Skip Navigation Links
2018 में कैसे रहेंगे भारत में सियासत के सितारे?


2018 में कैसे रहेंगे भारत में सियासत के सितारे?

सियासी तौर पर देखा जाये तो 2017 एक बहुत ही महत्वपूर्ण वर्ष साबित हुआ है। उत्तर प्रदेश से लेकर गुजरात तक विधानसभा चुनाव में पंजाब को छोड़कर हर जगह भाजपा की कामयाबी का परचम लहराया है। सियासी रुप से भी यह काफी अहम वर्ष रहा। हालांकि गुजरात की जीत सत्ताधारी पार्टी के लिये अपेक्षाकृत परिणाम लेकर तो नहीं आई लेकिन जीत तो जीत होती है। 2019 में सभी राजनीतिक दलों की असल परीक्षा होनी है इसलिये 2018 भी राजनीतिक तौर पर काफी महत्वपूर्ण व गहमागहमी वाला साल रहने के आसार हैं। सत्ताधारी पार्टी मतदाताओं को आकर्षित करने के लिये कुछ आकर्षक योजनाएं भी इस साल लेकर आ सकती है तो वहीं विपक्षी पार्टियां सरकार की नाकामयाबियों के लिये सरकार को घेरने की योजना भी बना सकती हैं। ऐसे में ज्योतिषीय नज़रिये से देश के राजनीतिक हालात वर्ष 2018 में कैसे रहेंगे आइये जानते हैं एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्य इस बारे में क्या कहते हैं।


राशिनुसार अपना भविष्यफल जानने के लिये यहां क्लिक करें वार्षिक राशिफल 2018 ( Rashifal 2018)


इस समय भारत पर राशि स्वामी चंद्रमा की महादशा चल रही है जोकि 2025 तक रहेगी। साल 2018 की शुरुआत के समय भारत की कुंडली के अनुसार भारत पर राहू की अतंर्दशा तो केतु प्रत्यतंर दशा में गोचर करेंगें। वहीं वर्ष का आरंभ कन्या लग्न में हो रहा है जो कि भारत की राशि कर्क से तीसरा स्थान है।

ज्योतिषाचार्यों का मानना है कि राजनीति के क्षेत्र में नववर्ष 2018 गत वर्ष की तरह बहुत अधिक परिवर्तनों वाला तो नहीं रहेगा। लेकिन बृहस्पति के वृद्ध होने के कारण कुछ क्षेत्रों में नई तरह की उठापटक जरुर देखने को मिल सकती है। लेकिन मुख्य रूप से माहौल राजनीतिक स्थिरता वाला ही बना रहेगा।

राष्ट्रीय मुद्दों के मामले में राजनीतिक पार्टियां अपने लाभ के लिये बड़े अवसरों को भुनाने की कौशिश कर सकती हैं। कुछ क्षेत्रों में सांप्रदायिकता की समस्या से भी मुख्य राजनीतिक पार्टी को झूझना पड़ सकता है।  

यदि पूरे वर्ष पर नज़र डाली जाये तो मार्च से लेकर जून तक के समय विपक्षी पार्टियों की आवाज़ सुनाई दे सकती है। राजनीतिक पार्टियों द्वारा आंदोलन भी इस समय किये जा सकते हैं। वहीं जुलाई माह में जैसे ही बृहस्पति वक्री होंगे। देश में राजनीतिक सक्रियता और अधिक हो जायेगी। किसी विधेयक को लेकर इस दौरान अड़चने भी पैदा हो सकती हैं लेकिन अगस्त में मंगल के मार्गी होने पर लंबित विधेयक पारित हो सकता है।

इसके बाद वर्ष के अंतिम दिनों में मंगल भारत की राशि से भाग्य स्थान में प्रवेश करेंगे इस समय भी देश में राजनैतिक हलचल तेज होने के आसार बनेंगें। 

आपकी कुंडली के अनुसार आपके भाग्य का सितारा कब चमकेगा जानिये देश के जाने माने एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों से, परामर्श करने के लिये यहां क्लिक करें।


यह भी पढ़ें

अंक ज्योतिष भविष्यफल 2018  |    2018 में क्या कहती है भारत की कुंडली   |   2018 में कैसे रहेंगें सिनेमा के सितारे   |   

भारत खेल 2018 - खेलों में कैसा रहेगा भारत का प्रदर्शन?




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

शुक्र मार्गी - शुक्र की बदल रही है चाल! क्या होगा हाल? जानिए राशिफल

शुक्र मार्गी - शुक...

शुक्र ग्रह वर्तमान में अपनी ही राशि तुला में चल रहे हैं। 1 सितंबर को शुक्र ने तुला राशि में प्रवेश किया था व 6 अक्तूबर को शुक्र की चाल उल्टी हो गई थी यानि शुक्र वक्र...

और पढ़ें...
वृश्चिक सक्रांति - सूर्य, गुरु व बुध का साथ! कैसे रहेंगें हालात जानिए राशिफल?

वृश्चिक सक्रांति -...

16 नवंबर को ज्योतिष के नज़रिये से ग्रहों की चाल में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव हो रहे हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ग्रहों की चाल मानव जीवन पर व्यापक प्रभाव डालती है। इस द...

और पढ़ें...
कार्तिक पूर्णिमा – बहुत खास है यह पूर्णिमा!

कार्तिक पूर्णिमा –...

हिंदू पंचांग मास में कार्तिक माह का विशेष महत्व होता है। कृष्ण पक्ष में जहां धनतेरस से लेकर दीपावली जैसे महापर्व आते हैं तो शुक्ल पक्ष में भी गोवर्धन पूजा, भैया दूज ...

और पढ़ें...
गोपाष्टमी 2018 – गो पूजन का एक पवित्र दिन

गोपाष्टमी 2018 – ग...

गोपाष्टमी,  ब्रज  में भारतीय संस्कृति  का एक प्रमुख पर्व है।  गायों  की रक्षा करने के कारण भगवान श्री कृष्ण जी का अतिप्रिय नाम 'गोविन्द' पड़ा। कार्तिक शुक्ल ...

और पढ़ें...
देवोत्थान एकादशी 2018 - देवोत्थान एकादशी व्रत पूजा विधि व मुहूर्त

देवोत्थान एकादशी 2...

देवशयनी एकादशी के बाद भगवान श्री हरि यानि की विष्णु जी चार मास के लिये सो जाते हैं ऐसे में जिस दिन वे अपनी निद्रा से जागते हैं तो वह दिन अपने आप में ही भाग्यशाली हो ...

और पढ़ें...