सोनम कपूर - जन्मदिन पर जानें सोना के लिये कैसा रहेगा आने वाला समय

मीडिया में आजकल सोनम कपूर काफी छाई हुई हैं। हाल ही में सोनम की शादी व्यवसायी आनंद आहूजा से हुई है। जाहिर सी बात है एक्ट्रेस की शादी तो चर्चा का विषय बननी ही थी। 1 जून को रीलिज़ हुई फिल्म वीरे दि वेडिंग को लेकर भी वे चर्चा में रही। 9 जून को सोनम कपूर का जन्मदिन भी आ रहा है। ऐसे में एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों से हमने परामर्श किया सोनम कपूर की कुंडली पर। हाल ही में उनकी शादी हुई है तो आने वाला समय उनके लिये कैसा रहेगा। क्या उनके करियर पर ब्रेक लगेगा या ससुराल वाले सोनम का साथ निभाएंगें। इस बारे में सोनम कपूर की वर्ष कुंडली क्या कहती है इस सबके बारे में इस लेख में हम जानेंगें लेकिन पहले बात करते हैं उनके संक्षिप्त जीवन परिचय की।


सोनम कपूर संक्षिप्त जीवनी

सोनम कपूर को बॉलीवुड की उन अभिनेत्रियों में गिना जाता है जिन्हें ड्रेसिंग सेंस की अच्छी समझ है। अभिनय की कला उन्हें अपने पिता अनिल कपूर से विरासत में मिली है। उन्होंने सिंगापुर स्थित यूनाइटेड वर्ल्ड कॉलेज ऑफ साउथ ईस्ट एशिया से थियेटर व आर्ट को पढ़ा भी है।


सोनम कपूर का फिल्मी करियर

सोनम कपूर के फिल्मी करियर की बात करें तो अमिताभ बच्चन व रानी मुखर्जी अभिनीत फिल्म ब्लैक में सोनम ने बतौर सहायक निर्देशक शुरुआत की। बतौर अभिनेत्री उन्हें बड़ा ब्रेक 2007 में आयी संजय लीला भंसाली की फिल्म सांवरिया से मिला। इस फिल्म के लिये उन्हें श्रेष्ठ नवोदित अभिनेत्री के पुरस्कार के लिये भी नामांकित किया गया। इसके बाद दिल्ली - 6 में मसकली के नाम से भी ये मशहूर हुई इस फिल्म में भी उनके अभिनय की सराहना हुई। रांझणा फिल्म में भी धनुष के साथ-साथ सोनम के किरदार की खबू सराहना हुई। लेकिन सबसे ज्यादा लोकप्रियता इन्होंने बटौरी फिल्म नीरजा से।


आइये अब जानते हैं क्या कहती है सोनम कपूर की वर्ष कुंडली


सोनम कपूर की कुंडली (जन्मपत्रिका) - Sonam Kapoor Birth Chart

नाम – सोनम कपूर

जन्मतिथि – 9 जून 1985

जन्म स्थान - मुंबई

जन्म समय – ज्ञात नहीं

जन्म का सही समय ज्ञात न होने के कारण हम यहां उनकी जन्मकुंडली का सही विवरण तो नहीं दे सकते लेकिन जन्मतिथि के अनुसार उनकी चंद्र राशि कुंभ बनती है। इसी के आधार पर सोनम की वर्ष कुंडलिका हमने तैयार की है। ज्योतिषाचार्य के आकलनानुसार 9 जून 2018 को सोनम कपूर की वर्ष कुंडली मीन लग्न की बन रही है। इस वर्षकुंडली के अनुसार इनकी वर्ष राशि मेष बनती है।

वर्ष लग्नेष बृहस्पति अष्टम भाव में वक्र होकर विराजमान हैं जिसके संकेत हैं कि भविष्य में इनके करियर की रफ्तार में थोड़ी कमी आ सकती है। हालांकि पुराने प्रोजेक्ट जो अभी तक लंबित पड़े हैं उनमें इन्हें सफलता हासिल हो सकती है। वर्ष कुंडली में कर्मभाव के स्वामी भी बृहस्पति हैं। कर्मभाव में शनि वक्र होकर विराजमान हैं जिसके साफ संकेत हैं कि भविष्य में दर्शकों को इनके दिदार के लिये, इनकी झलक पाने के लिये लंबा इंतजार करना पड़ सकता है।

वर्ष कुंडली में शुरुआती दशा सूर्य चंद्रमा की रहेगी जो कि धन लाभ के योग भी बना रहे हैं। कार्यक्षेत्र में इनके कार्य की प्रशंसा हो सकती है। वर्ष के मध्य में मंगल की दशा रहेगी इस समय सोनम को अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने की आवश्यकता रहेगी।


वीरे दी वेडिंग​

सोनम कपूर की फिल्म वीरे दि वेडिंग की बात करें तो यह फिल्म 1 जून से सिनेमा घरों में प्रदर्शित हुई। दिल्ली में सुबह का पहला शो 8 बजकर 30 मिनट का था। यदि सूर्य राशि से देखा जाए तो सोनम कपूर मिथुन राशि से संबंधित हैं। उपरोक्त समयानुसार लग्न भी मिथुन बन रहा है जहां पर शुक्र विराजमान हैं। शुक्र को कला का कारक ग्रह भी मानते हैं इस लिहाज से सोनम कपूर के लिये यह एक सफल फिल्म कही जा सकती है। हालांकि चंद्र राशि कुंभ से देखा जाए तो लाभ घर में शनि चंद्रमा विषयोग भी बना रहे हैं जिससे हो सकता है इन्हें अपेक्षित लाभ न मिले। हुआ भी ऐसा ही है। सोनम व करीना से ज्यादा समीक्षकों का ध्यान फिल्म की दो अन्य कलाकार शिखा तल्सानिया व स्वरा भास्कर ने अपनी और खिंचा। फिल्म उच्च वर्ग में पली बढ़ी चार सहेलियों की कहानी कहती है। नारीवाद को लेकर भी काफी चर्चा हुई लेकिन असल में नारीवाद जैसी कोई बात फिल्म में नहीं है हालांकि शादी के मसले पर जरुर एक अच्छी बहस छेड़ती है। फिर भी फिल्म ने एक सप्ताह में लगभग 53 करोड़ की कमाई कर ली है यानि फिल्म अपनी लागत निकाल चुकी है अब देखना होगा कि मुनाफा कितना देती है।

एस्ट्रोयोगी की ओर से सोनम कपूर आहुजा को सफल वैवाहिक जीवन की कामना के साथ जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।


ये तो था सोनम का वर्षफल? आपकी कुंडली क्या कहती है जानने के लिये इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से गाइडेंस लें।

एस्ट्रो लेख

मार्गशीर्ष – जा...

चैत्र जहां हिंदू वर्ष का प्रथम मास होता है तो फाल्गुन महीना वर्ष का अंतिम महीना होता है। महीने की गणना चंद्रमा की कलाओं के आधार पर की जाती है इसलिये हर मास को अमावस्या और पूर्णिमा ...

और पढ़ें ➜

देव दिवाली - इस...

आमतौर पर दिवाली के 15 दिन बाद यानि कार्तिक माह की पूर्णिमा के दिन देशभर में देव दिवाली का पर्व मनाया जाता है। इस बार देव दिवाली 12 नवंबर को मनाई जा रही है। इस दिवाली के दिन माता गं...

और पढ़ें ➜

कार्तिक पूर्णिम...

हिंदू पंचांग मास में कार्तिक माह का विशेष महत्व होता है। कृष्ण पक्ष में जहां धनतेरस से लेकर दीपावली जैसे महापर्व आते हैं तो शुक्ल पक्ष में भी गोवर्धन पूजा, भैया दूज लेकर छठ पूजा, ग...

और पढ़ें ➜

तुला राशि में म...

युद्ध और ऊर्जा के कारक मंगल माने जाते हैं। स्वभाव में आक्रामकता मंगल की देन मानी जाती है। पाप ग्रह माने जाने वाले मंगल अनेक स्थितियों में मंगलकारी परिणाम देते हैं तो बहुत सारी स्थि...

और पढ़ें ➜