इन राशियों के जातक होते हैं स्वभाव से दमदार

इन राशियों के जातक होते हैं स्वभाव से दमदार


ज्योतिष शास्त्र में राशियों के अनुसार ही जातक के भविष्य का आकलन किया जाता है और जातक की राशि का निर्धारण होता है जन्म के समय व स्थान के अनुसार। ज्योतिष शास्त्रों में मेष, वृषभ, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु, मकर, कुंभ, और मीन ये 12 राशियां मानी जाती हैं। प्रत्येक राशि की एक विशेष प्रकृति होती है एक विशेष स्वभाव होता है। इन राशियों के स्वामी भी इन्हें प्रभावित करते हैं और राशि के स्वभाव में ही राशि स्वामी के सकारात्मक नकारात्मक गुण भी निहित हो जाते हैं। ऐसे में समस्त 12 राशियों में कुछ राशियां ऐसी हैं जो अन्य राशियों की अपेक्षा स्वभाव से ही ताकतवर होती हैं। आइये जानते हैं इन राशियों के बारे में।

इन राशियों के जातक होते हैं स्वभाव से दमदार

मेष राशि – मेष राशि के स्वामी मंगल माने जाते हैं। इनका प्रतीक चिन्ह भी मेंढ़ है इसलिये इस राशि का नाम भी मेष है। मेष जातक प्रकृति से बहुत ही झूझारू व ऊर्जावान रहते हैं। इन्हें सहज ही किसी पर भरोसा नहीं होता खुद पर ज्यादा विश्वास रखते हैं। इनमें गजब की निर्णय लेने की क्षमता होती है। इस राशि के जातक अन्य राशियों के जातकों से इक्कीस ही होते हैं उन्नीस नहीं। सामने वाले से ये अपनी बात मनवाने का माद्दा रखते हैं। इसलिये मेष जातकों से टक्कर लेने से पहले सोच लेना चाहिये कि आपमें इनके वार को झेलने की क्षमता है भी या नहीं। बेवजह इनसे पंगा न लें।

वृश्चिक – वृश्चिक राशि के स्वामी भी मंगल होते हैं। मंगल जिसके स्वामी हों उनका ऊर्जावान होना तो स्वाभाविक है ही लेकिन वृश्चिक जातकों के स्वभाव में विद्रोह की भावना भी निहित होती है। ये आदमी को अच्छे से परख लेते हैं और उसके अनुसार ही व्यवहार करते हैं। धोखा देने वाले की पहचान इन्हें आसानी से हो जाती है और उन्हें किसी भी सूरत में बख्शने का इनका मूड नहीं होता। इसलिये वृश्चिक राशि वालों को अपना शत्रु न बनाये और न ही उनकी पीठ में छुरा घोंपने का काम करें। हालांकि कई बार ये बहुत भावुक भी हो जाते हैं इतने की आप इन्हें सहन न कर सकें लेकिन ये इतने ही दूरदृष्टि भी होते हैं। जो चीज़ आपकी कल्पना के आस-पास नहीं होती उसकी बेहतर योजना बनाते हुए उसके भले-बूरे अंजाम तक वृश्चिक जातक पंहुच चुके होते हैं।

मकर – मकर राशि के जातक भी अन्य राशियों से उत्तम माने जाते हैं। ऐसा इसलिये भी है क्योंकि मकर राशि के स्वामी शनि होते हैं। शनि न्यायप्रिय देवता हैं। इनमें भी गज़ब का आत्मविश्वास होता है व मेहनत करने से ये गुरेज नहीं करते हैं। खुद पर नियंत्रण रखना भी इन्हें बाखूब आता है। ये अन्य राशियों की अपेक्षा बेहतर तरीके से सोचने व समझने में सक्षम होते हैं। निरंतर प्रयारत रहने से इन्हें अपने कार्यों में सफलता मिलती है। कुल मिलाकर अन्य राशियों को देखा जाये तो मकर जातक काफी उत्कृष्ट पाये जाते हैं।

कुंभ – कुंभ राशि भी शनि द्वारा ही संचालित होती है। कुंभ जातकों के बारे में यह विचार प्रबल है कि ये काफी तटस्थ प्रवृति के होते हैं। भावनाओं में बहकर कोई भी निर्णय ये नहीं लेते हैं। इनका स्वभाव जिज्ञासु होता है, ये काफी बुद्धिमान भी होते हैं और दिलचस्प भी। इनकी जिद के आगे कोई नहीं टिक सकता, अपनी बात आत्मविश्वास से कहने में भी कुंभ जातक समर्थ होते हैं। कुंभ राशि के जातकों से टक्कर लेने में भी आपको सावधान रहना चाहिये क्योंकि ये आप पर प्रभाव ही इतना जमा सकते हैं कि आपको इनके सामने झुकना पड़े।

अपनी राशि के बारे में विस्तार से जानने के लिये परामर्श करें देश के श्रेष्ठ ज्योतिषाचार्यों से। अभी परामर्श करने के लिये यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें

राशिनुसार व्यक्तित्व विश्लेषण   |   राशिनुसार जानें दैनिक राशिफल   |   जानें 2017 का वार्षिक राशिफल

राशिनुसार व्यावसायिक प्रोफाइल   |   राशिनुसार स्वास्थ्य प्रोफाइल   |   राशिनुसार किशोर प्रोफाइल

एस्ट्रो लेख



Chat Now for Support