ज्योतिष के आधार पर कैसा बीतेगा प्रधानमंत्री मोदी का अगला साल?

16 सितम्बर 2020

17 सितंबर 1950 को जन्मे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बार अपना 70वां जन्मदिन मनाएंगे। पीएम नरेंद्र मोदी की वृश्चिक लग्न कुंडली है और राशि वृश्चिक है। पीएम मोदी की राशि वृ्श्चिक होने के कारण यह काफी गंभीर और साहसी हैं। किसी भी निर्णय को लेते वक्त डरते नहीं हैं बल्कि आत्मविश्वास के साथ लेते हैं। वृश्चिक राशि के जातक कठिन परिश्रम करने वाले होते हैं और काफी व्यवहार कुशल भी होते हैं लेकिन अपने विरोधियों को आसानी से छोड़ते भी नहीं हैं। इन लोगों में असाधारण इच्छाशक्ति होती है और जीवन में हमेशा सफल होते हैं। 

 

अकंज्योतिष के अनुसार पीएम मोदी का मूलांक 8 है। 8 अंकवाले जातक हमेशा मदद करने वाले और कठिन परिश्रम करके जीत हासिल करने वाले होते हैं। ये घातक समाज में यश, मान-सम्मान काफी प्राप्त करते हैं और विपरीत परिस्थितियों से डटकर लड़ने वाले होते हैं। पीएम मोदी का मूलांक 8 होने की वजह से यह एक योग्य पीएम भी हैं और अपने कार्यों से पूरी दुनिया में वाहवाही लूट रहे हैं। वहीं हम इस लेख में आपको एस्ट्रोयोगी एस्ट्रोलॉजर द्वारा पीएम मोदी की कुंडली का ज्योतिषीय आकलन करके अगला आने वाला साल कैसा रहेगा इसके बारे में बताने जा रहे हैं। 


 

कैसा रहेगा पीएम नरेंद्र मोदी का आगामी वर्ष 

17 सिंतबर को जन्मे पीएम मोदी की जन्मकुंडली में चंद्रमा भाग्य का स्वामी होकर लग्न में लग्नेश के साथ केंद्र त्रिकोण राजयोग बना रहा है। साथ ही वर्तमान में चंद्रमा की महादशा भी चल रही है, जो भाग्य का स्वामी है। वहीं चंद्रमा के साथ अंतरदशा में शुक्र चल रहे हैं जो मई 2021 तक रहेंगे। ऐसे में पीएम मोदी के प्रभाव और जोश में कमी तो नहीं होगी लेकिन उनके द्वारा किए गए कार्य या बनाई गई योजनाओं में सफलता भी हासिल होने की संभावनाएं नजर नहीं आ रही हैं।

 

वहीं मई 2021 में चंद्रमा के साथ सूर्य का आना, जोश में और अधिकता बनाने वाला योग बना रहा है। साथ ही पीएम मोदी के आगे आने वाले 8 साल सबसे सुखद रहने वाले हैं क्योंकि इस समय मंगल की महादशा रहेगी, जिसकी वजह से पीएम मोदी को यश, मान-सम्मान की प्राप्ति होगी। 

 

क्यों बाकी राजनेताओं से अलग है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी?

वहीं जब बात आती है कि पीएम मोदी दूसरे राजनेताओं से इतने अलग कैसे हैं और 70 साल की उम्र में भी खुद को इतना ऊर्जावान कैसे रख पाते हैं? तो जवाब है कि उनकी दैनिक दिनचर्या। जी हां, पीएम मोदी दिन में करीब 3 से 4 घंटे की ही नींद लेते हैं और साधारण सात्विक भोजन के साथ योगा करके खुद को फुर्तीला और चुस्त रखते हैं। पीएम मोदी अपने काम को लेकर काफी समर्पित हैं। वह हर दिन सभी सभाओं में शामिल होते हैं और समय को काफी अहमियत भी देते हैं। 

 

पूरी दुनिया में प्रधानमंत्री मोदी की अलग पहचान की एक वजह उनकी भाषाशैली और पारंपरिक परिधान हैं। उनकी भाषाशैली ऐसी है कि वजह कई तरह की भाषाओं के साथ संबोधन करते हैं। जब वह किसी भी राजनेता या देश-विदेश के राजनेता से मिलते हैं तो उनको गले लगाकर ही अभिवादन करते हैं। इसके अलावा कई बार पीएम मोदी ने प्रोटोकॉल तोड़कर भी एयरपोर्ट जाकर विदेशी राजनेता का स्वागत किया है। 

एस्ट्रो लेख

ज्येष्ठ पूर्णिमा 2021 – वट पूर्णिमा व्रत का महत्व व पूजा विधि

आषाढ़ माह 2021 – जानें आषाढ़ माह के व्रत व त्यौहार

कबीर जयंती 2021 – जात जुलाहा नाम कबीरा

शुक्र का कर्क राशि में परिवर्तन - जानिए किन राशियों की बदलने वाली है किस्मत

Chat now for Support
Support