नरेंद्र मोदी

नरेंद्र मोदी


2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी जिस लहर के साथ सत्तासीन हुए थे क्या वो लहर अभी भी बची हुई है। क्या 2014 में एक चाय वाले का प्रधानमंत्री बनना 2019 के चौकीदार को प्रधानमंत्री बना पायेगा? 17 सितंबर 1950 को गुजरात के मेहसाणा में जन्में नरेंद्र दामोदरदास मोदी का राजनीतिक सफर काफी संघर्षों भरा रहा है। इन्हीं संघर्षों के बूते वे गुजरात के मुख्यमंत्री बने और गुजरात के सीएम रहते अपनी छवि एक विकास पुरुष के रूप में बनाई। इसी का नतीजा रहा कि 16वीं लोकसभा का चुनाव भारतीय जनता पार्टी ने इन्हीं के नेतृत्व में लड़ा और ऐतिहासिक जीत दर्ज करते हुए अपने बूते बहुमत हासिल किया। लेकिन पिछले पांच सालों में तस्वीर वह नहीं रही है। जिन मुद्दों को लेकर मोदी सत्तासीन हुए वे नेपथ्य में चले गये और नये मुद्दे उभर कर सामने आ गये हैं। विकास के नाम पर नरेंद्र मोदी ने 2014 का चुनाव लड़ा था। नोटबंदी, जीएसटी के मिलेजुले परिणाम उभर कर आ रहे हैं। जिन राज्यों में पहले भाजपा की सरकार नहीं थी वहां भाजपा की सरकार बनी लेकिन कुछ बड़े राज्य राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ जहां वह सत्तासीन थी वहां से उसके हाथ से सत्ता छीन गई। गोवा, गुजरात जैसे कुछ राज्यों में भी उसे सरकार बनाने के लिये काफी संघर्ष करना पड़ा। गौर करने वाली बात यह है कि इन सब राज्यों में नरेंद्र मोदी के नाम पर ही चुनाव लड़े गये। फिलहाल नरेंद्र मोदी के लिये रफेल भी गले की फांस बना हुआ है लेकिन भाजपा के नेताओं के अनुसार पुलगांव में हुए आतंकी हमले बाद हुई सर्जिकल स्ट्राइक ने काफी कुछ कवर कर लिया है। लेकिन विपक्ष के अनुसार भाजपा द्वारा देश की सेना द्वारा लिये गये एक्शन का राजनीतिकरण किया जा रहा है। ऐसे में पेंच काफी फंसे हुए नज़र आ रहे हैं। मतदाता का क्या मूड है यह सपष्ट तौर पर नहीं जाना जा सकता। लेकिन ज्योतिष इस मामले में कुछ संकेत जरुर कर सकता है। एस्ट्रोयोगी के एक्सपर्ट एस्ट्रोलॉजर ने नरेंद्र मोदी की कुंडली का अध्ययन किया है। ज्योतिषाचार्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिये क्या संकेत कर रहे हैं आइये जानते हैं।

2019 लोकसभा चुनाव के बारे में क्या कहती है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कुंडली?



नाम – नरेंद्र दामोदरदास मोदी
जन्म तिथि – 17 सितंबर 1950
जन्म स्थान– मेहसाणा, गुजरात
जन्म समय – प्रात: 11:00 बजे

उपरोक्त विवरण के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कुंडली वृश्चिक लग्न व वृश्चिक राशि की है। लग्न बलवान है। उनकी राशि का स्वामी मंगल उनके लिए रोचक महायोग व चंद्र-मंगल के योग के साथ शत्रुहंता योग बना रहा है। इस के चलते मोदीजी के विरोधी व शत्रु इनका बाल भी बांका नहीं कर पाएंगे। रोचक महायोग के कारण व्यक्ति के अंदर निर्णय लेने की क्षमता प्रबल होती है जिसका असर प्रधानमंत्री के लिए गए निर्णयों में देखा जा सकता है। चंद्र-मंगल योग से व्यक्ति देखने में साधारण दिखाई देता है लेकिन अपनी दिनचर्या के कामों में वह काफी फुर्तिला होता है, जो कि प्रधानमंत्री मोदी के दैनिक कार्यों में हमें देखने को मिलता है। साथ ही यह योग व्यक्ति को अनुशासन प्रिय बनाता है। पीएम नरेंद्र मोदी की कुंडली में गजकेसरी योग भी विद्यमान है जिसके कारण उनका व्यक्तित्व सिंह के समान दिखाई देता है। वर्तमान की बात करे तो प्रधानमंत्री मोदी के ऊपर चंद्रमा की महादशा चल रही है जो कि भाग्य की दशा है जिससे मोदीजी का भाग्य उन्नति की ओर अग्रसर होगा। 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान मोदी पर भाग्य की दशा के साथ केतु की अंतरदशा भी चलेगी जो कार्य में कुछ विघ्न उत्पन्न कर सकती है। इसके साथ ही केतु का गोचर प्रधानमंत्री की कुंडली में पराक्रम के स्थान में हुआ है जो इन्हें मंगल की तरह फल देगा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनौतियों का सामना करते हुए अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल होंगे। इससे एक बार फिर मोदी सरकार के बनने के आसार नजर आ रहे हैं।

अगर आप अपनी लाइफ की समस्याओं को लेकर ज्योतिषीय परामर्श लेना चाहते हैं तो एस्ट्रोयोगी पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से परामर्श ले सकते हैं। ज्योतिषी जी से बात करने के लिये इस लिंक पर क्लिक करें और हमें 9999091091 पर कॉल करें।

Talk to Astrologers

2019 लोकसभा चुनाव की प्रेडिक्शन

2019 लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद आगामी देढ़ माह में चुनावी प्रचार के दौरान नेताओं द्वारा शक्ति का खूब प्रदर्शन किया जाना है। चुनावी सभाओं में भाषण व बयानबाजी से मतदाताओं का ध्यान अकर्षित करने का प्रयास भी किया जाएगा। इस दौरान कई वादे किए जाएंगे और नेता अपनी उपलब्धि व कामों को जनता के सामने पेश करेंगे। सातों चरणों के मतदान पूरा होने तक खूब...

और पढ़ें


Chat Now for Support