फेंगशुई के अनुसार घर में जरूर रखें ये 6 भाग्यशाली चीजें

अगर आपके घर में मनी प्लांट, लाफिंग बुद्धा या कछुआ है तो यह सब चीन की वास्तुकला फेंगशुई की देन है, क्योंकि फेंगशुई के अनुसार घर में सुख और समृद्धि लाने के लिए 6 भाग्यशाली वस्तुओं का प्रयोग किया जाता है। माना जाता है कि यह वस्तुएं आपके दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदल सकती हैं और साथ ही सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है। फेंगशुई को चीन ही नहीं अन्य देशों में भी काफी माना जाता है। भारतीय वास्तु शास्त्र के वायु और आकाश की जगह फेंगशुई में लकड़ी औऱ धातु को लिया जाता है। आज हम आपको फेंगुशई की कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताएंगे जिनको घर में रखने से आपके घऱ में लक्ष्मी की कृपा बरसने लगती है। 

 

यह लेख सामान्य आकलन के आधार पर हैं। यदि आप विस्तार से जानना चाहते हैं फेंगशुई से जुड़ी जानकारी तो एस्ट्रोयोगी पर भारत के सर्वश्रेष्ठ वास्तुशास्त्र ज्योतिषी से बात करें। बात करने के लिए यहां क्लिक करें।

 

लाफिंग बुद्धा

यदि आपको हमेशा फाइनेंस की दिक्कत बनी रहती है तो आपको फेंगशुई के अनुसार, अपने घर में लाफिंग बुद्धा को रखना चाहिए। फेंगशुई में लाफिंग बुद्धा को सौभाग्य का देवता कहा जाता है और उन्हें धन से जोड़कर देखा जाता है। कहा जाता है कि लॉफिंग बुद्दा को अगर आप अपने घर में लाते हैं तो आपका घर धन-धान्य से भरा रहता है। हालांकि लाफिंग बुद्धा को घर में सही दिशा में रखना चाहिए यानि कि इनकी मूर्ति को कभी भी मेनगेट के दरवाजे के पास नहीं रखना चाहिए बल्कि इसे लिविंग रूम में रखना चाहिए।  
 

गोल्डन फिश

भारतीय वास्तुशास्त्र के अनुसार भी घर में फिश एक्वेरियम को रखना शुभ माना जाता है। वहीं फेंगशुई के मुताबिक घर में गोल्डन फिश को रखने से जीवन में तरक्की मिलती है। फेंगशुई के अनुसार अगर मछलियों को लिविंग रूम में रखा जाए तो ये जीवन में सौभाग्य लाती हैं। वहीं रसोईघर और बेडरूम में मछलियों को रखने से दुर्भाग्य आता है। 

 

ड्रैगन का जोड़ा

फेंगशुई के मुताबिक, ड्रैगन को ताकत से जोड़कर देखा जाता है। अगर आप अपने घर में ड्रैगन का जोड़ा लेकर आते हैं तो आप शक्तिशाली व्यक्ति बनते हैं औऱ हर जगह आपका अहौदा सबसे ऊपर बना रहता है। आपके घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है और  आपको कभी भी धन की किल्लत नहीं रहती है। फेगशुई के अनुसार, ड्रैगन के जोड़े को घर की पूर्व दिशा में रखना काफी शुभ माना जाता है। 

 

समृद्धि लेकर आते हैं तीन सिक्के

फेंगशूई के मुताबिक, घर के मुख्य दरवाजे पर लाल रिबन से बंधे सिक्के लगाने से घर में सकारात्मक ऊर्जी बनी रहती है और भाग्योदय होता है। फेंगशुई के अनुसार, तीन सिक्के को लाल रंग के रिबन से बांधने पर धन लाभ होता है और जीवन में बरकत बनी रहती है। फेंगशुई के मुताबिक, लाल रिबन से बंधे इन सिक्के को केवल घर के मुख्य दरवाजे पर लगाना चाहिए और ये अंदर की ओर ही लगे होने चाहिए। अगर आप इन्हे बाहर की ओर लगाते हैं इसका असर घर के अंदर नहीं पहुंच पाता है। इसलिए आप हमेशा इ्न्हें मुख्य दरवाजे में अंदर की तरफ ही लगाएं। 

 

कछुआ

हिंदू धर्म के अनुसार भगवान विष्णु का एक रूप कच्छप था इसलिए घर पर कछुआ रखना शुभ माना जाता है। वहीं फेंगशुई में भी कछुए को धन से जोड़कर देखा जाता है। आप घर में कछुए को रखकर अपने भाग्य को आसानी से चमका सकते हैं। घर के अलावा ऑफिस में भी आप कछुए को रख सकते हैं। फेंगशुई के अनुसार, कछुए को रखने के लिए सबसे सही स्थान उत्तर दिशा होती है और घर में हमेशा एक ही कछुए को रखना चाहिए। 

 

तीन टांगों वाला मेंढक

फेंगशुई के अनुसार, तीन टांगों वाला मेढक जिसके मुंह में सिक्का हो उसे घर में रखना काफी लकी माना जाता है। कहा जाता है कि इसे घऱ के मुख्य दरवाजे के आसपास रखने से आपके बुरे दिन एकदम से खत्म हो जाते हैं और आपको हर कार्य में सफलता मिलने लगती है। हालांकि आप ध्यान रखें कि आप इसे अपने कमरे या रसोई में बिलकुल न रखें. 3 टांगों वाला मेंढक बहुत भाग्यशाली माना जाता है इसलिए इसे अपने घर के भीतर मुख्य दरवाजे के आसपास रखना चाहिए।


 

एस्ट्रो लेख

मार्गशीर्ष – जा...

चैत्र जहां हिंदू वर्ष का प्रथम मास होता है तो फाल्गुन महीना वर्ष का अंतिम महीना होता है। महीने की गणना चंद्रमा की कलाओं के आधार पर की जाती है इसलिये हर मास को अमावस्या और पूर्णिमा ...

और पढ़ें ➜

देव दिवाली - इस...

आमतौर पर दिवाली के 15 दिन बाद यानि कार्तिक माह की पूर्णिमा के दिन देशभर में देव दिवाली का पर्व मनाया जाता है। इस बार देव दिवाली 12 नवंबर को मनाई जा रही है। इस दिवाली के दिन माता गं...

और पढ़ें ➜

कार्तिक पूर्णिम...

हिंदू पंचांग मास में कार्तिक माह का विशेष महत्व होता है। कृष्ण पक्ष में जहां धनतेरस से लेकर दीपावली जैसे महापर्व आते हैं तो शुक्ल पक्ष में भी गोवर्धन पूजा, भैया दूज लेकर छठ पूजा, ग...

और पढ़ें ➜

तुला राशि में म...

युद्ध और ऊर्जा के कारक मंगल माने जाते हैं। स्वभाव में आक्रामकता मंगल की देन मानी जाती है। पाप ग्रह माने जाने वाले मंगल अनेक स्थितियों में मंगलकारी परिणाम देते हैं तो बहुत सारी स्थि...

और पढ़ें ➜