अमित शाह

अमित शाह


लोकसाभा चुनाव 2019 का शंखनाद हो चुका है और ऐसे में भारतीय राजनीति के धुरंधर अमित शाह की बात न हो ऐसा हो ही नहीं सकता। विरोधियों को लोहे के चने चबाने के लिए मजबूर करने वाले अमित शाह को राजनीति के जानकार चाणक्य के नाम से संबोधित कर चुके हैं। 2014 लोकसभा चुनाव में शाह की रणनीति के चलते भाजपा पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने में सफल हुई। शाह की इसी उपलब्धि के कारण उन्हें दोबारा भारतीय जनता पार्टी का अध्यक्ष चुना गया। इससे पहले अमित शाह गुजरात राज्य के गृहमंत्री तथा भारतीय जनता पार्टी के महासचिव रह चुके हैं और वर्तमान में राज्यसभा के सदस्य हैं। अमित शाह के राजनीतिक जीवन की बात करें तो वे अब तक छोटे–बड़े चुनावों को मिलाकर 42 चुनाव लड़ चुके हैं और सभी में विजयी रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए 2014 की रणनीति तैयार करने से पूर्व शाह 1991 में लाल कृष्ण आडवाणी के लिए गांधीनगर संसदीय क्षेत्र में चुनाव प्रचार का जिम्मा संभाल चुके हैं और 1996 में जब पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी ने गुजरात से चुनाव लड़ने का फैसला किया। तब भी शाह ने ही चुनाव प्रचार का जिम्मा संभाला था। जब से अमित शाह भाजपा के अध्यक्ष बने हैं तब से भाजपा की राजनीतिक स्थिति इतनी मजबूत हुई है कि सारा विपक्ष एक जुट होने के लिए विवश हो गया है। अमित शाह की कुटनीति का लोहा तब सब ने माना जब मणिपुर और गोवा में अधिक सीटें जीतने के बाद भी कांग्रेस सरकार बनाने में नाकाम हो गई। शाह की रणनीति से बीजेपी धीरे-धीरे कई राज्यों से कांग्रेस का सुपड़ा साफ करने में सफल हुई। परंतु 2018 में हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में भाजपा को मुंह की खानी पड़ी। 2019 के लोकसभा चुनाव की घोषणा हो चुकी है, ऐसे में शाह के सितारे उनका कितना साथ देंगे और क्या शाह अपनी रणनीतियों से विरोधियों को रोकने में सफल होंगे? आइए जानते हैं अमित शाह की कुंडली का आकलन कर एस्ट्रोयोगी एस्ट्रोलॉजर क्या संकेत कर रहे हैं?

2019 लोकसभा चुनाव के बारे में क्या कहती है अमित शाह की कुंडली?



नाम – अमित शाह
जन्म तिथि – 22 अक्टूबर 1964
जन्म स्थान– मुंबई
जन्म समय – 5:25 बजे

अमित शाह की पत्रिका कन्या लग्न और मेष राशि की है। वर्तमान में लग्न का स्वामी बुध सूर्य के साथ है जो शाह के लिए बुध आदित्य योग बना रहा है और शाह के लग्न को मजबूती प्रदान कर रहा है। कन्या लग्न के जातक काफी कुटील, चतुर और चालाक होते हैं और राजनीति इनके अंदर जन्म से ही विद्धमान होती है। कुंडली के अंदर कर्मक्षेत्र में राहु विद्धमान हैं, पत्रिका में राहु मिथुन राशि में स्थित होकर मजबूत अवस्था में बैठे हैं। जो शाह को राजनीति में और संगठन को चलाने में सक्षम बना रहे हैं। राहु के अपने मूल त्रिकोण राशि तथा चंद्रमा का अष्टम भाव में होने से शाह को स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है साथ ही चंद्रमा पर वक्र ग्रह शनि की दृष्टि होने से अमित शाह के लिए हानि का योग बन रहा है। वर्तमान में राहु की महादशा का चलना तथा राहु का गोचर समान स्थान में होने से राहु का शाह पर शुभ प्रभाव पड़ेगा। परंतु आगामी राहु की महादशा में चंद्र की अंतरदशा के चलने से शाह को थोड़ी सावधानी बरतनी होगी, क्योंकि इसका सीधा असर अमित शाह के स्वास्थ्य पर पड़ने वाला है। लेकिन शाह के राजनीतिक क्षेत्र के लिए राहु की दशा और राहु का गोचर सबसे अधिक सफलता दिलाने में सहयोगी सिद्ध होने वाले हैं। पत्रिका में नीच भंग राजयोग का होना शुभ फल देता है जो कि अमित शाह के पत्रिका में बन रहा है। इसके साथ ही शुभ कर्तरी योग भी है जो सुख, वैभवशाली, राजा के समान जीवन देने तथा शत्रु के अंदर भय पैदा करने वाला है। इसी के चलते शाह अपने विराधियों पर हावी होने में सफल होते हैं। कुल मिलाकर 2019 का लोकसभा चुनाव शाह के लिए थोड़ा संघर्षमय होगा, परंतु अंत में परिणाम अच्छे प्राप्त होगें।

अगर आप अपनी लाइफ की समस्याओं को लेकर ज्योतिषीय परामर्श लेना चाहते हैं तो एस्ट्रोयोगी पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से परामर्श ले सकते हैं। ज्योतिषी जी से बात करने के लिये इस लिंक पर क्लिक करें और हमें 9999091091 पर कॉल करें।

ज्योतिषी से बात करें
ज्योतिषी से बात करें

2019 लोकसभा चुनाव की प्रेडिक्शन

2019 लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद आगामी देढ़ माह में चुनावी प्रचार के दौरान नेताओं द्वारा शक्ति का खूब प्रदर्शन किया जाना है। चुनावी सभाओं में भाषण व बयानबाजी से मतदाताओं का ध्यान अकर्षित करने का प्रयास भी किया जाएगा। इस दौरान कई वादे किए जाएंगे और नेता अपनी उपलब्धि व कामों को जनता के सामने पेश करेंगे। सातों चरणों के मतदान पूरा होने तक खूब...

और पढ़ें


Chat Now for Support