Skip Navigation Links
मंगल का धनु राशि में परिवर्तन – जानें अपना राशिफल


मंगल का धनु राशि में परिवर्तन – जानें अपना राशिफल

7 मार्च को मंगल ग्रह राशि परिवर्तन करेंगें। शाम 6 बजकर 53 मिनट पर मंगल स्वराशि वृश्चिक से परिवर्तन कर धनु राशि में आ जायेंगे। मंगल को उर्जा देने वाला ग्रह माना जाता है। इन्हें युद्ध का देवता कहा जाता है। मंगल को क्रूर ग्रहों में से एक माना जाता है। इसलिये ज्योतिष शास्त्र में मंगल की गतिविधियों पर विद्वानों की नज़र बनी रहती है। मंगल का यह परिवर्तन सभी राशियों पर भाव अनुसार क्या प्रभाव डाल रहा है। आइये जानते हैं मंगल के धनु राशि में परिवर्तन करने पर क्या रहेगा आपका राशिफल।


मंगल गोचर का राशिनुसार प्रभाव


मेष

मंगल आपकी राशि के स्वामी भी हैं जो कि अष्टम भाव से परिवर्तन भाग्य स्थान में आ रहे हैं। इस परिवर्तन के साथ ही मंगल भाग्य स्थान में शनि के साथ आ जायेंगें। यह समय आपके लिये भाग्यवृद्धि के संकेत कर रहा है। आपके जीवन में रूके हुए कार्यों में तेजी आने की उम्मीद कर सकत हैं। कार्य करने में आपका मन लगेगा। आपकी प्रतिबद्धता भी आपके काम के प्रति बढ़ने के आसार हैं। इस दौरान आपमें क्षमता से भी अधिक प्रदर्शन करने का सामर्थ्य रहेगा। धन निवेश करने के लिहाज से भी यह समय बढ़िया कह सकते हैं। हालांकि माता की सेहत को लेकर इस समय थोड़ा सचेत रहने की आवश्यकता है। उनसे मनमुटाव भी हो सकता है।


वृष

आपकी राशि से मंगल अष्टम भाव में शनि के साथ गोचररत हो रहे हैं। अष्टम मंगल नाम व प्रसिद्धि देने वाले होते हैं। इस समय का आप भरपूर लाभ उठा सकते हैं। इस समय आप अपना बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं। हालांकि आपको ज्यादा अग्रसेन, अंहकार और गुस्से से भी बचने के प्रयास करने होंगे। अग्नितत्व से भी आपको थोड़ा सचेत रहने की आवश्यकता रहेगी। मंगल का यह परिवर्तन आपके लिये लाभ के नये स्त्रोत ले कर आ सकता है। बचत करने पर विचार कर सकते हैं। हालांकि सेहत के प्रति आपको थोड़ा सचेत रहना होगा। खासकर सिरदर्द आपकी सिरदर्दी को बढ़ा सकता है।


मिथुन

आपकी राशि से मंगल सप्तम भाव में आ रहे हैं। शनि के साथ युति होने से दांपत्य जीवन के लिये यह समय थोड़ा परेशानियों भरा रह सकता है। हो सकता है आपके स्वभाव में क्रोध की प्रवृति रहना इन परेशानियों का कारण बने। आपकी राशि से देखा जाये तो लाभ घर के स्वामी मंगल हैं। शनि के साथ आने से आपको लाभ में भी कमी का सामना करना पड़ सकता है। आपके लिये सलाह है कि इस समय अपने गुस्से पर काबू रखें। धन निवेश के मामले में जोखिम उठाने से बचें।


कर्क

आपकी राशि से मंगल छठे भाव में शनि के साथ गोचर करेंगें। मंगल का यह परिवर्तन आपके लिये हो सकता है अपेक्षानुसार परिणाम न लेकर आये। प्रतिद्वंदियों से कड़ी चुनौति का सामना आपको करना पड़ सकता है। साथ ही सेहत भी हो सकता है आपका क्षमतानुसार साथ न दे। आपके लिये सलाह है कि स्वास्थ्य के मामले में लापरवाही न बरतें। शत्रु चाहे कितना ही कमजोर क्यों न हो उसे हल्के में न लें। प्रोपर्टी में निवेश करने से पहले अच्छे से विचार-विमर्श कर परिणामों के बारे में गहरे से सोचें। यदि बहुत अच्छा ऑफर न दिखाई दे तो निवेश न ही करें। यात्रा के योग भी आपके लिये बन रहे हैं। यात्रा के दौरान फिजूल खर्ची व सेहत का ध्यान रखें।


सिंह

सिंह राशि वालों के लिये मंगल का परिवर्तन पंचम स्थान में हो रहा है। पंचम भाव में शनि से युति होने के कारण आपके लिये पर्सनल रिलेशनशिप में पार्टनर से मनमुटाव रह सकते हैं। हालांकि प्रोफेशनली यह समय आपके लिये लाभ के संकेत कर रहा है। यात्रा भी आपको इस दौरान करनी पड़ सकती है। प्रोपर्टी में निवेश करना आपके लिये लाभदायक रह सकता है।


कन्या

मंगल आपकी राशि से सुख भाव में शनि के साथ गोचर करेंगें। मंगल का यह परिवर्तन माता के साथ आपके संबंधों पर नेगेटिव इफेक्ट डाल सकता है। आपकी सुख सुविधाओं में भी हो सकता है कमी आये। रोमांटिक लाइफ में भी आपको पार्टनर के नखरे झेलने पड़ सकते हैं। विवाहित जीवन में भी हो सकता है किसी बात को लेकर लाइफ पार्टनर से मतभेद हो जाएं। हालांकि कामकाजी जीवन में आपके लिये उन्नति के योग बन रहे हैं। व्यवसायी जातक भी लाभ प्राप्ति की उम्मीद रख सकते हैं।


तुला

तुला राशि वालों के लिये मंगल पराक्रम भाव में परिवर्तन कर रहे हैं। तीसरे घर में मंगल व शनि की युति होने से आपको इस समय लक्ष्य हासिल करने के लिये कड़ी मेहनत करनी पड़ सकती है। शत्रु से भी आपको व्यर्थ में वाद-विवाद का सामना करना पड़ सकता है। इस समय आपके लिये सलाह है कि भाग्य के भरोसे न बैठें और कर्म करने में विश्वास रखें। कार्यस्थल पर भी किसी से वाद-विवाद करने से बचकर रहें तो बेहतर रहेगा।


वृश्चिक

आपकी राशि के स्वामी मंगल आपकी ही राशि से परिवर्तन कर रहे हैं जो कि दूसरे भाव में शनि के साथ युति कर रहे हैं। धन भाव में मंगल व शनि के साथ होने से आपके लिये फाइनेंशियल लॉस होने के आसार हैं इसलिये फाइनेंशियल डिसीज़न सोच समझकर ही लें। रोमांटिक लाइफ में भी आपको परेशानियों से गुजरना पड़ सकता है। हो सकता है पार्टनर को पूरा समय न दे पायें, या फिर किसी अन्य कारण से भी आपके बीच तल्खियां पैदा हो सकती हैं। यात्रा के दौरान इस समय विशेषरुप से सचेत रहें। खासकर जब वाहन स्वयं चला रहे हों तो सचेत होकर चलें। भाग्य के भरोसे बैठना आपके लिये काम नहीं करेगा। आपकी बात कर्म करने से ही बनेगी।


धनु

मंगल 12वें भाव से गोचर कर आपकी ही राशि में आ रहे हैं जहां शनि पहले से ही गोचररत हैं। आपकी राशि में मंगल व शनि की युति से मिले जुले परिणाम मिल सकते हैं। पर्सनल लाइफ में यह समय थोड़ी परेशानी वाला रह सकता है लेकिन प्रोफेशनल लाइफ में आप अच्छा कर सकते हैं बशर्ते कार्यस्थल पर वाद-विवाद से बचें। जो जातक लंबे समय से घर या गाड़ी की खरीददारी के लिये प्रयासरत हैं उनके लिये इस समय में शुभ योग बन रहे हैं। रोमांटिक लाइफ में थोड़ा सचेत रहें पार्टनर से मनमुटाव हो सकते हैं। शारीरिक चोट आदि का भय भी बना रह सकता है अपना ध्यान रखें।


मकर

आपकी राशि से मंगल 12वें घर में शनि के साथ आ रहे हैं। यह समय आपके लिये फिजूल खर्ची होने के संकेत कर रहा है जिससे आपको बचने की आवश्यकता है। सिरदर्द की शिकायत भी आपको हो सकती है। इस समय आपके स्वभाव में आक्रामकता रहने की आसार हैं जिसके पोजीटिव व नेगेटिव दोनों की इफेक्ट हो सकते हैं। यह पूरी तरह आप पर निर्भर करेगा कि आप अपनी आक्रामकता को कैसे पोजिटिवली यूज करें। अपने प्रतिद्वंदियों पर हावि रह सकते हैं। कार्यस्थल पर आपका प्रदर्शन बेहतर रहने की उम्मीद कर सकते हैं। परिजनों से संबंध थोड़े परेशानी वाले रह सकते हैं खासकर भाई बहनों से मनमुटाव रह सकता है।


कुंभ

आपकी राशि से मंगल लाभ घर में शनि के साथ आ रहे हैं। लाभ स्थान में मंगल व शनि के आने से हो सकता है आपको अपेक्षानुसार लाभ न मिलें। हालांकि समय के साथ आप अपने लाभ में वृद्धि महसूस कर सकते हैं। पैतृक संपत्ति के मामले में विवाद उत्पन्न हो सकता है जरा संभल कर रहें। अपनी ओर से किसी भी प्रकार के विवाद को तूल न दें। संतान व शिक्षा संबंधी मामलों में भी हो सकता है यह समय अनुकूल परिणाम न लेकर आये। शत्रु व रोग से भी भय बना रह सकता है।


मीन

आपकी राशि से कर्मभाव में मंगल व शनि की युति हो रही है। इस समय आप पर कोई अतिरिक्त जिम्मेदारी आ सकती है। हालांकि कार्यस्थल पर आपको थोड़ा सचेत रहने की आवश्यकता भी है। क्योंकि किसी सहकर्मी से उलझने के पूरे आसार नज़र आ रहे हैं। हृद्य संबंधी रोगों के प्रति जागरुक रहें। इस समय अपने पिता के स्वास्थ्य को लेकर भी चिंतित रह सकते हैं। हालांकि माता से पूर्ण सहयोग की उम्मीद कर सकते हैं। रोमांटिक लाइफ में पार्टनर से छुट-पुट झगड़े हो सकते हैं।

यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन के आधार पर है। कुंडली के अनुसार मंगल आपका अमंगल करेंगें या मंगल जानने के लिये इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से गाइडेंस लें।


यह भी पढ़ें

ग्रह गोचर 2018   |   मंगल गोचर 2018   |   मूंगा रत्न – मंगल की पीड़ा को हर लेता है मूंगा   |   युद्ध देवता मंगल का कैसे हुआ जन्म पढ़ें पौराणिक कथा




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

शुक्र मार्गी - शुक्र की बदल रही है चाल! क्या होगा हाल? जानिए राशिफल

शुक्र मार्गी - शुक...

शुक्र ग्रह वर्तमान में अपनी ही राशि तुला में चल रहे हैं। 1 सितंबर को शुक्र ने तुला राशि में प्रवेश किया था व 6 अक्तूबर को शुक्र की चाल उल्टी हो गई थी यानि शुक्र वक्र...

और पढ़ें...
वृश्चिक सक्रांति - सूर्य, गुरु व बुध का साथ! कैसे रहेंगें हालात जानिए राशिफल?

वृश्चिक सक्रांति -...

16 नवंबर को ज्योतिष के नज़रिये से ग्रहों की चाल में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव हो रहे हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ग्रहों की चाल मानव जीवन पर व्यापक प्रभाव डालती है। इस द...

और पढ़ें...
कार्तिक पूर्णिमा – बहुत खास है यह पूर्णिमा!

कार्तिक पूर्णिमा –...

हिंदू पंचांग मास में कार्तिक माह का विशेष महत्व होता है। कृष्ण पक्ष में जहां धनतेरस से लेकर दीपावली जैसे महापर्व आते हैं तो शुक्ल पक्ष में भी गोवर्धन पूजा, भैया दूज ...

और पढ़ें...
गोपाष्टमी 2018 – गो पूजन का एक पवित्र दिन

गोपाष्टमी 2018 – ग...

गोपाष्टमी,  ब्रज  में भारतीय संस्कृति  का एक प्रमुख पर्व है।  गायों  की रक्षा करने के कारण भगवान श्री कृष्ण जी का अतिप्रिय नाम 'गोविन्द' पड़ा। कार्तिक शुक्ल ...

और पढ़ें...
देवोत्थान एकादशी 2018 - देवोत्थान एकादशी व्रत पूजा विधि व मुहूर्त

देवोत्थान एकादशी 2...

देवशयनी एकादशी के बाद भगवान श्री हरि यानि की विष्णु जी चार मास के लिये सो जाते हैं ऐसे में जिस दिन वे अपनी निद्रा से जागते हैं तो वह दिन अपने आप में ही भाग्यशाली हो ...

और पढ़ें...