शुभ या अशुभ? कैसा होता है दाहिनी आंख का फड़कना

bell icon Sun, May 29, 2022
टीम एस्ट्रोयोगी टीम एस्ट्रोयोगी के द्वारा
शुभ या अशुभ? कैसा होता है दाहिनी आंख का फड़कना

पुरुष और स्त्री, दोनों ने ही कभी न कभी आँख फड़कने का अनुभव किया होगा और एक सामान्य बात समझकर नज़रअंदाज़ कर दिया होगा, लेकिन क्या आप जानते है कि बायीं और दायीं आँख के फड़कने के द्वारा ब्रह्मांड आपसे कुछ कहने की कोशिश कर रहा होता है, लेकिन क्या? जानने के लिए पढ़ें ये लेख।  

हम सभी की कभी न कभी दायी और बायीं आंख फड़कती है, लेकिन हम इसे सामान्य बात समझकर नज़रअंदाज़ कर देते है। क्या आप मानते हैं कि दाहिनी आंख के फड़कने जैसी सामान्य बात का कोई संकेत हो सकता है? ऐसा माना जाता है कि दाहिनी आंख फड़कने का ज्योतिष शास्त्र में विशेष अर्थ है। आँख फड़कने से इंसान को जीवन में घटने वाली शुभ और अशुभ घटनाओं के बारे में जानकारी मिलती है। अगर आप भी जानना चाहते है कि क्या होता है आपकी दायी आँख फड़कने का अर्थ, आइये जानते है। 

क्या है वैदिक ज्योतिष में आँख फड़कने का महत्व?

वैदिक ज्योतिष में, आँखें फड़कना या शरीर के किसी अंग के फड़कने को सकारात्मक और नकारात्मक दोनों परिणामों से जोड़ा गया है। भारत, चीन, अफ्रीका आदि देशों में घटनाओं की भविष्यवाणी करने के लिए आँख फड़कने को एक संकेत के रूप में उपयोग किया जाता है। पुरुषों के लिए दाहिनी आंख फड़कने की भविष्यवाणी महिला की बायीं आंख फड़कने की भविष्यवाणी से अलग होती है। आंख फड़कने का समय यह भी निश्चित करता है कि भविष्यवाणी क्या कह रही है। 

इस विषय से संबंधित प्रत्येक संस्कृति की अपनी भविष्यवाणियां हैं। इनमें कुछ विशेष संस्कृतियों का मानना है कि दाहिनी आंख का फड़कना अनहोनी का संकेत देता है जिसमे आपको कोई बुरी ख़बर मिल सकती हैं। बहुत से लोगों का मत हैं कि दाहिनी आंख का फड़कना किसी व्यक्ति के लिए इनाम या शुभ समाचार का संकेत देता है। माना जाता है कि यह किसी के साथ अचानक टकराव का भी संकेत देता है।

यह भी पढ़ें:👉 क्या ज्योतिष बदल सकता है हमारे जीवन को 

पुरुषों के लिए दायीं आंख फड़कने का महत्व

जब किसी व्यक्ति की दाहिनी आंख फड़कती है,तो यह एक शुभ शगुन माना जाता है। आमतौर पर, यह एक संकेत होता है कि जिस व्यक्ति की आँख फड़क रही है, उसे अपने करियर से जुड़ीं कोई अच्छी खबर मिलेगी। यह सौभाग्य और उज्ज्वल भविष्य का संकेत देती है।

महिलाओं के लिए दाहिनी आंख फड़कने का महत्व

ज्योतिष स्त्रियों के लिए दाहिनी आंख फड़कने का अर्थ स्पष्ट करता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, स्त्रियों की दायी आँख का फड़कना शुभ नहीं माना जाता है। यह उस महिला के जीवन में कोई नकारात्मक संकेत की तरफ इशारा करता है। ऐसी प्रबल संभावना होती है कि महिला को अपने जीवन के विभिन्न पहलुओं में कठिनाइयों का सामना करना पड़े, चाहे वह पेशेवर हो या व्यक्तिगत। उन्हें अपनी नौकरी के बारे में बुरी खबर मिल सकती है। उन्हें अपने जीवन में हर तरह की कठिनाइयों का भी सामना करना पड़ सकता है।

क्या संकेत देता है स्त्रियों और पुरुष में बाईं आंख का फड़कना?

भारतीय ज्योतिष के अनुसार, यह बात बिल्कुल स्पष्ट है कि महिलाओं की दाहिनी आंख के फड़कना को शुभ नहीं माना जाता है। महिलाओं की बायीं आँख फड़कने के बारे में ज्योतिष शास्त्र कहता है कि भविष्य में महिला को शुभ फल की प्राप्ति होगी। उन्हें जीवन में सुख, सौभाग्य और शांति की भी प्राप्ति होगी। बायीं आँख का फड़कना उनके लिए आशा का संकेत है। इसके विपरीत, पुरुष की बायीं आंख का फड़कना अच्छा संकेत नहीं माना जाता है। यह उनके जीवन में बहुत सारी कठिनाइयों और कड़ी मेहनत की तरफ इशारा करता है।

आँख फड़कने को लेकर विभिन्न संस्कृतियों की धारणा

विभिन्न देशों की विभिन्न संस्कृतियों के अनुसार, ऊपरी पलकों का फड़कना संकेत देता है कि आपके घर में अचानक मेहमान आने वाले हैं। वहीं, अगर आपकी आँख की निचली पलक फड़कती है तो इसका मतलब है कि वह व्यक्ति रोने वाला है। अन्य संस्कृतियों का मत ​​है कि अगर दाहिनी आंख फड़कती है तो ये किसी अशुभ अनहोनी का संकेत देती है। इनके अलावा, कुछ अन्य संस्कृतियाँ दाहिनी आँख फड़कने को भाग्य, खुशी और सकारात्मकता का संकेत मानती हैं।

भारत में दाहिनी आंख के फड़कने का ज्योतिषीय महत्व

भारतीय वैदिक ज्योतिष पुरुषों में दाहिनी आंख का फड़कना शुभ मानता है। यह उनके लिए सौभाग्य लेकर आता है जो महिलाओं के मामले में बिल्कुल विपरीत है। स्त्रियों के लिए दाहिनी आंख का फड़कना दुर्भाग्य का संकेत माना जाता है।

चीनी ज्योतिष के अनुसार दाहिनी आंख का फड़कना

ऐसा माना जाता है कि चीनी संस्कृति विश्व की सबसे प्राचीन विचारधाराओं में से एक है जो लंबे समय से दुनिया को प्रभावित कर रही है। भारतीय ज्योतिष के समान ही, चीनी सभ्यता भी दाहिनी आंख का फड़कना अच्छे शगुन और भाग्य का संकेत मानते हैं जबकि बाईं आंख का फड़कना पुरुषों के लिए दुर्भाग्य का संकेत माना जाता है। आँख फड़कना महिलाओं के मामले में बिल्कुल विपरीत हो जाता है। महिलाओं में बायीं आंख का फड़कना सौभाग्य लाता है जबकि दाहिनी आंख फड़कना दुर्भाग्य का संकेत देता है।

चीनी ज्योतिष के अनुसार, निचली पलक का फड़कना एक अश्रुपूर्ण घटना का संकेत देता है। यह इस बात का भी संकेत देता है कि कोई आपकी पीठ पीछे आपके बारे में बात कर रहा है।

लेखक की दृष्टि से: भारतीय ज्योतिष में आँख फकड़ने को शुभ और अशुभ का सूचक माना जाता है जो हमें भविष्य में होने वाली घटनाओं के लिए तैयार करता है। वैज्ञानिक रूप से, किसी व्यक्ति की दाहिनी आंख का फड़कना एक आवेगपूर्ण प्रक्रिया है जिस पर व्यक्ति का कोई नियंत्रण नहीं होता है। यह कितने समय तक फड़केगी, ये भी निश्चित नहीं होता है। लेकिन अगर किसी व्यक्ति की आँख ज्यादा देर तक फड़कती रहती है, डॉक्टर की सहायता अवश्य लें। 

शरीर के अंग फड़कना क्या होता है शुभ संकेत? जानने के लिए अभी बात करें एस्ट्रोयोगी के विशेषज्ञ ज्योतिषियों से। 

 

✍️ By- टीम एस्ट्रोयोगी

chat Support Chat now for Support
chat Support Support