Skip Navigation Links
मीन राशि में वक्री बुध शुभ रहेंगें या अशुभ ? जानें राशिफल


मीन राशि में वक्री बुध शुभ रहेंगें या अशुभ ? जानें राशिफल

मीन राशि में बुध नीच राशि के माने जाते हैं जबकि कन्या में वह उच्च के होते हैं। 3 मार्च से बुध का गोचर मीन राशि में हो रहा है। 23 मार्च को बुध की चाल में एक बड़ा परिवर्तन हो रहा है। इस समय बुध की चाल वक्री यानि उल्टी हो जायेगी। बुध 15 अप्रैल तक विपरीत दिशा में चलेंगें व इसके बाद उनकी चाल में पुन: परिवर्तन आयेगा व वे मार्गी होकर गोचर करने लगेंगें। ऐसे में सभी 12 राशियों पर वक्री बुध शुभ-अशुभ प्रभाव डालने वाले परिणाम लेकर आते हैं। बुध के वक्री होने आपकी राशि में क्या कुछ उल्टा-पुल्टा या फिल सीधा होने वाला है। आइये जानते हैं राशिफल।


वक्री बुध का असर आपकी राशि पर

मेष

आपकी राशि से बुध 12वें स्थान में वक्री हो रहे हैं। नीच राशि में बुध का वक्री होना आपके लिये कुछ सुखद परिणाम लेकर आ सकता है। आपके कामकाज में तेजी आ सकती है। आप कुछ ज्यादा ही उत्साहित, ज्यादा ही उत्सुक नज़र आ सकते हैं। हालांकि वक्री बुध के प्रभाव से जातक कई बार जल्दबाजी में निर्णय ले लेते हैं जिसके लिये उन्हें बाद में पछताना पड़ सकता है। इस समय आप भी ऐसी किसी जल्दबाजी या आवेश से बचकर रहें। धार्मिक कार्यों की ओर आपका रूझान बढ़ने के आसार भी इस समय आपके लिये बन रहे हैं।


वृष

वर्तमान में बुध आपकी राशि से लाभ घर में राशि स्वामी शुक्र व सूर्य के साथ गोचर कर रहे हैं। इसी स्थान में बुध के वक्री हो जाने से लाभ में कमी आने की संभावनाएं हैं। फाइनेंशियल डीसीज़न सोच समझकर लेने पड़ेंगें। हालांकि संयोग आपकी उम्मीद से कहीं ज्यादा लाभ होने के भी बन सकते हैं बशर्ते विवेक से काम लेने के साथ-साथ वाणी में विनम्रता रखें। आपका रूझान दार्शनिक, आध्यात्मिक विषयों की ओर भी बढ़ सकता है। रहस्यों को जानने में भी आपकी रूचि हो सकती है। नाम व शोहरत पाने के लिये भी कदम बढ़ा सकते हैं।


मिथुन

आपकी राशि के स्वामी बुध हैं जो कर्मभाव में नीच अवस्था में वक्री हो रहे हैं। कामकाजी जीवन में आपको कुछ बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि आप अपनी मेहनत और साहस से इन बाधाओं को पार करने का सामर्थ्य भी रखते हैं। घर के बड़े बुजूर्गों का सहयोग आपको इस समय में मिल सकता है। पैतृक संपत्ति से लाभ मिलने के योग भी बन रहे हैं। कुछ पुराने शत्रु फिर से सामने आ सकते हैं इसलिये थोड़ा सचेत भी रहें।


कर्क

आपकी राशि से बुध नवम भाव में वक्री हो रहे हैं जो कि आपके भाग्य का स्थान माना जाता है। हालांकि नीच अवस्था में बुध के वक्री होने से आपके लिये यह कुछ अच्छे समाचार भी लेकर आ सकते हैं। इस समय आप अपनी सूझ बूझ का परिचय दे सकते हैं। यात्रा के योग भी आपके लिये बन सकते हैं। कम्यूनिकेशन स्किल अच्छी रहने के आसार हैं। आपकी सुख सुविधाओं में भी इस वक्री बुध कुछ इजाफा कर सकते हैं।


सिंह

अष्टम भाव में नीच होकर गोचर कर रहे बुध का वक्री होना आपके लिये सकारात्मक परिणाम लाने वाला रह सकता है। स्वास्थ्य का लाभ आपको मिलने के आसार हैं। जोखिम वाले क्षेत्र में धन निवेश किया है तो उससे अनपेक्षित लाभ आपको मिल सकता है। संतान का सुख भी आपको इस समय प्राप्त हो सकता है। घर से लेकर दफ्तर तक आपके मान-सम्मान व प्रतिष्ठा में वृद्धि होने के योग भी हैं।


कन्या

बुध आपकी राशि के स्वामी भी हैं जो कि आपकी राशि से सप्तम भाव में वक्री हो रहे हैं। रोमांटिक लाइफ खासकर विवाहित जातकों के लिये अपने रिश्ते को मधुर बनाए रखने व उनमें प्यार का रंग भरने का समय है। हालांकि आपको अपने स्वभाव में आने वाले चेंज का थोड़ा ध्यान रखने की आवश्यकता रहेगी। चिड़चिड़ेपन को त्याग कर खुशमिज़ाज रहें। दूसरों के चेहरों पर भी प्रसन्नता लायें। कामकाजी जीवन से निराश चल रहे हैं तो इस समय इससे उभरने का प्रयास कर सकते हैं। हो सकता है आपको अनपे प्रयास में सफलता मिले।


तुला

तुला राशि वालों के लिये बुध छठे स्थान में वक्री हो रहे हैं जिससे आपके मूड थोड़ा खराब हो सकता है। आप थोड़े चिड़चिड़े स्वभाव के इस समय रह सकते हैं। दूसरे से बात भी हो सकता है रुखाई से करें। व्यावसायिक तौर पर पार्टनर से बातचीत करते समय थोड़ी सतर्कता बरतें। प्रतिस्पर्धियों की चुनौतियों का सामना करने में सक्षम रह सकते हैं। कलाक्षेत्र से जुड़े जातक इस समय थोड़े निरुत्साहित रह सकते हैं। स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने के लिये नियमित रूप से व्यायाम के लिये समय निकालें। ध्यान एवं योग क्रियाएं करने से मन को शांति मिल सकती है।


वृश्चिक

आपकी राशि से बुध पांचवे स्थान में वक्री हो रहे हैं। वक्री बुध के दौरान आपको मिले जुले परिणाम मिलने के आसार हैं। पर्सनल लाइफ अच्छी रहने के आसार हैं। खासकर रोमांटिक लाइफ में आपको अपने पार्टनर का पूरा सहयोग मिल सकता है। यदि हाल ही में पार्टनर से आपकी किसी बात को लेकर नाराजगी है तो इस समय वह दूर हो सकती है। डिसीज़न लेने में आप काफी सूझ-बूझ से काम ले सकते हैं। किसी नये कार्य या परियोजना की शुरुआत करने के लिये भी अच्छे से विचार-विमर्श के बाद ही आगे बढ़ें। अनपेक्षित स्त्रोत से धन प्राप्ति की संभावनाएं। इस समय आप चीज़ों को थोड़ा विस्तार से जानने व गहन अध्ययन करने में भी रुचि ले सकते हैं।


धनु

आपकी राशि से चतुर्थ स्थान में बुध वक्री हो रहे हैं। सामर्थ्य के बावजूद सुख सुविधाओं की कमी खल सकती है। यात्रा के दौरान भी किसी असुविधा का सामना करना पड़ सकता है हालांकि यह स्थिति स्थाई नहीं बल्कि क्षणिक ही रहेगी। फाइनेशियली आपके लिये अच्छा समय कहा जा सकता है। अचानक से धन प्राप्ति के योग भी आपके लिये बन सकते हैं। आत्मालोचना करने का यह सही समय है इस समय आप अपने कमजोर व मजबूत पक्ष को अच्छे से पहचान सकते हैं।


मकर

मकर राशि वालों के लिये बुध तृतीय स्थान में वक्री हो रहे हैं। घरेलु जीवन में यदि गत दिनों कलह का माहौल रहा है तो कुछ शांति मिल सकती है। परिजनों से रिश्ते सुधरने की उम्मीद भी इस समय मे कर सकते हैं। फाइनेशियल कंडीशन भी पहले से बेहतर होने की संभावनाएं हैं। इस समय आप कोई बड़ा व महत्वपूर्ण निर्णय भी ले सकते हैं। यह आपके लिये एक साहसी कदम भी हो सकता है। इस समय आपको लक्ष्य दिखाई तो आसान देंगे लेकिन उन तक पंहुचने के लिये आपको काफी पसीना बहाने की आवश्यकता रहेगी। इसलिये मेहनत करने से कतराने से बात नहीं बनेगी। जितनी ज्यादा मेहनत करेंगें उतने ही सकारात्मक परिणाम आपको मिलेंगें। प्रोपर्टी संबंधी लेन-देन के मामलों में थोड़ा सावधानी रखें। किसी विवाद वाली संपत्ति की सौदेबाजी में न ही पड़ें तो बेहतर रहेगा।


कुंभ

बुध आपकी राशि से धन भाव में वक्री हो रहे हैं। फाइनेंशियली कुछ लॉस होने के आसार हैं इसलिये धन निवेश करने के मामले में सतर्क रहें। जोखिम वाले कार्यों में निवेश न ही करें तो बेहतर रहेगा। साधन संपन्न होने के बावजूद भी हो सकता है आपको चैन न मिले। विद्यार्थियों की लिये भी यह समय थोड़ा टेंशन वाला रह सकता है। खासकर जो छात्र बाहर पढ़ने की इच्छा रखते हैं या फिर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं वे थोड़े चिंतित रह सकते हैं।


मीन

बुध आपकी ही राशि में वक्री हो रहे हैं। आपकी राशि में बुध नीच तो शुक्र उच्च होकर गोचर कर रहे हैं इनके साथ ही सूर्य भी आपकी राशि में विराजमान हैं। इस समय घर में किसी मांगलिक कार्य का आयोजन हो सकता है। पर्सनल लाइफ में भी कोई टेंशन चल रही है तो इस समय राहत मिल सकती है। आपका रूझान थोड़ा धार्मिक भी हो सकता है। जो जातक प्रतिस्पर्धी प्रतियोगिताओं की तैयारी में जुटे हैं उन्हें कोई शुभ समाचार मिल सकता है। आपके लिये सलाह है कि किसी भी निर्णय को लेने में जल्दबाजी न दिखाएं।

यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन के आधार पर लिखा गया है। अपनी कुंडली के अनुसार बुध के प्रभाव जानने के लिये आप एस्ट्रोयोगी पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से गाइडेंस ले सकते हैं।


यह भी पढ़ें

ग्रह गोचर 2018   |   बुध कैसे बने चंद्रमा के पुत्र ? पढ़ें पौराणिक कथा   |   बुध का मीन राशि में परिवर्तन - जानें अपना राशिफल




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

शुक्र मार्गी - शुक्र की बदल रही है चाल! क्या होगा हाल? जानिए राशिफल

शुक्र मार्गी - शुक...

शुक्र ग्रह वर्तमान में अपनी ही राशि तुला में चल रहे हैं। 1 सितंबर को शुक्र ने तुला राशि में प्रवेश किया था व 6 अक्तूबर को शुक्र की चाल उल्टी हो गई थी यानि शुक्र वक्र...

और पढ़ें...
वृश्चिक सक्रांति - सूर्य, गुरु व बुध का साथ! कैसे रहेंगें हालात जानिए राशिफल?

वृश्चिक सक्रांति -...

16 नवंबर को ज्योतिष के नज़रिये से ग्रहों की चाल में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव हो रहे हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ग्रहों की चाल मानव जीवन पर व्यापक प्रभाव डालती है। इस द...

और पढ़ें...
कार्तिक पूर्णिमा – बहुत खास है यह पूर्णिमा!

कार्तिक पूर्णिमा –...

हिंदू पंचांग मास में कार्तिक माह का विशेष महत्व होता है। कृष्ण पक्ष में जहां धनतेरस से लेकर दीपावली जैसे महापर्व आते हैं तो शुक्ल पक्ष में भी गोवर्धन पूजा, भैया दूज ...

और पढ़ें...
गोपाष्टमी 2018 – गो पूजन का एक पवित्र दिन

गोपाष्टमी 2018 – ग...

गोपाष्टमी,  ब्रज  में भारतीय संस्कृति  का एक प्रमुख पर्व है।  गायों  की रक्षा करने के कारण भगवान श्री कृष्ण जी का अतिप्रिय नाम 'गोविन्द' पड़ा। कार्तिक शुक्ल ...

और पढ़ें...
देवोत्थान एकादशी 2018 - देवोत्थान एकादशी व्रत पूजा विधि व मुहूर्त

देवोत्थान एकादशी 2...

देवशयनी एकादशी के बाद भगवान श्री हरि यानि की विष्णु जी चार मास के लिये सो जाते हैं ऐसे में जिस दिन वे अपनी निद्रा से जागते हैं तो वह दिन अपने आप में ही भाग्यशाली हो ...

और पढ़ें...