दीपक जलाते समय करें इस मंत्र का जाप, मिलेगा लाभ!

bell icon Thu, Sep 05, 2019
टीम एस्ट्रोयोगी टीम एस्ट्रोयोगी के द्वारा
दीपक जलाते समय करें इस मंत्र का जाप, मिलेगा लाभ!

हर कोई विधिवत ही बिना किसी विघ्न व त्रुटी के अपनी पूजा पूर्ण करने की कोशिश करता है। कितना भी कोई नहीं चाहता की उसके पूजा में किसी तरह की कमी आए या रह जाए। क्या आप दीपक जलाते समय मंत्र का उच्चारण करते हैं। क्योंकि दीप प्रज्वलित करने समय भी मंत्र का उच्चारण करना शास्त्रों में बताया गया है। इससे पूजा का फल बढ़ जाता है। साथ ही घर में सुख समृद्धि का भी वास होता है। इस लेख में हम आपको दीप प्रज्वलन के समय न किन गलतियों को करने से बचना चाहिए। साथ ही दीप प्रज्वलित करते समय किस मंत्र का उच्चारण करना इस बारे में बताएंगे। तो आइये जानते हैं। दीप प्रज्वलन मंत्र व विधि के बारे में-

दीपक व धार्मिक मान्यता

हिंदू धर्म वेदों व शास्त्रों में दीपक जलाने की परम्परा के बारे में विस्तार से उल्लेख किया गया हैं। धार्मिक मान्यता में के अनुसार दीपक जलाना बेहद शुभ है। क्योंकि विषम संख्याओ  को शुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि दीपक प्रज्वलित करके हम अपने जीवन के अज्ञान व अंधकार को मिटाकर अपने जीवन में ज्ञान व प्रकाश भरते हैं। हिंदू धर्म हर शुभ कार्य में दीपक जलाना अनिवार्य व शुभ माना गया है। कहा जाता है कि आरती किए बिना दीपक जलाने से भी भवन में सुख शांति व समृद्धि आती है और लक्ष्मी का वास होता है।

दीपक जलाते समय रखें इन बातों का ध्यान

सबसे पहले तो आपको ये देखना है कि जिस दीपक को जलाने जा रहे हैं वह कहीं से खंडित न हो ऐसा होने से आपको लाभ के जगह हानि का सामना करना पड़ेगा। पूजा व भी खंडित हो जाएगी। इसके बाद यह ध्यान दे कि आप दीपक का मुख पूर्व दिशा में जला कर रख रहे हैं। यदि आप दक्षिण दिशा में दीपक जला कर रखते हैं। तो इससे आपको धन की हानि होगी। घर में नकारात्मक शक्ति भी आएगी। राशिनुसार दीप प्रज्वलन करने का ज्योतिषीय महत्व जानने के लिए बात करें देश के प्रसिद्ध ज्योतिशाचार्यों से।

दीप प्रज्वलन मंत्र

दीपज्योति: परब्रह्म: दीपज्योति: जनार्दन:।

दीपोहरतिमे पापं संध्यादीपं नामोस्तुते।।

शुभं करोतु कल्याणमारोग्यं सुखं सम्पदां।

शत्रुवृद्धि विनाशं च दीपज्योति: नमोस्तुति।।

 

मंत्र का अर्थ - दीपक की ज्योति ही ब्रह्मा व परमेश्वर है। पाप का नाश करने वाली दीपक की ज्योति को मेरा नमस्कार। कल्याण करने वाले शत्रु के भय को खत्म करने और घर में सुख समृद्धि का वास करने वाली ज्योति को मेरा प्रणाम।

मंत्रोच्चारण कर दीपक जलाने के लाभ

मंत्रोच्चारण कर दीपक जलाने के कई लाभ है जिसमें से कुछ हम आपके सामने प्रस्तुत कर रहे हैं जो इस प्रकार हैं -

घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार

दीपक जाने से घर में से हो अंधकार का नाश होता ही है साथ ही इससे घर में उपस्थित नकारात्मक शक्ति का भी अंत होता है। घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। घर में रहने वाले लोगों की बुद्धि में अच्छे विचार जन्म लेते हैं।

घर में सुख समृद्धि का वास

सनातन धर्म हिंदू के अनुसार जिस घर में सुबह शाम दीपक प्रज्वलित किया जाता है उस घर में कभी भी अंधकार नहीं होता साथी घर में रहने वालों पर मां लक्ष्मी की कृपा बनती है जिससे घर में निवास करने वाले जातक के जीवन में सुख-समृद्धि का वास होता है।

शत्रुओं का होता है नाश

इस मंत्र का उच्चारण कर दीपक जलाने से ऐसी मान्यता है कि शत्रु का नाश होता है साथ ही घर में रहने वालों के भीतर से विरोधियों का भय भी समाप्त हो जाता है। जातक का आत्मबल भी मजबूत होता है।

हानिकारक कणों का होता है नाश

यदि आप समझते हैं कि दीपक जलाना केवल धार्मिक नजरिए से फायदेमंद है तो आप यहां गलत है जी हां दीपक जलाने का वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी काफी लाभदायक माना जाता है। एक रिसर्च से पता चला है कि शुद्ध देशी घी या सरसों के तेल से प्रतिदिन घर में दीप प्रज्वलित किया जाए तो इससे निकले वारे लौ व धुएं से घर का माहौल सात्विकता बनता है साथ ही आसपास का वातावरण हानिकारक कणों से मुक्त होता है यानी की वातावरण प्रदूषण मुक्त बनता है।

 

chat Support Chat now for Support
chat Support Support