भवन में लकड़ी की बांसुरी रखने से दूर होती हैं परेशानियां, जाने इसके फायदे

आज बाजार में कई तरह की बांसुरियां बेची जाती हैं और लोग इन्हें काफी खरीदते भी हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि बांसुरी खरीदना काफी शुभ होता है और कहा जाता है कि अगर भवन में बांसुरी रखी जाए तो भनव में रहने वालों को लाभ होता है। वास्तु और फेंगशुई में बांसुरी को बहुत ही शुभ माना गया है और वास्तु व फेंगशुई के अनुसार घर में बांसुरी लाने से कई तरह के फायदे होते हैं।

बांसुरी से जुड़ी पौराणिक मान्यता

हिंदू धर्म के मान्यता के अनुसार बांसुरी का नाता भगवान श्रीकृष्ण जी से है और भगवान श्रीहरि कृष्ण हमेशा अपने पास बांसुरी रखते थे। कहा जाता है कि कृष्ण को बांसुरी बेहद प्रिय थी और ये बहुत ही मधुर बांसुरी बजाया करते थे। इनके बांसुरी की धुन सुन गोपियां मंत्र मुग्ध हो कर अपने आप इनकी और खींची चली आती थी और बांसुरी की धुन पर नृत्य करने लगती थी। बांसुरी के बिना कृष्ण अधूरे थे।

आइए जानते हैं, बांसुरी से जुड़े फायदे

बांसुरी की वास्तु व फेंगशुई संबंध

वास्तुशास्त्र में कहा गया है कि सोने की बांसुरी घर में रखने से घर में लक्ष्मी का वास बना रहता है । बांसुरी कई तरह के दोषों से बचाती है। वास्तु शास्त्र के अनुसार बांसुरी का प्रयोग करने और इसे बजाने से कई प्रकार के दोषों को समाप्त किया जा सकता है। ऐसे में आर्थिक समस्याओं से मुक्ति के लिए आपको चांदी की बांसुरी घर में रखना चाहिए। आप अपनी क्षमता अनुसार सोने की बांसुरी भी रख सकते हैं। इसके मधुर धुन से भवन का वातावरण एक दम सकारात्मक बन जाता है। हालांकि बांसुर को सही तरीके से बजाना आना चाहिए। इससे भवन में रहने वाले लोगों की प्रगति होती है। फेंगशुई में बांसुरी के बारे में उल्लेख करते हुए कहा गया है कि घर में बांसुरी के होने से घर में रहने वाले लोगों के जीवन में हमेशा ही सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है साथ ही घर में बरकत और जीवन प्रगती का मार्ग पर अग्रसर रहती है।

भवन में बांसुरी रखने से होगी माँ लक्षी की कृपा

यदि आप काफी मेहनत के बाद भी अपने बिजनेस में सफलता हासिल नहीं कर पा रहे हैं तो इसके लिए बांस से बनी यह बांसुरी आपके भाग्य को बदलने सहायक है। यह उन्नति और समृद्धि दोनों देने में सक्षम है। अत: आपको भगवान श्रीकृष्ण की पूजा कर अपने दुकान की छत पर दो बांसुरी टांग दें। यह बहुत ही सरल उपाय है जो आपको अपने व्यापार में उन्नति के शिखर तक ले जाएगा। आर्थिक समस्या से जुझ रहे हैं? तो हो सकता आपके कुंडली में मंगल दोष, परामर्श के लिए बात करें देश के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से।

बांसुरी से नकारात्मक शक्तियां होती हैं दूर

माना जाता है कि बांसुरी पास होने से नकारात्मक शक्ति हमेशा दूर रहती हैं। इतना ही नहीं घर में बांसुरी होने से घर में केवल सकारात्मक शक्ति प्रवेश कर पाती है बल्कि यह मन को भी शांत मिलती है। जो लोग ज्यादा परेशान रहते हैं उनके लिए बांसुरी बेहद फायदेमंद मानी जाती है। बांसुरी की धुन सुनने और इसे बजाने से दिमाग मन रहता है और किसी भी प्रकार के बुरे ख्याल मस्तिष्क में नहीं आते हैं। 

बांसुरी के साथ रखें मोर पंख

माना जाता है कि घर के मंदिर और दुकान में बांसुरी होने पर उन्नति और समृद्धि आती है। यह हर कामना को पूरा करने में आपकी सहायता करते हैं जिससे आप अपना सपना पूरा करने में सफल हो पाते हैं। तो आज ही आप एक बांसुरी घर लेकर आएं और अपनी इच्छा अपने मन में बोल दें। फिर उस बांसुरी को मोर के पंख के साथ अपने मंदिर में रख दें। माना जाता है कि ऐसा करने से इच्छा पूरी होती है।

संबंधित लेख 

भवन में क्यों रखा जाता है कछुआ, क्या हैं इसके लाभ? । जूतों से जुड़ा है आप का भाग्य, करें न इसे नजरअंदाजघर में मोर के पंख रखने ये हैं लाभ ।



एस्ट्रो लेख

शुक्र का सिंह र...

ऊर्जा व कला के कारक शुक्र माने जाते हैं। शुक्र जातक के किस भाव में बैठे हैं यह बहुत मायने रखता है। शुक्र के हर परिवर्तन के साथ जातक की कुंडली में शुक्र की स्थिति में भी बदलाव आता ह...

और पढ़ें ➜

विदेश जाने का य...

क्या आपको पता है कि आपके विदेश जाने राज आपके हथेली में छुपा है? क्या आप इस बात को मानते है कि हमारे हथेलियों की लकीर में छिपा है हमारे किस्मत का राज? यदि जवाब हां में है तो ठीक यदि...

और पढ़ें ➜

भाद्रपद - भादों...

हिन्दू पंचांग के अनुसार साल के छठे महीने को भाद्रपद अथवा भादों का महीना कहा जाता है। ये श्रावण माह के बाद और आश्विन माह से पहले आता है। सावन शंकर का महीना है तो भादों श्रीकृष्ण का ...

और पढ़ें ➜

भाई की सुख समृद...

हिंदू धर्म में कई तरह के रीति-रिवाज और परंपराएं विद्यमान है। दुनियाभर में भारत को त्योहारों का देश कहा जाता है, यहां आए दिन कोई न कोई पर्व मनाया जाता है। वहीं किसी भी तीज-त्योहार क...

और पढ़ें ➜