Skip Navigation Links
संभल कर रहें इन चार राशियों के जातक ये है वजह


संभल कर रहें इन चार राशियों के जातक ये है वजह

अक्सर हम अपने भविष्य को लेकर योजनाएं बनाते हैं साथ ही आशंकित भी होते हैं कि आने वाले समय में परिस्थितियां हमारे लिये सकारात्मक रहने वाली हैं या नकारात्मक। विशेषकर साप्ताहिक रूप से यदि हम अपने भविष्य के बारे में कुछ जानना चाहें तो ज्योतिषाचार्य चंद्रमा की गति से हम यह जान सकते हैं कि किस राशि के लिये आने वाला सप्ताह कैसा रहेगा। अगस्त माह के पहले सप्ताह में 1 अगस्त से 3 अगस्त तक चंद्रमा शनि के साथ गोचर करेंगें जिससे कुछ राशियों के लिये यह समय विशेष रूप से नकारात्मक परिणाम लेकर आ सकता है। आइये जानते हैं कौनसी हैं वह राशियां जिन्हें इस हफ्ते थोड़ा संभल कर रहना चाहिये।

वृषभ

इस हफ्ते आपके लिये चंद्रमा छठे, सातवें और आठवें स्थान में गोचर करेंगें। इसलिये कार्यस्थल पर प्रतिस्पर्धियों से आपको सचेत रहने की सलाह है। प्रतिद्वंदी आप पर हावि हो सकते हैं। साथ ही आपकी सेहत भी हो सकता है आपका साथ न दे और आप अपनी पूरी ऊर्जा से कार्य न कर पायें। रोमांटिक जीवन में भी साथी के साथ मतभेद पैदा हो सकते हैं। इस समय आप नकारात्मक विचारों से भी घिरे रह सकते हैं। आपके लिये सलाह है कि सोमवार को व्रत का संकल्प लें व प्रात:काल भगवान शिव की आराधना करें। चंद्र दर्शन के पश्चात चंद्रमा को अर्घ्य देकर व्रत खोलें। शिव व चंद्रमा के मंत्रों का जाप भी करें तो बेहतर रहेगा।

कर्क

वृषभ राशि के साथ-साथ कर्क राशि वालों के लिये भी यह सप्ताह थोड़ा सचेत रहने का है। इसका कारण यह है कि राशि स्वामी चंद्रमा इस हफ्ते चंद्रमा चतुर्थ, पंचम और छठे स्थान में गोचर करेंगें। साथ ही मंगल आपकी राशि में गोचर कर रहें हैं जिसे मंगल की दृष्टि से शुभ फलदायी नहीं कहा जा सकता। अत: इस हफ्ते आपकी सुख-सुविधाओं में कमी हो सकती है। स्वास्थ्य को लेकर भी आप चिंतित हो सकते हैं। परिवार में भी बच्चों के भविष्य को लेकर उनकी शिक्षा को लेकर आप चिंताग्रस्त हो सकते हैं। बेकार में इधर-उधर की यात्राएं भी आपको करनी पड़ सकती हैं। व्यवसायी जातकों को प्रतिद्वंदियों का भय भी सता सकता है। भगवान शिव की आराधना करें। आपके लिये महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना अति लाभकारी रह सकता है। मंगल ग्रह की शांति के लिये भी उपाय करें तो बेहतर रहेगा।

कन्या

इस हफ्ते कन्या जातकों को भी संभल कर रहना चाहिये। विशेषकर खर्चों पर नियंत्रण रखने का प्रयास करें। इस समय अपने जमाधन का उपयोग थोड़ा देखभाल कर करें। इसके प्रबल आसार हैं कि आप बिनाविचारे कोई निर्णय लेकर अपने संचित धन का इस्तेमाल कर बैठें। दरअसल चंद्रमा इस हफ्ते आपके लिये दूसरे, तीसरे और चौथे स्थान में गतिमान रहेंगें और अष्टम दृष्टि भी आप पर पड़ेगी, कुल मिलाकर धन, मन और जीवन में नकारात्मक परिणाम आपको मिल सकते हैं। हालांकि सप्ताहांत में कोई शुभ समाचार भी आपको मिल सकता है। सोमवार को उपवास रखें, भगवान शिव की आराधना करें और चंद्रमा को अर्घ्य देने के पश्चात ही उपवास खोलें। राहत मिल सकती है।

वृश्चिक

इस हफ्ते चंद्रमा आपके 12वें, प्रथम एवं द्वितीय स्थान में गोचररत होंगें। संभवत यह समय आपके खर्चों में बढ़ोतरी करने वाला हो साथ ही इसकी भी संभावनाएं हैं कि आपको अपेक्षानुसार परिणाम न मिलें। हालांकि सप्ताहांत पर किसी को दिया हुआ धन वापस मिलने से आपको राहत भी मिल सकती है। अपनी सेहत का ध्यान अवश्य रखें। मंगलवार का उपवास रखें और मंगल की शांति के लिये मंत्रोच्चारण करें।

कुल मिलाकर वृषभ, कर्क, कन्या और वृश्चिक जातकों को इस हफ्ते संभल कर रहना चाहिये। ग्रहों के नकारात्मक प्रभाव से बचने के लिये आप एस्ट्रोयोगी पर देश के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से परामर्श कर सकते हैं। अभी परामर्श करने के लिये यहां क्लिक करें।




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

जगन्नाथ रथयात्रा 2018 - सौ यज्ञों के बराबर पुण्य देने वाली है पुरी रथयात्रा

जगन्नाथ रथयात्रा 2...

उड़िसा में स्थित भगवान जगन्नाथ का मंदिर हिन्दुओं के चार धामों में शामिल है। जगन्नाथ मंदिर, सनातन धर्म के पवित्र तीर्थस्थलों में से एक है। हिन्दू धर्मग्रन्थ ब्रह्मपुर...

और पढ़ें...
जगन्नाथ पुरी मंदिर - जानें पुरी के जगन्नाथ मंदिर की कहानी

जगन्नाथ पुरी मंदिर...

सप्तपुरियों में पुरी हों या चार धामों में धामसर्वोपरी पुरी धाम में जगन्नाथ का नामजगन्नाथ की पुरी भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया भर में प्रसिद्ध है। उड़िसा प्रांत के प...

और पढ़ें...
चंद्र ग्रहण 2018 - 2018 में कब है चंद्रग्रहण?

चंद्र ग्रहण 2018 -...

चंद्रग्रहण और सूर्य ग्रहण के बारे में प्राथमिक शिक्षा के दौरान ही विज्ञान की पुस्तकों में जानकारी दी जाती है कि ये एक प्रकार की खगोलीय स्थिति होती हैं। जिनमें चंद्रम...

और पढ़ें...
गुप्त नवरात्र 2018 – जानिये गुप्त नवरात्रि की पूजा विधि एवं कथा

गुप्त नवरात्र 2018...

देवी दुर्गा को शक्ति का प्रतीक माना जाता है। मान्यता है कि वही इस चराचर जगत में शक्ति का संचार करती हैं। उनकी आराधना के लिये ही साल में दो बार बड़े स्तर पर लगातार नौ...

और पढ़ें...
तुला राशि में बृहस्पति की बदली चाल – जानिए किन राशियों के करियर में आयेगा उछाल

तुला राशि में बृहस...

ज्ञान के कारक और देवताओं के गुरु माने जाने वाले बृहस्पति की ज्योतिषशास्त्र के अनुसार बहुत अधिक मान्यता है। गुरु बिगड़ी को बनाने, बनते हुए को बिगाड़ने में समर्थ माने ...

और पढ़ें...