प्रियंका गांधी

प्रियंका गांधी


प्रियंका गांधी, इस नाम से हर वह शख्स परिचित है जो राजनीति में थोड़ी बहुत रूचि रखता है। भारतीय राजनीति में प्रियंका गांधी की छवि एक तेज तर्रार नेता के तौर पर है। परंतु राजनीति में प्रियंका की सक्रिय भूमिका पर हमेशा से राजनीति के ज्ञाताओं के बीच मतभेद रहा है। ऐसा होना लाजमी भी है क्योंकि जनवरी 2019 से पूर्व प्रियंका राजनीति में पूरी तहर से सक्रिय नहीं थीं। लेकिन 2019 लोकसभा चुनाव के चलते प्रियंका को उनके भाई कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 7 फरवरी 2019 को कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव के पद पर नियुक्त कर उन्हें पूर्वी उत्तरप्रदेश का प्रभार सौप दिया। जिसके बाद प्रियंका पार्टी को पूर्वी उत्तरप्रदेश में मजबूत स्थिति में लाने की जुगत में लग गई हैं। प्रियंका गांधी इससे पूर्व सिर्फ एक राजनितक सलाहकार के रूप में अपनी माता पूर्व कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी के लिए कार्य करती रही हैं और अपने मां और भाई के निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली व अमेठी में कई दौरे कर वहां की जनता के साथ संवाद स्थापित करने में सफल रहीं, एक समय ऐसा भी आया जब कांग्रेस समर्थकों द्वारा 2014 लोकसभा चुनाव प्रचार के लिए आयोजित कांग्रेस के सभाओं में प्रियंका गांधी को राजनीति में सक्रिय रूप से लाने की मांग उठी। लेकिन इसका असर कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व पर नहीं पड़ा और प्रियंका भी राजनीति में आने के प्रश्नों पर हमेशा ना में ही उत्तर देती, उनका कहना था कि मैं राजनीति में न होते हुए भी लोगों की सेवा कर सकती हूं और मेरा राजनीति में आने का कोई विचार नहीं है। परंतु जो 2014 लोकसभा चुनाव में न हो सका वह इस बार 2019 आम चुनाव में हुआ और कांग्रेस समर्थकों की बरसों की आश पूरी हुई। अब प्रियंका गांधी सक्रिय रूप से राजनीति में आ गई हैं और उन्हें उत्तरप्रदेश के पूर्वी लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र का प्रभार दिया गया है, ऐसे में इस जिम्मेदारी को निभाने में प्रियंका का भाग्य उनका कितना साथ देगा, एस्ट्रोयोगी एस्ट्रोलॉजर ने उनकी कुंडली की गणना करके इसकी जानकारी दी है। आइए जानते हैं प्रियंका के लिए 2019 का लोकसभा चुनाव कैसा रहेगा।

2019 लोकसभा चुनाव के बारे में क्या कहती है प्रियंका गांधी की कुंडली?



नाम – प्रियंका गांधी
जन्म तिथि – 12 जनवरी 1972
जन्म स्थान– दिल्ली
जन्म समय –शाम 5:05 मिनट

उक्त जानकारी के आधार पर प्रियंका गांधी की पत्रिका मिथुन लग्न और वृश्चिक राशि की है। इस समय प्रियंका के पत्रिका में पंचमेष कारक ग्रह शुक्र की और भाग्य का कारक ग्रह शुक्र की महादशा में शनि की अंतरदशा चल रही है। जो ज्योतिष में राजयोग की दशा मानी जाती है। शुक्र की दशा और शनि की अंतरदशा के कारण प्रियंका के लिए संगठन चलाने का योग बना, जिसके फलस्वरूप इनकी हालही में कांग्रस के राष्ट्रीय महासचिव के पद पर नियुक्ति हुई और लोकसभा चुनाव 2019 के लिए पूर्वी उत्तरप्रदेश का प्रभार मिला। इसके आलावा शुक्र का भाग्य स्थान में होना जिसे पितृ स्थान भी कहा जाता है। इस स्थान में शुक्र के होने से उन्हें पिता से जुड़ा कार्यक्षेत्र मिलने का आकस्मिक योग बना। इसके साथ ही पत्रिका के अंदर कर्मक्षेत्र का स्वामी गुरू स्वराशि में होने से प्रियंका के लिए हंस महायोग भी बना रहा है। इस योग के बनने से कार्य में सफलता पाने के अवसर बनते हैं। प्रियंका गांधी के कर्म के स्थान में मंगल होने से उन्हें कार्य में सफलता मिलने में आसानी हो सकती है। प्रियंका के पत्रिका में सूर्य और बुध के युक्ति संबंध से बुध आदित्य योग बन रहा है जो प्रियंका गांधी के राजनीतिक जीवन के लिए मील का पत्थर साबित हो सकता है। परंतु प्रियंका के भाग्य के स्वामी शनि वक्र स्थिति में बारहवें स्थान में बैठे हैं जिसका इनके भाग्य पर बुरा प्रभाव पड़ेगा। इसके साथ ही चंद्रमा के ऊपर शनि की पूर्ण दृष्टि पड़ रही जो मन को विचलित तो करेगी ही साथ ही कार्यक्षेत्र में भी समास्याओं का सामना करवाएगी। इसके अलावा चंद्र का शत्रु स्थान में होने से यह शत्रु पक्ष को बलवान बना रहा है। कुल मिलाकर शुभ दशा चलने से प्रियंका के करियर में बढ़ोत्तरी तो होगी लेकिन 2019 के लोकसभा चुनाव में सफलता मिलने के प्रश्न पर प्रश्नचिन्ह का निर्माण हो रहा है।

अगर आप अपनी लाइफ की समस्याओं को लेकर ज्योतिषीय परामर्श लेना चाहते हैं तो एस्ट्रोयोगी पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से परामर्श ले सकते हैं। ज्योतिषी जी से बात करने के लिये इस लिंक पर क्लिक करें और हमें 9999091091 पर कॉल करें।

ज्योतिषी से बात करें
ज्योतिषी से बात करें

2019 लोकसभा चुनाव की प्रेडिक्शन

2019 लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद आगामी देढ़ माह में चुनावी प्रचार के दौरान नेताओं द्वारा शक्ति का खूब प्रदर्शन किया जाना है। चुनावी सभाओं में भाषण व बयानबाजी से मतदाताओं का ध्यान अकर्षित करने का प्रयास भी किया जाएगा। इस दौरान कई वादे किए जाएंगे और नेता अपनी उपलब्धि व कामों को जनता के सामने पेश करेंगे। सातों चरणों के मतदान पूरा होने तक खूब...

और पढ़ें
ज्योतिषी से बात करें
ज्योतिषी से बात करें
s


Chat Now for Support