15 जून से 5 जुलाई 2010 – कठिन समय

03 जून 2010

जून 2010 को सूर्य मिथुन राशि में प्रवेश करेगा और उसके एक सप्ताह के भीतर ही 22 जून 2010 को बुध भी मिथुन राशि में आकर शनि के साथ दशम- चतुर्थसम्बन्ध बनाएगा। ये एक सप्ताह संसार के विभिन्न देशों के लिए कड़ी परिस्थितियाँ पैदा करेगा। अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, अफगानिस्तान, पाकिस्तान और म्यान्मार में इस दौरान कुछ चौंकाने वाली अप्रिय घटनाएँ होंगी।
19 जून से 5 जुलाई तका बुध का प्रभाव बहुत भयंकर होगा। लोगों में मतभेद, बहसबाजी, लड़ाई-झगड़े होंगे। देश- विदेश में प्राकृतिक आपदाएँ और आतंकी व नक्सली हिंसा पनपेगी। इस दौरान भारत में आतंकी व अत्याचारी ताकतों को बहुत बल मिलेगा और उनके हौंसले और अधिक मजबूत होंगे। ये समय विनाशकारी आतंकी परियोजनाएँ आगे बढ़ाने के लिए श्रेष्ठ है जिसका पूरा फायदा अत्याचारी एवं आतंकी ताकतों को मिलेगा।
इस दौरान कर्मचारी एवं अधिकारी वर्ग कुछ उलझन में ही रहेगा। प्रेम-संबंधों के लिए सुमय शुभ है। सेहत के लिए समय अनुकूल नहीं इसलिए अपने खान-पान और जीवनशैली का ध्यान रखना होगा। धन के मामले में ये समय प्रतिकूल है, खर्चे अधिक और आय कम।


एस्ट्रो लेख

जानें श्री लक्ष्मी पंचमी व्रत की कथा व पूजा विधि

मेष राशि में बुध ! शुभ या अशुभ? जानिए

माँ चंद्रघंटा - नवरात्र का तीसरा दिन माँ दुर्गा के चंद्रघंटा स्वरूप की पूजा विधि

गणगौर पूजा - गणगौर व्रत कथा व पूजा विधि

Chat now for Support
Support