गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त - जानें क्या हैं अगस्त में गृह प्रवेश के मुहूर्त?

23 जुलाई 2019

क्या आप अगस्त माह में अपने सपनों के महल में गृह प्रवेश की योजना बना रहें हैं। क्या आपने अभी तक इसके लिए कोई शुभ मुहूर्त नहीं तय किया है? क्या आप सबसे शुभ मुहूर्त में अपने ख्वाबों के आशियाने में दाखिल होना चाहते हैं? तो यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित होगा। मैं या आप कोई भी कार्य करने से पूर्व हम एक समय, दिन क्यों निर्धारित करते हैं? सीधी सी बात है कि वह काम अच्छे से हो जाए। काम के दौरान कोई विघ्न न आए। भविष्य भी उसका अच्छा हो। इन सभी बातों को ध्यान में रखकर आज हम आपके लिए यह लेख लेकर आए हैं। तो आइये जानते अगस्त में गृह प्रवेश के शुभ मुहूर्त के बारे में।

 

गृह प्रवेश पूजा करना कितना महत्वपूर्ण?

घर भारतीय समाज में मंदिर की तरह माना है। कोई भी व्यक्ति अपने नये घर में प्रवेश करने से पहले गृह प्रवेश के रस्म को पूरा करता है। क्या आपने कभी इस पर इस पर विचार किया है? ऐसा क्यों किया जाता है? कितना जरूरी है गृह प्रवेश पूजा? अक्सर देखने व सुनने में आता है कि आज फला व्यक्ति ने गृह प्रवेश पूजा रखा है या वे गृह प्रवेश करने जा रहे है। कभी कभार हम भी ऐसे आयोजनों का हिस्सा होते हैं और परिवार को शुभकामनाएं देते हैं। यहां तक की हम भी कोई कार्य करते हैं तो मुहूर्त देखना या निकलवाना नहीं भूलते हैं। पंचांग की सहायता से हम आसानी से दिन के शुभ मुहूर्त को जान सकते हैं। आज का पंचांग जानने के लिए यहां क्लिक करें। पंचांग से हमें ग्रह व नक्षत्र की गणना करके विभिन्न कार्यों के लिए शुभ घड़ी प्राप्त होती है। जिससे हम अपने  प्रस्तावित कार्य को अच्छे से संपन्न कर पाते हैं। उसी तरह गृह प्रवेश के लिए भी शुभ मुहूर्त देखा जाता है। ताकि घर में सुख समृद्धि व शांति बनी रहे। माना जाता है कि यदि अशुभ समय में यह कार्य किया जाएं तो घर में रहने वाले लोगों के जीवन में परेशानियां आती रहती है। उनके विकास में विघ्न खड़ा होता है। स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां आती रहती हैं। इसके साथ ही मन में नकारात्मक विचार भी जन्म लेते हैं।

क्या अगस्त में है गृह प्रवेश मुहूर्त?

अगस्त 2019 में इस बार एक भी गृह प्रवेश मुहूर्त नहीं है। जानकारों की माने तो चातुर्मास चलने के कारण ऐसा हुआ है। यह हर वर्ष लगता है। हिंदू धर्म में इस समय के दौरान कोई भी शुभ कार्य को करना वर्जित माना गया है। इन चार माह में व्यक्ति को केवल ईश्वर की आराधना, ध्यान व तप करना चाहिए। ऐसा कहा गया है। हर वर्ष देवशयनी एकादशी से चातुर्मास का आरंभ होता है। यहां जानइये देवशयनी एकादशी क्या है? व्रत के क्या हैं लाभ?

ज्योतिषीय परामर्श से कर सकते हैं गृह प्रवेश?

यदि आप अगस्त माह में ही गृह प्रवेश करने की योजना बना रहे हैं। तो आपको यहां रुक कर विचार करने की आवश्यकता है। क्या आप बिना मुहूर्त के गृह प्रवेश कर अपने जीवन में दुख अशांति व परेशानियों को प्रवेश करवाना चाहते हैं? नहीं ना तो हमारे पास एक उपाय है। यह उपाय आपको ज्योतिष से मिल सकता है। जी हां आपको इस समस्या का समाधान ज्योतिष से मिल सकता है। लेकिन इसके लिए आपको ज्योतिष से अपने कुंडली का आकलन करवाना होगा। इसके बाद ही ज्योतिष किसी निष्कर्ष तक पहुंच सकते हैं। आपके इस समस्या का समाधान दे सकते हैं। क्योंकि में आपके ग्रह नक्षत्र की स्थिति के आधार पर ज्योतिष यह गणना करके पता लगा सकते हैं कि आपके लिए कौन सा समय सही है कौन सा गलत। हो सकता है कि आपके लिए चातुर्मास में कोई मुहूर्त न हो लेकिन स्वयं से किसी परिणाम तक पहुंचना कितना सही होगा। इसलिए आपको एक बार जरूर ज्योतिष से परामर्श करना चाहिए। तो देर किस बात की अभी परामर्श करने के लिए यहां क्लिक करें।

एस्ट्रो लेख

नौकरी की चिंता है तो इसे पढ़ें राहत मिल सकती है!

बजट 2020 - कैसा रहेगा आपके लिये 2020 का आम बजट

साल 2020 नौकरी करने वालों के लिए कैसा रहेगा? जानिए राशिनुसार

किस राशि को मिलती है अच्छी नौकरी?

Chat now for Support
Support