IPL 2017 – MI vs RCB किस कप्तान का साथ देंगें ग्रह?

आईपीएल के दसवें सीज़न में मुबंई एक के बाद एक लगातार मिली जीत से खुश है तो आरसीबी आईपीएल 2017 की अंकतालिका में नीचले पायदान पर है और प्ले ऑफ में जाने की संभावनाओं पर भी उसके लिये विराम लग चुका है लेकिन विराट कोहली के नेतृत्व वाली आरसीबी अपने अंतिम मैचों में खोई हुई प्रतिष्ठा पाने का प्रयास अवश्य करेगी। वहीं मुंबई अंकतालिका में सर्वोच्च स्थान पर जरूर काबिज होना चाहेगी जिस पर अभी कोलकाता नाइट राइडर बैठी है। आज के मैच में दोनों टीमों के बीच मुकाबला कांटे का रहने की उम्मीद लगाई जा रही है लेकिन दोनों कप्तानों की कुंडली इस बारे में क्या कहती है आइये जानते हैं।

मुंबई इंडियन के कप्तान रोहित शर्मा की कुंडली

नाम – रोहित शर्मा

जन्मतिथि – 30 अप्रैल 1987

जन्म स्थान – नागपुर, महाराष्ट्र, भारत

जन्म समय – 00:00

उपरोक्त विवरण के अनुसार रोहित शर्मा की चंद्र राशि वृषभ है। वर्तमान में इनकी राशि में राहू की महादशा, केतु का अंतर तो चंद्रमा का प्रत्यंतर है। खेल के कारक ग्रह मंगल चंद्रमा के साथ एकादश भाव में विराजमान हैं। जो कि बहुत शुभ माने जाते हैं। चंद्रमा का उच्च का होना भी इनके आत्मविश्वास को बढ़ाने वाला है।

मैच के दिन रोहित शर्मा का चंद्रमा तीसरे घर में जो कि पराक्रम का स्थान माना जाता है हालांकि तीसरे स्थान के स्वामी बुध माने जाते हैं और बुध के घर में चंद्रमा का बैठना इन्हें थोड़ा आशंकित भी कर सकता है। लेकिन जन्मकुंडली में चंद्रमा का उच्च का होना इनके लिये जीत के प्रबल योग बनायेगा।

आरसीबी कप्तान विराट कोहली की कुंडली–

नाम – विराट कोहली

जन्मतिथि – 5 नवंबर 1988

जन्म समय – 10:28

जन्म स्थान – दिल्ली, भारत।

उपरोक्त विवरण के अनुसार विराट कोहली की राशि कन्या है। इस समय इन पर भी राहू की दशा चल रही है। पराक्रम के स्वामी की दृष्टि कार्यक्षेत्र पर पड़ रही है जिससे यह साथ देने वाले योग बना रहे हैं। लेकिन चंद्रमा का शून्य डिग्री पर बैठना मन में निराशा भी ला सकता है। इन्हें साथियों का अपेक्षित सहयोग मिलने की संभावनाएं भी कम हैं।

मैच के समय चंद्रमा मिथुन राशि में बुध के घर में होने से बुद्धि को भ्रमित कर सकता है। कुछ गलतफहमियों के कारण मैच आते-आते भी हाथ से निकल सकता है।

कुल मिलाकर टक्कर कांटे की रहने के आसार हैं। लेकिन विराट के ग्रहों का कमजोर होना और रोहित शर्मा के सितारे मजबूत होने से मुंबई पहले स्थान पर काबिज हो सकती है। हालांकि अनिश्चितताओं के इस खेल में किस खिलाड़ी के सितारे अचानक मेहरबान हो जायें कुछ कहा नहीं जा सकता। लेकिन आपकी कुंडली के ग्रहों की दशा क्या कहती है इस बारे में अवश्य कहा जा सकता है। जानने के लिये एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों से परामर्श करें।

एस्ट्रो लेख

प्रभु श्री राम ...

प्रभु श्री राम भगवान विष्णु के सातवें अवतार माने जाते हैं। भगवान विष्णु ने जब भी अवतार धारण किया है अधर्म पर धर्म की विजय हेतु लिया है। रामायण अगर आपने पढ़ी नहीं टेलीविज़न पर धाराव...

और पढ़ें ➜

भगवान श्री राम ...

रामायण और महाभारत महाकाव्य के रुप में भारतीय साहित्य की अहम विरासत तो हैं ही साथ ही हिंदू धर्म को मानने वालों की आस्था के लिहाज से भी ये दोनों ग्रंथ बहुत महत्वपूर्ण हैं। आम जनमानस ...

और पढ़ें ➜

अक्षय तृतीया 20...

हर वर्ष वैसाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि में जब सूर्य और चन्द्रमा अपने उच्च प्रभाव में होते हैं, और जब उनका तेज सर्वोच्च होता है, उस तिथि को हिन्दू पंचांग के अनुसार अत्यंत शु...

और पढ़ें ➜

वैशाख अमावस्या ...

अमावस्या चंद्रमास के कृष्ण पक्ष का अंतिम दिन माना जाता है इसके पश्चात चंद्र दर्शन के साथ ही शुक्ल पक्ष की शुरूआत होती है। पूर्णिमांत पंचांग के अनुसार यह मास के प्रथम पखवाड़े का अंत...

और पढ़ें ➜