Skip Navigation Links
जैकलिन फर्नांडीस, बॉलीवुड में एक चमकता सितारा


जैकलिन फर्नांडीस, बॉलीवुड में एक चमकता सितारा

जैकलिन फर्नांडीस एक श्रीलंकाई अभिनेत्री व मॉडल है जो हिन्दी फ़िल्मों में अभिनय के दम पर अपना लोहा मनवा चुकी हैं। साल 2010 में सर्वश्रेष्ठ नई अभिनेत्री का आईफा और स्टारडस्ट पुरस्कार, फ़िल्म ‘अलादीन’ के लिए यह प्राप्त कर चुकी हैं। सलमान खान की फिल्म 'किक'  में भी इनकी अदाकारी को लोगों ने काफी पसंद किया था। इस फिल्म को करने के बाद, हर कोई इनपर भरोसा करने लगा है। अभिनय के क्षेत्र में आने से पहले फर्नांडीस टीवी रिपोर्टर भी रह चुकी हैं। इनकी पहली फ़िल्म ‘अलादीन’ थी। साल 2011 में इनकी फ़िल्म ‘मर्डर’ और 2012 में ‘हाउस फुल-2’ की कामयाबी ने जैकलिन फर्नांडीस को एक कलाकर के रूप स्थापित कर दिया था।


आगामी 11 अगस्त को जैकलिन फर्नांडीस अपना 30 वां जन्मदिन मनाने जा रही है। इनके जन्मदिन के मौके पर, आइये एक नजर डालते हैं कि इनका आने वाला समय इनके लिए कैसा रहेगा-

नाम- जैकलिन फर्नांडीस

जन्म तिथि- 11 अगस्त 1985

जन्म स्थान- कोलंबो (श्रीलंका)

जन्म समय- (ज्ञात नहीं) 



लग्न- तुला, राशि-वृष, महादशा- गुरू, अंतरदशा- शनि, प्रत्यांतर- राहु, नक्षत्र- रोहिणी चरण चार


तुला लग्न में ब्रहस्पति का परिणाम कुछ अच्छा नहीं मिलता है। जैकलिन फर्नांडीस की कुंडली में भी ब्रहस्पति की भूमिका अच्छी नहीं है। ब्रहस्पति नीच का होकर, चौथे घर में आ गया है और यह शुभ संकेत नहीं होता है। चौथे घर में ब्रहस्पति का होना, घर, प्रॉपर्टी, फाइनेंस और धन सम्बंधित कुछ दिक्कतें पैदा करता है। अभी ब्रहस्पति की इस दशा के कारण जैकलिन फर्नांडीस को निजी मान-सम्मान और स्वास्थ्य को लेकर भी कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।


लेकिन ज्योतिषाचार्यों के अनुसार अच्छी ख़बर यह है कि इनकी कुंडली में ब्रहस्पति को छोड़ अन्य ग्रह इनका पूरा सपोर्ट कर रहे हैं। दशम का मंगल, समय-समय पर जैकलिन फर्नांडीस को मुश्किलों में सहायता कर रहा है।  


अगर जैकलिन फर्नांडीस की वर्ष कुंडली पर नज़र डालें तो इस वर्ष (आगामी समय) इनकी कुंडली में मंगल और शनि का मिलन ‘व्यय भाव’ के घर में हो रहा है। कुंडली के बारहवें घर को भारतीय वैदिक ज्योतिष में व्यय स्थान अथवा व्यय भाव कहा जाता है, इस घर में दोनों ग्रहों का मिलन, शायद जैकलिन फर्नांडीस के लिए अच्छा ना रहे। बहुत अधिक संघर्ष की संभावनायें बन रही हैं। कार्य के क्षेत्र में भी अड़चन और बाधाओं का सामना इनको करना पड़ सकता है।


एस्ट्रोयोगी की जैकलिन फर्नांडीस को सलाह है कि इस साल अपनी सेहत का ध्यान रखें। उपाय के तौर पर ब्रहस्पतिवार को पीली चीजों का दान व ॐ गुरुवे नमः मन्त्र का जाप, इनको लाभ पंहुचा सकता है। 10 मुखी रुद्राक्ष को अपने मंदिर में स्थापित किया जाए तो पीड़ा कम हो सकती है।


एस्ट्रोयोगी जैकलिन फर्नांडीस को इनके जन्मदिवस की बधाई देता है और उम्मीद करता है कि आगामी समय इनके लिए अच्छा रहेगा।

  




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

माँ चंद्रघंटा - नवरात्र का तीसरा दिन माँ दुर्गा के चंद्रघंटा स्वरूप की पूजा विधि

माँ चंद्रघंटा - नव...

माँ दुर्गाजी की तीसरी शक्ति का नामचंद्रघंटाहै। नवरात्रि उपासनामें तीसरे दिन की पूजा का अत्यधिक महत्व है और इस दिन इन्हीं के विग्रह कापूजन-आरा...

और पढ़ें...
माँ कूष्माण्डा - नवरात्र का चौथा दिन माँ दुर्गा के कूष्माण्डा स्वरूप की पूजा विधि

माँ कूष्माण्डा - न...

नवरात्र-पूजन के चौथे दिन कूष्माण्डा देवी के स्वरूप की ही उपासना की जाती है। जब सृष्टि की रचना नहीं हुई थी उस समय अंधकार का साम्राज्य था, तब द...

और पढ़ें...
दुर्गा पूजा 2017 – जानिये क्या है दुर्गा पूजा का महत्व

दुर्गा पूजा 2017 –...

हिंदू धर्म में अनेक देवी-देवताओं की पूजा की जाती है। अलग अलग क्षेत्रों में अलग-अलग देवी देवताओं की पूजा की जाती है उत्सव मनाये जाते हैं। उत्त...

और पढ़ें...
जानें नवरात्र कलश स्थापना पूजा विधि व मुहूर्त

जानें नवरात्र कलश ...

 प्रत्येक वर्ष में दो बार नवरात्रे आते है। पहले नवरात्रे चैत्र शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से शुरु होकर चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि ...

और पढ़ें...
नवरात्र में कैसे करें नवग्रहों की शांति?

नवरात्र में कैसे क...

आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से मां दुर्गा की आराधना का पर्व आरंभ हो जाता है। इस दिन कलश स्थापना कर नवरात्रि पूजा शुरु होती है। वैसे ...

और पढ़ें...