राशिनुसार जानें साल के 365 दिन के सबसे बड़े दिन में क्‍या है आपके लिए खास

bell icon Mon, Jun 20, 2022
टीम एस्ट्रोयोगी टीम एस्ट्रोयोगी के द्वारा
राशिनुसार जानें, साल के सबसे बड़े दिन में क्‍या है आपके लिए खास

जिस तरह हाथ की पांचों उँगलियाँ समान नहीं होती है, उसी तरह एक साल में आने वाले 365 दिन भी एक बराबर नहीं होते हैं। इसी प्रकार जून के महीने में साल का बड़ा दिन आता है, कब है ये दिन? जानने के लिए पढ़ें साल का सबसे बड़ा दिन 2022 के बारे में। 

एक साल में 365 दिन होते है और ये सभी दिन एक समान नहीं होते है, कभी दिन बड़े होते है तो कभी रातें छोटी होती है। कभी रातें बड़ी होती है, तो कभी दिन छोटे। इस तरह पूरे साल में एक दिन ऐसा होता है जिससे साल का सबसे बड़ा दिन माना जाता है। एक वर्ष में आने वाला ये बड़ा दिन जून के महीने में आता है। हिंदू कैलेंडर के अनुसार, वर्ष में जून महीने का चौथा हफ्ता बहुत ही महत्वपूर्ण रहता है। ये दिन खगोलीय और ज्योतिषीय दृष्टि से भी बेहद खास है।  

2022 में कब है साल का सबसे बड़ा दिन? 

साल का सबसे बड़ा दिन एक खगोलीय घटना है जो वर्ष में दो बार होती है। उत्तरी गोलार्द्ध और दक्षिणी गोलार्द्ध। गर्मियों के दौरान आने वाले बड़े दिन को ग्रीष्मकालीन संक्रांति के नाम से भी जाना जाता है जो जून के चौथे हफ्ते में आती है। ग्रीष्मकालीन संक्रांति अर्थात साल का सबसे लंबा दिन 21 जून, मंगलवार के दिन पड़ेगा। यह घटना सामान्यरूप से हर साल 20 जून से 22 जून के बीच घटित होती है, तो ये इस बात पर निर्भर करती है कि दोपहर में सूर्य सीधे कर्क रेखा के ऊपर होता है। ग्रीष्म संक्रांति को अन्य नामों एस्टीवल सोलस्टाइस या मिडसमर आदि से भी जाना जाता है और शीत ऋतु में आने वाले बड़े दिन को दूसरी शीतकालीन संक्रांति के नाम से जाना जाता है।

क्या है सांस्कृतिक महत्व ग्रीष्मकालीन संक्रांति का?

हमारे देश में जून सोल्सटिस को धार्मिक दृष्टि से धार्मिक त्योहार और गर्मी छुट्टी के रूप में मनाया जाता है। दुनिया के सामने इंग्लैंड का स्टोनहेंज ग्रीष्मकालीन संक्रांति के सांस्कृतिक महत्व को प्रदर्शित करता है। यह एक मेगालिथिक संरचना है जो जून सोल्सटिस के क्षण को स्पष्ट रूप से दर्शाती है। ब्रिटेन, अमेरिका, कनाडा, रूस, भारत और चीन आदि देशों में ग्रीष्मकालीन संक्रांति के दौरान गर्मी का समय रहता है, क्योकि यह देश उत्तरी गोलार्द्ध में पड़ते है। 

क्यों है साल के सबसे बड़े दिन का महत्व?

21 जून के दिन को साल का सबसे बड़ा दिन माना गया है और इस दिन सूरज बहुत ऊंचाई पर होता है। 21 दिन के बाद से रात लंबी होने लगती हैं और 21 सितंबर के आते-आते दिन एवं रात एक बराबर हो जाते हैं। इसके बाद 21 सितंबर से रात लंबी होनी का सिलसिला धीरे-धीरे बढ़ने लगता है और यह प्रक्रिया निरंतर 23 दिसंबर तक चलती है।

क्यों होता है 21 जून को बड़ा दिन?

खगोल शास्त्रियों के अनुसार, उत्तरी गोलार्द्ध से चलकर सूर्य भारत के बीच से गुजरने वाली कर्क रेखा में आ जाता है, इसलिए इस दिन धरती पर सूर्य की किरणें ज्यादा समय तक पड़ती हैं। इस दिन धरती पर सूर्य की रोशनी लगभग 15-16 घंटे तक पड़ती है और इसी वजह से 21 जून साल का सबसे लंबा दिन बन जाता है। ये दिन कभी-कभी 22 जून को भी हो सकता है। साल का सबसे बड़ा दिन 1975 में 22 जून को था और इसके बाद अब ऐसा 2203 में होगा। 

कैसे घटती-बढ़ती है दिन और रात की अवधि?

पृथ्वी के द्वारा सूर्य की निरंतर परिक्रमा करने की वजह से ही धरती पर मनुष्यों का जीवन दो भागों अर्थात दिन और रात में विभाजित हो जाता हैं। पृथ्वी का सूर्य के चारों और परिक्रमा का असर पृथ्वी के विभिन्न भागों में अलग-अलग होता हैं। कई स्थानों पर सूर्य की किरणें अधिक देर तक पड़ती हैं, तो कुछ स्थानों पर बहुत कम समय के लिए रहती है। यही वजह है कि विदेशों में जब दिन होता है तो भारत में रात होती हैं। 

इस तरह पृथ्वी अपने अक्षांश पर साढ़े 23 डिग्री झुकी होती हैं और इसी अवस्था में सूर्य की परिक्रमा लगाती हैं। सूर्य की परिक्रमा करते हुए पृथ्वी के दक्षिणी गोलार्द्ध तथा उत्तरी गोलार्द्ध बार-बार इसके सामने आते हैं जिस कारण से  दिन और रात की अवधि घटती और बढती हैं। 

राशिनुसार कैसा होंगे आपके लिए आने वाला समय?

22 जून 2022 की ग्रह स्थिति के आधार पर सभी राशियों पर अगले छह महीने के दौरान होने वाले प्रभावों के बारे में बताने जा रहे हैं:

मेष राशि 

  • आपको पराक्रम से धन की प्राप्ति होगी, साथ ही ये समय धन आगमन के लिए अच्छा है।
  • अच्छे लोगों की संगति से लाभ होगा और आय में निरंतरता बनी रहेगी। 
  • शारीरिक स्वास्थ्य के प्रति आपको सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

वृषभ राशि 

  • आपको भौतिक सुखों में वृद्धि होने की संभावना है।  
  • इस समय आपको शत्रुओं पर विजय की प्राप्ति होगी।
  • संतान के प्रति अनुकूलता ,सम्मान एवं पराक्रम मे बढ़ोतरी होगी।  
  • कार्यक्षेत्र में मेहनत से फल की प्राप्ति होगी। 
  • पाचन तंत्र मे दिक्कत एवं परिवारजनों से मतभेद की स्थिति बनेगी।

मिथुन राशि

  • आपकी नेतृत्व क्षमता एवं ज़िम्मेदारियों मे वृद्धि होगी।  
  • विदेशी संबंधों से आपको उत्तम परिणामों की प्राप्ति होगी। 
  • अचानक लाभ की संभावना बनेगी। 
  • शिक्षा या ज्ञान प्राप्ति में अड़चनें उत्पन्न हो सकती है। 
  • अज्ञात शत्रुओं से सावधान रहने की जरूरत है।

कर्क राशि

  • आपको धन की प्राप्ति होने की संभावना है। 
  • आपको अपने कार्यक्षेत्र में कठिन परिश्रम करना होगा। 
  • आय प्राप्ति में निरंतरता बनी रहेगी, साथ ही भाग्य का साथ मिलेगा।  
  • आपके कार्यभार में वृद्धि होगी और धार्मिक कार्यो मे रुचि बढ़ेगी।
  • आपको स्वास्थ्य सम्बंधित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता हैं।

सिंह राशि 

  • आपको आय में वृद्धि के अवसरों की प्राप्ति होगी। 
  • सभी कार्यो में उत्तम परिणाम प्राप्त होंगे।  
  • आपके पराक्रम में बढोतरी होगी,साथ ही कार्यक्षेत्र का विस्तार होगा।
  • आपका मन चिंतित रहेगा, साथ ही भाग्य फल की प्राप्ति के लिए अधिक परिश्रम करना होगा।

कन्या राशि

  • कार्यक्षेत्र में यश की प्राप्ति होगी और आपको अनुकूल भाग्य फल प्राप्त होंगे। 
  • जीवनसाथी से मतभेद की संभावना है, साथ ही आय प्राप्ति में सुगमता रहेगी।
  • आप पाचन तंत्र और पेट में थोड़ी परेशानी का अनुभव करेंगे।

तुला राशि 

  • कार्यक्षेत्र में मेहनत करने से बेहतर परिणाम प्राप्त होंगे।  
  • विशेषज्ञता वाले कार्यो में अपेक्षाकृत अनुकूलता रहेगी,साथ ही आप व्यस्त रहेंगे। 
  • अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे और सामाजिक कार्यो के प्रति रुचि में वृद्धि होगी।

वृश्चिक राशि 

  • आपको आय में वृद्धि के नए अवसर प्राप्त होंगे। 
  • आप शत्रुओं पर अपना प्रभाव स्थापित करने में सफल रहेंगे। 
  • कार्यक्षेत्र में अपनी मेहनत के बल पर सफलता हासिल करने में सक्षम होंगे।
  • सरकारी कार्यो में अड़चनें बनी रहेगी और मन मे संताप का अनुभव होगा।

धनु राशि 

  • आपके पराक्रम के साथ धन में वृद्धि होगी।  
  • भवन एवं वाहन सुख की प्राप्ति के योग बनेंगे। 
  • कार्यक्षेत्र में प्रगति के नए अवसर प्राप्त होंगे और जीवनसाथी से मतभेद की संभावना है। 
  • कार्यो में विलंब के साथ सामान्य फलों की प्राप्त होगी।

मकर राशि

  • साहसपूर्ण कार्यों के प्रति मन में उत्साह बना रहेगा। 
  • कार्य पूर्ण होने पर आपको उत्तम फलों की प्राप्ति होगी, अधिक प्रयत्न के साथ कर्म क्षेत्र में गति मिलेगी। 
  • संतान पक्ष की तरफ से सुखद समाचार प्राप्त होंगे। 
  • आप बुद्धि के उपयोग से आय के नए अवसर प्राप्त करेंगे, लेकिन साझेदारी वाले कार्यो में असंतोष का अनुभव रहेगा।

कुंभ राशि 

  • आपको धन संचय के नए अवसर प्राप्त होंगे और ज़िम्मेदारियों में वृद्धि होगी। 
  • आप के अंदर नेतृत्व क्षमता का विकास होगा। 
  • कार्यों में बेहतर फलों की प्राप्ति के लिए अधिक प्रयत्न करने होंगे। 
  • मानसिक तनाव आपको परेशान कर सकता है। 
  • व्यर्थ के ख़र्चों को नियंत्रित करने का प्रयास करें। 

मीन राशि 

  • आपके व्यक्तित्व के प्रभाव में वृद्धि होगी, साथ ही नए ज्ञान की प्राप्ति होगी। 
  • आपकी धार्मिक कार्यो मे रुचि बढ़ेगी। 
  • आपको संतान की प्राप्ति होगी और रचनात्मक प्रवृत्ति में वृद्धि होगी। 
  • धन संचय में दिक्कत आएगी तथा आंतरिक रूप से असंतोष रहेगा।

जीवन में बार-बार आ रही है समस्याएं? तो अभी परामर्श करें एस्ट्रोयोगी के ज्योतिषियों से। 

✍️ By- टीम एस्ट्रोयोगी

chat Support Chat now for Support
chat Support Support