

सातवां चरण
सातवें चरण के लिए 8 राज्यों की 59 लोकसभा सीटों पर मतदाता अपने मत के अधिकार को उपयोग 19 मई को करेंगे। इस चरण के लिए उम्मीदवार अपना नामांकन पत्र 29 अप्रैल को दाखिल करेंगे। अधिकारीयों द्वारा जानकारी का जांच 30 अप्रैल को की जाएगी। इस चरण के चुनाव से कोई भी उम्मीदवार अपना नाम वापस 2 मई को ले सकता है।

2019 लोकसभा चुनाव का परिणाम

सातों चरणों के मतदान पूरे हो जाने के बाद चुनाव आयोग परिणामों की घोषणा 23 मई को करेगा। लोकसभा चुनाव 2019 का रण जीतकर सत्ता का ताज कौन पहनेगा?, इसके लिए हमें इस दिन तक इंतजार करना होगा लेकिन ज्योतिषीय दृष्टि से संभावनाएं किसकी नज़र आ रही हैं यहां आपको यह जानकारी मिल सकती है।

अगर आप अपनी लाइफ की समस्याओं को लेकर ज्योतिषीय परामर्श लेना चाहते हैं तो एस्ट्रोयोगी पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से परामर्श ले सकते हैं। ज्योतिषी जी से बात करने के लिये इस लिंक पर क्लिक करें और हमें 9999091091 पर कॉल करें।

ज्योतिषी से बात करें
ज्योतिषी से बात करें

2019 लोकसभा चुनाव की प्रेडिक्शन

2019 लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद आगामी देढ़ माह में चुनावी प्रचार के दौरान नेताओं द्वारा शक्ति का खूब प्रदर्शन किया जाना है। चुनावी सभाओं में भाषण व बयानबाजी से मतदाताओं का ध्यान अकर्षित करने का प्रयास भी किया जाएगा। इस दौरान कई वादे किए जाएंगे और नेता अपनी उपलब्धि व कामों को जनता के सामने पेश करेंगे। सातों चरणों के मतदान पूरा होने तक खूब...

और पढ़ें


Chat Now for Support