Skip Navigation Links
ग्रह गोचर जुलाई 2018 - कैसे बदल रही है जुलाई माह में ग्रहों की चाल? जानिए


ग्रह गोचर जुलाई 2018 - कैसे बदल रही है जुलाई माह में ग्रहों की चाल? जानिए

ग्रह गोचर जुलाई 2018 - जुलाई माह में ग्रहों की चाल में क्या बदलाव होने वाले हैं? सूर्य का गोचर किस राशि में हो रहा है तो कब सूर्य अपनी राशि बदलेंगें। बुध ग्रह, शुक्र ग्रह, बृहस्पति यानि गुरु ग्रह, मंगल, शनि, चंद्रमा, राहू केतु किस राशि में गोचर कर रहे हैं। इस लेख में यह सारी जानकारियां आपको मिलेगी।

जुलाई माह का आरंभ मीन लग्न व मकर राशि में हो रहा है। इस माह के लग्न स्वामी गुरु बनते हैं जो कि लग्न से अष्टम भाव में वक्री होकर गोचर कर रहे हैं।

माह के लग्न से लाभ घर में चंद्रमा व मंगल केतु के साथ विचरण कर रहे हैं।

पंचम में शुक्र व बुध के साथ राहू विराजमान हैं।

सुख भाव में सूर्य का गोचर है

कर्मभाव में शनि वक्री चल रहे हैं।

अब एक नज़र डाल लेते हैं जुलाई माह में होने वाले ज्योतिषीय घटनाक्रमों की यानि ग्रहों की चाल में होने वाले बदलावों की।


ग्रहों की चाल

इस माह सूर्य मिथुन राशि में चल रहे हैं जो कि 15 जुलाई तक मिथुन में ही रहेंगें। इसके पश्चात 16 जुलाई से लेकर 15 अगस्त तक सूर्य चंद्रमा की राशि कर्क में रहेंगें। हालांकि कर्क राशि में ही राहू भी विराजमान हैं जिस कारण ग्रहण दोष भी बन रहा है।

बुध भी 25 जून से कर्क राशि में गोचर करने लगेंगें जो कि यहां पर 1 सितंबर 2018 तक रहने वाले हैं। 15 जुलाई के पश्चात सूर्य जैसे ही कर्क में आयेंगें तो बुधादित्य योग तो बनेगा लेकिन राहू की मौजूदगी उन्हें ग्रहण भी लगायेगी।

मंगल ग्रह की बात करें तो मंगल 27 जून से अपनी उच्च राशि मकर में वक्री हो गये हैं यानि मंगल की चाल उल्टी हो गई है। मंगल की चाल से भी काफी राशियों का हाल बदलने वाला है। मंगल का वक्री प्रभाव आपकी राशियों पर 28 अगस्त तक पड़ने वाला है। 

मंगल आपको राशिनुसार कैसे प्रभावित कर रहे हैं वीडियों देखने के लिये क्लिक करें

शुक्र ग्रह की बात करें तो शुक्र 5 जुलाई से सिंह राशि में गोचर करेंगें जहां वह 31 जुलाई तक गोचररत रहने वाले हैं।

गुरु ग्रह यानि कि बृहस्पति तुला राशि में वक्री होकर गोचर कर रहे हैं। लेकिन अच्छी बात यह है कि 10 जुलाई को बृहस्पति की चाल पुन: बदल जायेगी और वह सीधे यानि मार्गी होकर चलने लगेंगें। गुरु के प्रोग्रेसिव होने से भी आपके जीवन में काफी सकारात्मक बदलाव आ सकते हैं।

शनि ग्रह की बात करें तो वह अभी धनु राशि में वक्री चल रहे हैं और 6 सितंबर तक वक्री रहेंगें। 

मासिक राशिफल की वीडियो देखने के लिये क्लिक करें


यह भी पढ़ें

ग्रह गोचर 2018   |   शुक्र का सिंह राशि में गोचर   |   वक्री हुए मंगल क्या होगा प्रभाव   |




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

शुक्र मार्गी - शुक्र की बदल रही है चाल! क्या होगा हाल? जानिए राशिफल

शुक्र मार्गी - शुक...

शुक्र ग्रह वर्तमान में अपनी ही राशि तुला में चल रहे हैं। 1 सितंबर को शुक्र ने तुला राशि में प्रवेश किया था व 6 अक्तूबर को शुक्र की चाल उल्टी हो गई थी यानि शुक्र वक्र...

और पढ़ें...
वृश्चिक सक्रांति - सूर्य, गुरु व बुध का साथ! कैसे रहेंगें हालात जानिए राशिफल?

वृश्चिक सक्रांति -...

16 नवंबर को ज्योतिष के नज़रिये से ग्रहों की चाल में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव हो रहे हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ग्रहों की चाल मानव जीवन पर व्यापक प्रभाव डालती है। इस द...

और पढ़ें...
कार्तिक पूर्णिमा – बहुत खास है यह पूर्णिमा!

कार्तिक पूर्णिमा –...

हिंदू पंचांग मास में कार्तिक माह का विशेष महत्व होता है। कृष्ण पक्ष में जहां धनतेरस से लेकर दीपावली जैसे महापर्व आते हैं तो शुक्ल पक्ष में भी गोवर्धन पूजा, भैया दूज ...

और पढ़ें...
गोपाष्टमी 2018 – गो पूजन का एक पवित्र दिन

गोपाष्टमी 2018 – ग...

गोपाष्टमी,  ब्रज  में भारतीय संस्कृति  का एक प्रमुख पर्व है।  गायों  की रक्षा करने के कारण भगवान श्री कृष्ण जी का अतिप्रिय नाम 'गोविन्द' पड़ा। कार्तिक शुक्ल ...

और पढ़ें...
देवोत्थान एकादशी 2018 - देवोत्थान एकादशी व्रत पूजा विधि व मुहूर्त

देवोत्थान एकादशी 2...

देवशयनी एकादशी के बाद भगवान श्री हरि यानि की विष्णु जी चार मास के लिये सो जाते हैं ऐसे में जिस दिन वे अपनी निद्रा से जागते हैं तो वह दिन अपने आप में ही भाग्यशाली हो ...

और पढ़ें...