Skip Navigation Links
मंगल का राशि परिवर्तन – जानें किन राशियों पर रहेगी कृपा !


मंगल का राशि परिवर्तन – जानें किन राशियों पर रहेगी कृपा !

2 मई को मंगल ग्रह का गोचर मकर राशि में हो रहा है। मकर राशि में मंगल उच्च के माने जाते हैं। साथ ही मंगल वक्री शनि का साथ छोड़कर आगे बढ़े हैं तो निश्चित रूप से यह गोचर अधिकतर राशियों के लिये अनुकूल परिणाम लेकर आ सकता है। मेष व वृश्चिक राशि के मंगल अधिपति हैं तो उच्च के मंगल इनके लिये कुछ क्षेत्रों में विशेषरूप से सौभाग्यशाली रह सकते हैं। सभी 12 राशियों पर मंगल के इस गोचर का क्या प्रभाव रहेगा आइये जानते हैं राशिफल।


मंगल का राशि परिवर्तन – उच्च के मंगल हैं मंगलकारी

मेष

मेष राशि के स्वामी स्वयं मंगल हैं जो कि आपकी राशि से भाग्य स्थान में गोचररत वक्री शनि को छोड़कर कर्मभाव में उच्च के हो रहे हैं। कार्यक्षेत्र के लिये यह समय बहुत ही शुभ रहने के आसार हैं। पदोन्नति की उम्मीद इस समय कर सकते हैं। जो जातक नई नौकरी की तलाश में हैं या फिर कोई नया कारोबार शुरु करना चाहते हैं। किसी परियोजना में निवेश करना चाहते हैं उनके लिये समय लाभकारी योग बना रहा है। इस समय आपकी सेहत भी अच्छी बनी रहने के आसार हैं। लेकिन मातृ पक्ष के लिये यह समय थोड़ा कष्ट देने वाला रह सकता है।


वृषभ

मंगल आपकी राशि से भाग्य स्थान में प्रवेश कर रहे हैं। इस समय आपको भाग्य का पूरा सहयोग मिलने के आसार हैं। भाग्य स्थान में उच्च मंगल आपके लिये मांगलिक कार्य के योग भी बना रहे हैं। जमीन-जायदाद में निवेश करने में रूचि भी दिखा सकते हैं। हालांकि इस समय भाई बहनों से आपका वैचारिक मतभेद हो सकता है। लेकिन अपने कार्यों की व्यस्तता के चलते हो सकता है आप इन छोटी मोटी बातों की तरफ ध्यान ही न दें जो कि एक तरह से अच्छा ही है। जीवनसाथी से भी सहयोग की उम्मीद रख सकते हैं।


मिथुन

अष्टम भाव में मंगल मंगल का परिवर्तन बहुत ही सौभाग्यशाली नाम व प्रसिद्धि दिलाने वाला माना जाता है। आपकी राशि से मंगल आठवें भाव में ही आ रहे हैं। यह समय आपके करियर के लिये बहुत ही शुभ योग बना रहा है। इस समय आप अपने टैलेंट से अपनी प्रतिभा से नाम कमा सकते हैं। गत दिनों यदि आपने किसी परियोजना में धन निवेश किया है तो इस समय आपको उसका लाभ मिल सकता है। हालांकि आपमें अंहकार की भावना भी इस समय आ सकती है इससे बचने का प्रयास करें।


कर्क

आपकी राशि से मंगल सप्तम भाव में आ रहे हैं। रोमांटिक जीवन में आपके लिये मंगल परेशानी लेकर आ सकते हैं। लाइफ पार्टनर के साथ हो बहसबाजी हो सकती है जिससे आपके रिश्ते हो सकता है मधुर न रहें। हालांकि अविवाहित जातकों की रोमांटिक लाइफ के लिये समय अच्छा रहने के आसार हैं। करियर के मामले में भी समय अनुकूल कहा जा सकता है। यदि कहीं से धन प्राप्ति की उम्मीद है तो संभव है आपके पैसे निकल आयें।


सिंह

सिंह राशि वालों के लिये मंगल छठे घर में दाखिल होंगे। इस समय आपको अपनी सेहत में काफी सुधार महसूस हो सकता है। यदि पिछले कुछ दिनों से शारीरिक तौर पर अस्वस्थ चल रहे हैं तो यह समय सेहत के लिये लाभकारी है। प्रतिद्वंदियों पर भी इस समय आप हावि रहेंगें। साक्षात्कार आदि में शामिल होने वाले प्रतिभागियों के लिये काफी सकारात्मक समय रहने के आसार हैं। भाग्य का साथ भी आपको मिल सकता है। प्रोपर्टी के व्यवसाय से जुड़े जातकों के लिये भी समय विशेष रूप से सौभाग्यशाली रह सकता है।


कन्या

कन्या राशि वालों के लिये मंगल पंचम भाव में आ रहे हैं। शिक्षा, संतान, मित्रों व प्रेम संबंध के मामले में समय आपके लिये अनुकूल परिणाम लेकर आने वाला रह सकता है। कामकाजी जीवन में आपको नाम व प्रसिद्धि मिल सकती है। पदोन्नति की उम्मीद भी कर सकते हैं। लाभ प्राप्ति के भी नये अवसर आपको मिल सकते हैं। जो जातक किसी परियोजना में धन निवेश करने के इच्छुक हैं उनके लिये भी यह समय शुभ कहा जा सकता है।


तुला

आपकी राशि से मंगल का परिवर्तन चतुर्थ स्थान में हो रहा है जो कि आपके सुख भाव को दर्शाता है। सुख भाव में मंगल आपके लिये भूमि, मकान, वाहन आदि की खरीददारी के योग बना रहे हैं। छोटी मोटी यात्रा भी आपको करनी पड़ सकती है। कामकाजी जीवन में आपको थोड़ा संघर्ष करना पड़ सकता है। हालांकि व्यवसायी जातकों के लिये लाभ प्राप्ति का समय कहा जा सकता है। पर्सनल लाइफ खासकर दांपत्य जीवन में आपको थोड़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। माता की देखभाल अवश्य करें उनके लिये भी मंगल कष्टप्रद रह सकते हैं।


वृश्चिक

आपकी राशि के स्वामी मंगल आपकी राशि से पराक्रम भाव में उच्च के होकर गोचर करेंगें। प्रोफेशनली यह समय आपके लिये बहुत ही सकारात्मक रहने के आसार हैं। कार्यस्थल पर माहौल अनुकूल बने रहने के आसार हैं। आपके पराक्रम में वृद्धि हो सकती है जिससे संभव है कार्यस्थल पर आपका प्रदर्शन भी बेहतर रहे। कार्यक्षेत्र में कोई नई जिम्मेदारी भी आपको इस समय मिल सकती है। आप अपने प्रतिद्वंदियों पर हावि रह सकते हैं साथ ही स्वास्थ्य में भी सुधार महसूस कर सकते हैं। भाई बहनों का सहयोग मिलने की उम्मीद भी इस समय कर सकते हैं। हालांकि भाग्य मध्यम रहने के आसार हैं।


धनु

आपकी राशि से मंगल का परिवर्तन दूसरे भाव में हो रहा है जो कि मंगल की उच्च राशि भी है। धन के मामले में यह समय अच्छा रहने के आसार हैं। भाग्य का साथ भी आपको मिलेगा लेकिन पंचम भाव में सूर्य के होने व मंगल की दृष्टि पड़ने कहीं न कहीं संबंध व संतान को लेकर आपके सामने कोई परेशानी खड़ी हो सकती है। इस समय यात्रा के योग भी आपके लिये बन रहे हैं लेकिन यात्रा के दौरान सावधान रहें।


मकर

मंगल का परिवर्तन आपकी ही राशि को हो रहा है। उच्च के मंगल आपके लिये मांगलिक कार्यों में शामिल होने के योग बना रहे हैं। जो जातक लंबे समय से घर या गाड़ी खरीदने के लिये प्रयासरत हैं उन्हें सफलता मिल सकती है। इस समय आप किसी लंबी यात्रा के लिये भी निकल सकते हैं। हालांकि स्वास्थ्य को लेकर आप चिंतित हो सकते हैं। माता से भी आपके संबंध हो सकता है अनुकूल न रहें। दांपत्य जीवन में भी यह समय परेशानी वाला रह सकता है।


कुंभ

कुंभ राशि वालों के लिये मंगल का परिवर्तन 12वें भाव में हो रहा है। इस समय आप जमीन जायदाद संबंधी मामलों में धन खर्च कर सकते हैं। निवेश करने के मामलों में सावधानी बरतें। एक गलत निर्णय धन हानि का कारण बन सकता है जिसकी की संभावनाएं भी नज़र आ रही हैं। आपके पराक्रम में इस समय वृद्धि रहने के आसार हैं। हालांकि घरेलु जीवन में यह समय परेशानियों वाला रह सकता है हो सकता है परिजनों के साथ आपके संबंध मधुर न रहें। शत्रु व रोग का भय भी आपको सता सकता है।


मीन

मीन राशि वालों के लिये मंगल लाभ घर में उच्च के हो रहे हैं। कार्यक्षेत्र व व्यवसाय में मंगल आपके लिये वृद्धि के योग बना रहे हैं। संचित धन में भी आप इस समय वृद्धि देख सकते हैं। व्यावसायिक प्रतिद्वंदियों पर भी आप हावि रह सकते हैं। हालांकि प्रेम संबंधों व संतान के साथ यह समय हो सकता है अनुकूल न रहे।

यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन के आधार पर लिखा गया है। यदि आप अपने बारे में कुछ अलग महसूस कर रहे हैं तो एस्ट्रोयोगी पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से परामर्श लें। अभी बात करने के लिये यहां क्लिक करें।




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

शुक्र मार्गी - शुक्र की बदल रही है चाल! क्या होगा हाल? जानिए राशिफल

शुक्र मार्गी - शुक...

शुक्र ग्रह वर्तमान में अपनी ही राशि तुला में चल रहे हैं। 1 सितंबर को शुक्र ने तुला राशि में प्रवेश किया था व 6 अक्तूबर को शुक्र की चाल उल्टी हो गई थी यानि शुक्र वक्र...

और पढ़ें...
वृश्चिक सक्रांति - सूर्य, गुरु व बुध का साथ! कैसे रहेंगें हालात जानिए राशिफल?

वृश्चिक सक्रांति -...

16 नवंबर को ज्योतिष के नज़रिये से ग्रहों की चाल में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव हो रहे हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ग्रहों की चाल मानव जीवन पर व्यापक प्रभाव डालती है। इस द...

और पढ़ें...
कार्तिक पूर्णिमा – बहुत खास है यह पूर्णिमा!

कार्तिक पूर्णिमा –...

हिंदू पंचांग मास में कार्तिक माह का विशेष महत्व होता है। कृष्ण पक्ष में जहां धनतेरस से लेकर दीपावली जैसे महापर्व आते हैं तो शुक्ल पक्ष में भी गोवर्धन पूजा, भैया दूज ...

और पढ़ें...
गोपाष्टमी 2018 – गो पूजन का एक पवित्र दिन

गोपाष्टमी 2018 – ग...

गोपाष्टमी,  ब्रज  में भारतीय संस्कृति  का एक प्रमुख पर्व है।  गायों  की रक्षा करने के कारण भगवान श्री कृष्ण जी का अतिप्रिय नाम 'गोविन्द' पड़ा। कार्तिक शुक्ल ...

और पढ़ें...
देवोत्थान एकादशी 2018 - देवोत्थान एकादशी व्रत पूजा विधि व मुहूर्त

देवोत्थान एकादशी 2...

देवशयनी एकादशी के बाद भगवान श्री हरि यानि की विष्णु जी चार मास के लिये सो जाते हैं ऐसे में जिस दिन वे अपनी निद्रा से जागते हैं तो वह दिन अपने आप में ही भाग्यशाली हो ...

और पढ़ें...