देअर इज ऑलवेज़ ए नेक्सट टाइम!

क्या आप अपने जीवन की सारी उम्मीदें खो चुके हैं? क्या आपने जीवन में आई मुश्किलों के सामने अपने घुटने टेक दिए हैं? क्या आपको अब कोई उम्मीद नहीं दिख रही? क्या आपके जीवन बस अंधकार के अलावा कुछ नहीं है? तो आपको यह लेख जरूर पढ़ना चाहिए। क्योंकि इस लेख से हो सकता है कि आपको वो उम्मीद मिल जाए जिसकी तलाश आप कर रहे हैं या कर के हार चुके हैं। क्या कहा गया है न कि जहां हम उम्मीदें छोड़ देते हैं वहीं से एक नई शुरूआत होती है। क्योंकि ऐसे ही किसी महान दार्शनिक ने नहीं कहा है कि देअर इज ऑलवेज़ ए नेक्सट टाइम!

हिम्मत-ए-मर्दा तो मदद-ए-खुदा

कहते हैं कि यदि हिम्मत की जाए तो ईश्वर भी साथ देता है। परंतु यदि आपके अंदर आश ही खत्म हो जाए तो क्या? तो इस परिस्थिति में आपको समाधि ले लेना चाहिए। आपको बुरा लग रहा होगा। लेकिन यह सत्य है। खैर आप इस स्थिति तक तो नहीं पहुंचे होंगे। हमें विश्वास है कि आज भी आप उस उम्मीद को तलाश रहे हैं जिससे आप इस विपरीत परिस्थिति से निकल पाएं। अन्यथा आप इस लेख को न पढ़ रहे होते। सही कहा ना? जब नियति ने यहां तक पहुंचा ही दिया है तो हम आपको उस मार्ग तक जरूर ले जाएंगे। जिस पर चलकर आप एक बार फिर अपने सामान्य जीवन को जी सकें। आपने हर तरह की तरकीब व रास्ते को अपना चुके होंगे। लेकिन आज हम जिस मार्ग की बात करने जा रहे हैं। उस पर चलकर निश्चित ही आपको एक दिशा मिलेगी। तो वो कौन सा मार्ग है जिस पर चलकर आप आपने परेशानियों से छुटकारा पा सकते हैं? वो मार्ग है ज्योतिष का जिस पर आप चल कर जरूर अपने समस्याओं से पार पा सकेंगे। आपके जेहन में सवाल उठ रहा होगा की कौसे ज्योतिष से सभी तरह की समस्याओं से निजात पाया जा सकता है? इसी के बारे में हम आपको आगे बताने जा रहे हैं कि कैसे आप ज्योतिष के बताए मार्ग पर चलकर इस विकट परिस्थिति को पार कर सकते हैं।

ज्योतिष लगाएगा बीच मझधार में फंसी नैया को पार!

जी हां ज्योतिष ही है जिसकी सहायता से आप अपने इस हालात से उबर सकते हैं। आप माने या न माने लेकिन आपके लिए ज्योतिष वो मार्ग खोल सकता है। जिस पर आगे बढ़ने से आप अपने उस जीवन को पाने में सफल हो सकते हैं। जब भी हमारा बुरा वक्त चलता है तो अपने भी साथ छोड़ जाते हैं। लेकिन ज्योतिष हैं जो आपके बिगड़े वक्त में भी आपका साथ देते हैं। साथ ही नहीं देते बल्कि इससे आपको बाहर भी निकालते हैं। ज्योतिष शास्त्रियों की माने तो जीवन में यू ही परेशानियां नहीं आती इसके पीछे कुछ न कुछ कारण जरूर होता है। बस हम उस पर ध्यान नहीं देते हैं। जिसके चलते हम परेशान रहते हैं। अंत में हताशा के शिकार होकर कुछ गलत फैसले ले लेते हैं जो हमें और भी मुश्किलों में डालने काम करता है। ज्योतिषाचार्यों का कहना है कि यदि किसी के जीवन में सब कुछ सही चल रहा हो और अचानक से व्यक्ति के जीवन में घोर संकट आ जाए तो इसका मतलब है कि आपकी कुंडली में कुछ ऐसे योग बने हैं जो आपके इन परेशानियों के कारक हो सकते हैं। लेकिन हम इस पर ध्यान नहीं देते। यही हमारी सबसे बड़ी भूल है। ज्योतिष बताते हैं कि इसका भी निवारण मौजूद है लेकिन इसे अपनाने की आवश्यकता है। जिसके लिए आपको योग्य व अनुभवी ज्योतिष के परामर्श लेने की जरूरत है। कहीं आपकी कुंडली में तो कोई ऐसा योग नहीं जिसके चलते आप हो रहे हैं परेशान?, जानने के लिए बात करें देश के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से। ज्योतिष के बात कर आप अपने कुंडली के बारे में सब कुछ जान सकेंगे। यदि कोई दोष या अनिष्ट योग है तो उसे दूर करने का उपाय भी आपको मिलेगा। जिससे आप बेशक अपने जीवन में दोबारा सुख शांति ला सकेंगे। कुल मिलाकर यह आपको तय करना है कि आपको इस मार्ग पर चलना है की नहीं और अपने जीवन में सकारात्मक बदलाव लाना है की नहीं।

एस्ट्रो लेख

सावन अमावस्या 2...

अमावस्या तिथि बहुत मायने रखती है। हिंदू पंचांग के अनुसार कृष्ण पक्ष का यह अंतिम दिन होता है। अमावस्या की रात्रि को चंद्रमा घटते-घटते बिल्कुल लुप्त हो जाता है। सूर्य ग्रहण जैसी खगोल...

और पढ़ें ➜

सावन शिवरात्रि ...

 सावन शिवरात्रि बहुत महत्वपूर्ण होती है। माना जाता है कि भगवान भोलेनाथ अपने भक्तों की पुकार बहुत जल्द सुन लेते हैं। इसलिये उनके भक्त अन्य देवी-देवताओं की तुलना में अधिक भी मिलते है...

और पढ़ें ➜

सावन का दूसरा स...

सावन का पूरा महिना भगवान शिव की अराधना का महिना होता है। इस महिने में शिव पूजा, जलाभिषेक करने से अत्यंत लाभदायक फल इंसान को मिलते हैं। जिनका अपना अपना महत्व होता है। 2019 के सावन क...

और पढ़ें ➜

सावन 2019 में ब...

हिन्दू पंचांग में श्रावण मास सबसे पवित्र मासों में से एक है। यह माह प्रभु शिव को समर्पित है और इस पावन अवसर पर बड़ी तादात में शिव भक्त देश-विदेश के शिव मंदिरों में जाकर उनके शिवलिंग...

और पढ़ें ➜