2019 में क्या कहती है सलमान खान की कुंडली?

साल 2018 बॉलीवुड के खान्स के लिये कुछ अच्छा नहीं रहा। सलमान खान की रेस 3, शाहरूख खान की जीरो तो आमिर खान की ठग ऑफ हिंदोस्तान चर्चित होने के बावजूद दर्शकों को अपेक्षानुसार सिनेमाघरों तक नहीं खींच पाई। कहा जा सकता है दर्शकों का रूझान अब स्टारडम से दूर होता जाता रहा है। हालांकि अभी भी सलमान, शाहरुख व आमिर के चाहने वालों की कमी नहीं है। ऐसे में ऐस्ट्रोयोगी ने बॉलीवुड के भाई जान माने जाने वाले सलमान खान की कुंडली का आकलन किया है। आइये जानते हैं 2019 में सलमान खान की कुंडली क्या कहती है।

भाई जान के नाम से मशहूर सलमान खान का बॉलीवुड में सिक्का चलता है। सलमान खान के प्रशंसक बड़ी संख्या में हैं। कुछ प्रशंसक लड़कियां तो इतनी दिवानी हैं कि उनकी एक अदा पर मर मिटने को तैयार हैं। पिछले एक अर्से से सलमान एक से बढ़कर एक सुपर डूपर से भी ऊपर हिट फिल्में देते जा रहे हैं। अब उनकी फिल्में सिर्फ मनोरंजन प्रधान ही नहीं बल्कि फिल्म समीक्षकों की भी तारीफ बटोरने लगी हैं। बजरंगी भाई जान और सुल्तान जैसी फिल्में तो उनकी लीक से हटकर बनी फिल्में मानी जा सकती हैं। रोमांटिक, हास्य, एक्शन के लेकर अभिनय के उच्च स्तरीय मानकों पर सलमान खान दर्शकों के चहेते बन सके हैं। परिवार, शिक्षा, समाज के साथ-साथ व्यक्तित्व पर ग्रहों का भी प्रभाव पड़ता है। 27 दिसंबर को सलमान खान 53 वर्ष के हो गये हैं। आइये जानते हैं कि आगामी जन्मवर्ष में उनकी वर्षकुंडली किन ग्रहों से प्रभावित है और कैसा रहेगा भाईजान के लिये आना वाला समय।

नाम – सलमान खान

जन्मतिथि – 27 दिसंबर 1965

जन्म समय – 14:30 बजे

जन्म स्थान – इंदौर, मध्य प्रदेश, भारत

उपरोक्त विवरण के अनुसार सलमान खान की कुंडली मेष लग्न की बनती है जिसके अनुसार इनकी चंद्र राशि कुंभ है। वर्तमान समय में सलमान खान पर शनि की महादशा चल रही है और अंतर्दशा में राहू विराजमान हैं। वहीं प्रत्यंतर में मंगल मौजूद हैं। 22 फरवरी के पश्चात बृहस्पति का प्रत्यंतर में आना इनके लिये भाग्य में वृद्धि के संकेत कर रहा है। 


2019 में सलमान के सितारे

वैदिक ज्योतिष के अनुसार 27 दिसंबर 2018 से 27 दिसंबर 2019 तक का समय सलमान खान की जन्मतिथि के अनुसार इनकी वर्षकुंडली का बनता है। इनकी वर्ष कुंडली वृश्चिक लग्न की बनती हैं जिसके स्वामी मंगल हैं। त्रिकोण के स्वामी बृहस्पति का लग्न में होना इनके लिये बहुत ही सौभाग्यशाली रहने के आसार हैं। पिछले कुछ समय से सलमान खान की फिल्में दर्शकों पर अपनी विशेष छाप छोड़ने में नाकाम रही हैं। रेस-3 से भी उन्हें अपेक्षानुसार परिणाम नहीं मिले हैं। लेकिन 2019 का साल सलमान खान के लिये बड़ी सफलता लेकर आ सकता है। इस वर्ष इनके लिये सूर्य का परिवर्तन भी बहुत ही सौभाग्यशाली रहेगा। वर्ष कुंडली में भी सूर्य करियर के स्वामी होकर अपने घर को देख रहे हैं। जो कि उन्हें करियर में नई उपलब्धियां मिलने के संकेत कर रहे हैं। 

कुल मिलाकर सलमान के लिये यह वर्ष बहुत ही लाभकारी कहा जा सकता है। 


क्यों नहीं चला सलमान खान का स्टारडम?

गत वर्ष के लिये हमने कहा था कि आगामी समय में राज्य अधिकारियों के साथ इनके वाद-विवाद की संभावनाएं बढ़ रही हैं। हो सकता है किसी विवाद या अधिकारियों से अनबन या विरोध के कारण कार्यक्षेत्र में बाधाएं भी उत्पन्न हों।

दरअसल गत वर्ष इनकी वर्ष कुंडली के स्वामी बृहस्पति इनकी राशि से भाग्य स्थान में वक्री होकर गोचर कर रहे थे। अप्रलै माह के उतर्राध में राशि स्वामी शनि भी लाभ घर में वक्री हो गये। इस कारण सलमान के लिये पिछला समय कष्टदायी बना रहा। लेकिन सलमान खान के प्रशंसकों को ज्यादा निराश होने की आवश्यकता नहीं है ग्रहों के फेर से सलमान खान की किस्मत फिर से एक नई करवट ले सकती है। जैसा कि उनकी 2019 की वर्ष कुंडली से ग्रहों के संकेत मिल भी रहे हैं। 

कब होगी सलमान की शादी?

सलमान खान के भविष्य के बारे में लिखा जा रहा हो और उनकी शादी पर टिप्पणी न की जाये तो बात अधूरी सी लगती है। पिछला समय सलमान खान के लिये पर्सनल से लेकर प्रोफेशनल लाइफ तक में परेशानियों वाला ही रहा है। लेकिन 2019 इनके लिये काफी सौभाग्यशाली है। भाई जान अपने प्रशंसकों को कोई खुशखबरी दे सकते हैं। हालांकि सलमान खान 2019 में विवाह कर लेंगें ऐसा निश्चित तौर पर नहीं कहा जा सकता। 

यदि आप भी अपनी कुंडली के बारे में जानना चाहते हैं तो परामर्श करें एस्ट्रोयोगी पर देश के जाने माने ज्योतिषाचार्यों से।

एस्ट्रो लेख

कन्या संक्रांति...

17 सितंबर 2019 को दोपहर 12:43 बजे सूर्य, सिंह राशि से कन्या राशि में गोचर करेंगे। सूर्य का प्रत्येक माह राशि में परिवर्तन करना संक्रांति कहलाता है और इस संक्रांति को स्नान, दान और ...

और पढ़ें ➜

नरेंद्र मोदी - ...

प्रधानमंत्री बनने से पहले ही जो हवा नरेंद्र मोदी के पक्ष में चली, जिस लोकप्रियता के कारण वे स्पष्ट बहुमत लेकर सत्तासीन हुए। उसका खुमार लोगों पर अभी तक बरकरार है। हालांकि बीच-बीच मे...

और पढ़ें ➜

विश्वकर्मा पूजा...

हिंदू धर्म में अधिकतर तीज-त्योहार हिंदू पंचांग के अनुसार ही मनाए जाते हैं लेकिन विश्वकर्मा पूजा एक ऐसा पर्व है जिसे भारतवर्ष में हर साल 17 सितंबर को ही मनाया जाता है। इस दिवस को भग...

और पढ़ें ➜

पितृदोष – पितृप...

कहते हैं माता-पिता के ऋण को पूरा करने का दायित्व संतान का होता है। लेकिन जब संतान माता-पिता या परिवार के बुजूर्गों की, अपने से बड़ों की उपेक्षा करने लगती है तो समझ लेना चाहिये कि अ...

और पढ़ें ➜