Mother’s Day Special - इस मदर्स डे पर कैसे करें मां को प्रसन्न

मई के माह में जैसे-जैसे दूसरा रविवार निकट आता है वैसे-वैसे हम अपनी मां को खुश करने के तरीकों के बारे में सोचने लगते हैं और सोचें भी क्यों न? भई दूसरा रविवार आखिरकार मां के नाम तो होता है। माता के सम्मान में ही तो पूरी दुनिया में इस दिन को कहीं मातृत्व रविवार, ममतामयी रविवार (Mothering Sunday) तो कहीं मदर्स डे के रूप में मनाया जाता है। कुल मिलाकर दुनिया भर में इस दिन सभी बच्चे अपनी मां का सम्मान करते हैं और जीवन भर अपनी निष्काम, निस्वार्थ भावना से उनका पालन पोषण करने के लिये अपनी मां का धन्यवाद करते हैं। कोई इस दिन कीमती उपहार भेंट करता है तो कोई कुछ और प्लान करता है। तो चलिये आपको बताते हैं कि इस मदर्स डे पर आप कैसे अपनी मां को प्रसन्न कर सकते हैं? कैसे आ सकती है उनके चेहरे पर हंसी?

अपनी कुंडली दिखाकर एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों से परामर्श कर जानें शंकाओं के समाधान। अभी बात करने के लिये यहां क्लिक करें।

दिखाएं अपने बचपन की झलकियां - बच्चे चाहे कितने ही बड़े क्यों न हो जायें वह मां बाप के लिये तो बच्चे ही रहते हैं लेकिन भले ही वे आपको बच्चे समझें आप रहते तो व्यस्क ही हैं। इसलिये मदर्स डे पर आप अपनी मां के साथ ढेर सारी बातें करें, उन्हें अपने बचपन की यादों में ले जायें, बचपन के रोमांचक किस्से याद दिलायें, यदि आप के भाई-बहन भी हैं तो उनके साथ मिलजुलकर कुछ ऐसा प्लान कर सकते हैं कि घर में ही माता के सामने अपने बचपन के किस्सों की कोई नाटिका प्रस्तुत करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो निश्चित ही आप अपनी मां के चेहरे पर जो हंसी व संतोष देखेंगें उससे आपको संतुष्टि होगी।

 

मां से करें प्यार का इज़हार – प्यार को सिर्फ एक ही रिश्ते में नहीं बांधा जा सकता बल्कि अपने दिल के करीब हर शख्स के सामने आप अपना प्यार जता सकते हैं। हालांकि मां के प्रति अपना प्यार जताने की जरूरत तो नहीं होती लेकिन अच्छी चीज़ों को करने में हर्ज ही क्या है। इसलिये अपनी मां के प्रति अपने प्यार का इज़हार करने में किसी तरह की हिचक न मानें। उन्हें किसी भी तरीके से यह अहसास करायें कि आप उन्हें कितना प्यार करते हैं या फिर आपकी जिंदगी में उनके मायने क्या हैं।

यह भी पढ़ें:  सनी लियोन  |   माधुरी दीक्षित जन्मदिन   |   अनुष्का शर्मा   |   स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2   |  कुंडली

 

पूरी करें उनकी अधूरी ख्वाहिशें – कोई भी मां अपने बच्चों को उपहार देने के लिये नहीं कहती। आप अपनी मर्जी से भले ही उन्हें कुछ लाकर दे दें। लेकिन यह बहुत बड़ा संकट होता है कि उन्हें गिफ्ट के तौर पर क्या दिया जाये। हमारे वश में हो तो हम पूरी दुनिया उनके कदमों में बिछा दें लेकिन उपहार भी अपने सामर्थ्यनुसार ही देना पड़ता है और उसकी सार्थकता तभी हो सकती है जब उससे मां को खुशी मिले। तो इसके लिये आपको अपनी मां के बारे में सोचने की आवश्यकता होती है। कभी-कभी आम तौर पर हमसे बातें करते हुए वे कुछ इच्छाएं जाहिर कर सकती हैं। अपनी कुछ अधूरी ख्वाहिशों को सामने रख देती हैं। बस आपको इन्हीं चीज़ों की पहचान करनी है और इस मदर्स डे पर कम से कम उनकी किसी एक इच्छा को पूरा करें।

यदि आप ऐसा करने में सफल होते हैं तो आप महसूस करेंगें कि आपने अपनी मां को दुनिया का सबसे अच्छा उपहार दिया है।

 

एस्ट्रो लेख

पितृपक्ष के दौर...

भारतीय परंपरा और हिंदू धर्म में पितृपक्ष के दौरान पितरों की पूजा और पिंडदान का अपना ही एक विशेष महत्व है। इस साल 13 सितंबर 2019 से 16 दिवसीय महालय श्राद्ध पक्ष शुरु हो रहा है और 28...

और पढ़ें ➜

श्राद्ध विधि – ...

श्राद्ध एक ऐसा कर्म है जिसमें परिवार के दिवंगत व्यक्तियों (मातृकुल और पितृकुल), अपने ईष्ट देवताओं, गुरूओं आदि के प्रति श्रद्धा प्रकट करने के लिये किया जाता है। मान्यता है कि हमारी ...

और पढ़ें ➜

श्राद्ध 2019 - ...

श्राद्ध साधारण शब्दों में श्राद्ध का अर्थ अपने कुल देवताओं, पितरों, अथवा अपने पूर्वजों के प्रति श्रद्धा प्रकट करना है। हिंदू पंचाग के अनुसार वर्ष में पंद्रह दिन की एक विशेष अवधि है...

और पढ़ें ➜

भाद्रपद पूर्णिम...

पूर्णिमा की तिथि धार्मिक रूप से बहुत ही खास मानी जाती है विशेषकर हिंदूओं में इसे बहुत ही पुण्य फलदायी तिथि माना जाता है। वैसे तो प्रत्येक मास की पूर्णिमा महत्वपूर्ण होती है लेकिन भ...

और पढ़ें ➜