क्या ‘बजरंगी भाईजान’ को मिलेगी, ईदी?

लाइफ में तीन चीजों को कभी अन्डरेस्टमेट नहीं करना, ‘आई, मी और मैं’। सलमान भाई की फ़िल्म ‘रेडी’ के इस प्रसिद्ध डायलोग को भला कौन नहीं जानता होगा। इन तीन चीजों की तरह ही ‘सलमान भाई’ को भी कभी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। साल के 365 दिनों में से 250 दिन ख़बरों में कोई शख्स बना रहता है तो वह सलमान खान ही हैं। कभी अपनी दबंगई, कभी नेकी एवं चुलबुले अंदाज़ तो कभी अपनी फिल्मों से, अपने चाहने वालों का मनोरंजन, खान भाई खूब करते हैं। हर साल ईद पर फिल्म रिलीज़ करने वाले सलमान खान, साल 2015 में ‘बजरंगी भाईजान’ के साथ परदे पर आ रहे हैं।


फ़िल्म की कहानी पर नजर डालें तो यह फ़िल्म एक छोटी बच्ची (हर्षोली मल्होत्रा) के चारों ओर घुमती नजर आने वाली है। सलमान भाई को भारत-पाकिस्तान बॉर्डर के पास एक छोटी लड़की मिलती है। यह छोटी बच्ची गूंगी है और एक यात्रा के दौरान वह अपने माँ-बाप से बिछ़ड गयी है। भाई इस बच्ची को उसके परिवार से वापस मिलाने के लिए पाकिस्तान जाते हैं और यहाँ इनको कई मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। फ़िल्म को मशहूर निर्देशक कबीर खान, निर्देशित कर रहे हैं।


वहीँ दूसरी तरफ फिल्म के नाम और विषय सामग्री पर कुछ धार्मिक संगठनों ने आपत्ति जताई है और वे इसकी रिलीज पर रोक लगाने की मांग कर रहे हैं।


फ़िल्म रिलीज़ के मौके पर एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्य भविष्यवाणी पर नजर डालें तो फ़िल्म के बॉक्स ऑफिस पर सफलता के काफी अच्छे आसार नजर आ रहे हैं। 17 जुलाई को सिंह लग्न में फ़िल्म रिलीज़ होगी और सिंह लग्न व्यवसाय के लिए शुभ होता है।


वहीँ दूसरी तरफ सलमान खान की कुंडली दशा पर नजर डालें, तो कुंडली में शनि की महादशा, मंगल की अंतर दशा और ब्रहस्पति प्रत्यांतर दशा में है। इन तीनों का योग बहुत अच्छा तो नहीं होता है किन्तु शनि अपने घर में 11 वें स्थान पर होने से यह ‘कार्य-योग’ बनता है। दूसरी तरफ मंगल के तीसरे घर में होने से मान-सम्मान और पैसे का लाभ इनको प्राप्त हो रहा है। साथ ही साथ फ़िल्म सफल होने की संभावनायें इसलिए भी बढ़ रही हैं क्योकि इनकी कुंडली में ब्रहस्पति और मंगल का केंद्र त्रिकोण योग बन रहा है जो इनको इस साल अच्छे फल दे रहा है।


जुलाई माह के अन्दर ब्रहस्पति और शुक्र का मिलन सिंह राशि में हो रहा है और सलमान खान की कुंडली के हिसाब से ब्रहस्पति सिंह राशि से ही, इनके भाग्य के नौवें स्थान पर नजर रखेगा और भाग्य एवं धन के अच्छे योग बनायेगा।    


वहीँ फ़िल्म निर्देशक कबीर खान की कुंडली में वृष लग्न है, इनकी चन्द्र राशि मिथुन है और बुध की महादशा, मंगल की अंतर दशा और शुक्र की प्रत्यांतर दशा है जो व्यवसाय और कला के क्षेत्र के लिए शुभ मानी जाती है। एस्ट्रोयोगी ज्योतिषों की राय के अनुसार, यह फ़िल्म ‘बॉक्स ऑफिस’ पर अच्छा करने में कामयाब हो सकती है।


 एस्ट्रोयोगी.कॉम ‘बजरंगी भाईजान' की पूरी टीम को फ़िल्म की रिलीज़ के लिए बधाई देता है और हम उम्मीद करते हैं कि फ़िल्म बॉक्स ऑफिस पर कामयाब होने में सफल साबित होगी।

एस्ट्रो लेख

माँ चंद्रघंटा -...

माँ दुर्गाजी की तीसरी शक्ति का नाम चंद्रघंटा है। नवरात्रि उपासना में तीसरे दिन की पूजा का अत्यधिक महत्व है और इस दिन इन्हीं के विग्रह का पूजन-आराधन किया जाता है। इस दिन साधक का मन ...

और पढ़ें ➜

माँ ब्रह्मचारिण...

नवरात्र पर्व के दूसरे दिन माँ  ब्रह्मचारिणी की पूजा-अर्चना की जाती है। साधक इस दिन अपने मन को माँ के चरणों में लगाते हैं। ब्रह्म का अर्थ है तपस्या और चारिणी यानी आचरण करने वाली। इस...

और पढ़ें ➜

माँ शैलपुत्री -...

देवी दुर्गा के नौ रूप होते हैं। दुर्गाजी पहले स्वरूप में 'शैलपुत्री' के नाम से जानी जाती हैं। ये ही नवदुर्गाओं में प्रथम दुर्गा हैं। पर्वतराज हिमालय के घर पुत्री रूप में उत्पन्न हो...

और पढ़ें ➜

अखंड ज्योति - न...

नवरात्रि का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है। साल में हम 2 बार देवी की आराधना करते हैं। चैत्र नवरात्रि चैत्र मास के शुक्ल प्रतिपदा को शुरु होती है और रामनवमी पर यह खत्म होती है, वहीं ...

और पढ़ें ➜