वार के अनुसार शॉपिंग करने से मिल सकता है लाभ? जानिए कैसे

क्या आप बिना प्लानिंग के ही शॉपिंग करते हैं? कभी भी व किसी भी वक्त आप खरीदारी करने के लिए निकल पड़ते हैं? यदि आपका उत्तर हां है तो आपको अपने इस स्वभाव पर नियंत्रण रखने की आवश्यकता है। क्योंकि ऐसा कर आप स्वयं का नुकसान कर रहे हैं। जी हां आपने सही पढ़ा आप खुद का नुकसान कर रहे हैं। आपके भीतर प्रश्न उठ रहा होगा कि ये कैसे हो सकता है। ये हो सकता है नहीं, हो रहा है। कहते हैं कि बिना प्लानिंग के किया गया काम सफल नहीं होता। तो आपका शॉपिंग कैसे आपके लिए लाभदायक हो सकता है? इस पर आपको विचार करने की आवश्यकता है। खैर हम आपको बताते हैं कि प्लानिंग के साथ शॉपिंग करने का आपको क्या लाभ हो सकता है। खास कर दिन व वार के अनुसार।

ज्योतिष का शॉपिंग कनेक्शन

ज्योतिष व आपके शॉपिंग का सीधा कनेक्शन है बस आप कभी इस पर ध्यान नहीं दिए हैं। ज्योतिषाचार्यों का कहना है कि यदि हम ज्योतिष के अनुसार खरीदारी करें तो हमें अधिक लाभ होगा। यह लाभ धन के साथ ही ज्योतिषीय भी होगा। ज्योतिषाचार्य बताते हैं कि हम लोगों को इसलिए वार व दिन अनुसार खरीदारी करने की सलाह देते हैं कि इससे उनके उपर चल रहे खराब दशा व ग्रह के प्रभाव में कमी आए यानी की शॉपिंग से आप अपने बिगड़े ग्रह को भी सही कर सकते हैं और वार के स्वामी ग्रह व देव से शुभ फल प्राप्त कर सकते हैं। सरल शब्दों में कहें तो दिन अनुसार खरीदारी करने से दिन के देव आप पर प्रसन्न होगें साथ ही कुंडली में कोई दोष है तो वह भी दूर होगा। परंतु इसके लिए आपको ज्योतिषाचार्य से परामर्श लेना होगा। ताकि आपको लाभ मिल सकें। अभी परामर्श लेने के लिए बात करें देश के जाने माने ज्योतिषाचार्यों से। परामर्श से आप सामान्य से अधिक लाभ उठाने में सफल होंगे। अन्यथा अनुचित खरीदारी कर आप अपने मुश्किलों को बढ़ाने का काम करेंगे।

वार के अनुसार कैसे करें शॉपिंग?

शॉपिंग से पहले कुछ बातों का ध्यान रखने से आप कई परेशानियों से बच सकते हैं इसलिए आपको किन्हीं बातों का ख्याल रखना चाहिए। तो आइए जानते हैं कौन से दिन क्या खरीदने से होगा लाभ।

रविवार

सप्ताह का पहला दिन रविवार है। इस वार को सूर्यदेव का वार माना जाता है। ज्योतिष के मुताबिक एस दिन सोन, तांबा, गेहूं, इलेक्ट्रोनिक सामान, दवाईयां खरीदने से लाभ होता है। इसके साथ ही सूर्यदेव भी प्रसन्न होते हैं। इसके अलावा इस दिन फर्नीचर, हार्डवेअर का सामान, लोहे का सामान तथा वाहन संबंधित सामान खरीदना अशुभ होता है।

सोमवार

सोमवार का दिन महादेव का माना जाता है। इस दिन आप डेरी प्रोडक्ट, पर्स, बर्तन, औषधी व चावल खरीद सकते हैं। कॉपी- किताब, मोबाईल, कंप्यूटर, लेख के सामान, वाहन न खरीदें। यह दिन इन सब के लिए शुभ नहीं है। साथी ही यह आपको भी प्रभावित करेगा।

मंगलवार

यह दिन हनुमान जी का माना जाता है। इस दिन को संपत्ती के लिए सबसे अच्छा कहा जाता है। मकान व जमीन खरीदना इस दिन शुभ है। साथ ही आप वाहन, कपड़े, किचन का सामान खरीद सकते हैं। मंगलवार के दिन आपको लाल रंग की वस्तुओं को नहीं खरीदना चाहिए। मोबाईल व सजावट का सामान खरीदना आपके हित में नहीं होगा।

बुधवार

बुधवार का दिन विध्नहर्ता श्री गणेश का है। इस दिन शिक्षा से जुड़े सामान खरीदना शुभ होता है। इसके साथ ही आज के दिन खेल का सामान, सजावट का सामान खरीदना भी शुभ है। बुधवार के दिन चावल, फिश टैंक, दवाईयां खरीदना अशुभ होता है।

गुरूवार

गुरूवार का दिन भगवान विष्णु का माना जाता है। इस दिन पूजा-पाठ के सामान, इलेक्ट्रॉनिक सामान, घर के फर्नीचर खरीद सकते हैं। बृहस्पतिवार के दिन नेत्र से संबंधित सामान, धारदार वस्तु जैसे – तलवार, कैंची, चाकू, ब्लेड खरीदना आपके लिए अशुभ होगा।

शुक्रवार

शुक्रवार का दिन देवी आदि शक्ति का माना है। इस दिन तिजोरी, साजो सामान, कपड़ा, सौदर्य का सामान खरीद सकते हैं। इसके अतिरिक्त आपको इस दिन प्रोपर्टी, किचन व इलेक्ट्रॉनिक सामान न खरिदें। इससे आपको हानि होगा।

शनिवार

यह वार न्याय के देवता शनिदेव का वार है। इस दिन आपको कालिन, पर्दे, बागान का सामान, हार्डवेअर का सामान, गाड़ी के एसेसरीज खरीद सकते हैं। परंतु इस दिन घर के लिए लोहे का सामान, कैंची, नमक, सरसों का तेल, काला तिल, मसाला, अलमारी, किचन का सामान, संपत्ती खरीदना अशुभ होगा।

यहां उपलब्ध जानकारी सामान्य है यह आपके कुंडली व ग्रह स्थिति के अनुसार बदल सकता है। अधिक लाभ के लिए ज्योतिषीय परामर्श से ही खरीदारी करना अच्छा रहेगा। ज्योतिषीय परामर्श के लिए यहां क्लिक करें।

एस्ट्रो लेख

प्रभु श्री राम ...

प्रभु श्री राम भगवान विष्णु के सातवें अवतार माने जाते हैं। भगवान विष्णु ने जब भी अवतार धारण किया है अधर्म पर धर्म की विजय हेतु लिया है। रामायण अगर आपने पढ़ी नहीं टेलीविज़न पर धाराव...

और पढ़ें ➜

भगवान श्री राम ...

रामायण और महाभारत महाकाव्य के रुप में भारतीय साहित्य की अहम विरासत तो हैं ही साथ ही हिंदू धर्म को मानने वालों की आस्था के लिहाज से भी ये दोनों ग्रंथ बहुत महत्वपूर्ण हैं। आम जनमानस ...

और पढ़ें ➜

अक्षय तृतीया 20...

हर वर्ष वैसाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि में जब सूर्य और चन्द्रमा अपने उच्च प्रभाव में होते हैं, और जब उनका तेज सर्वोच्च होता है, उस तिथि को हिन्दू पंचांग के अनुसार अत्यंत शु...

और पढ़ें ➜

वैशाख अमावस्या ...

अमावस्या चंद्रमास के कृष्ण पक्ष का अंतिम दिन माना जाता है इसके पश्चात चंद्र दर्शन के साथ ही शुक्ल पक्ष की शुरूआत होती है। पूर्णिमांत पंचांग के अनुसार यह मास के प्रथम पखवाड़े का अंत...

और पढ़ें ➜