राहु गोचर 2020 - मिथुन से वृषभ राशि में गोचर

22 सितम्बर 2020

राहु और केतु वैदिक ज्योतिष में छाया ग्रह माना जाता हैं परंतु इनका वास्तविक भौतिक अस्तित्व नहीं है और इसकी गति हमेशा प्रतिगामी होती है। ज्योतिषाचार्य के मुताबिक राहु जीवनकाल के लिए कर्म के उद्देश्यों का प्रतिनिधित्व करता है और आत्मा की वृद्धि और विकास का मार्ग बताता है। राहु वायु तत्व राशि मिथुन से पृथ्वी तत्व राशि वृषभ में गोचर करने जा रहा है। पृथ्वी तत्व राशि में राहु स्थिरता प्रदान करेगा।
राहु का गोचर कब और किन नक्षत्रों से होकर गुजरेगा?

ज्योतिष के अनुसार राहु 23 सितंबर 2020 को दोपहर 12 बजकर 16 मिनट पर वृषभ राशि में गोचर करेगा और यह 11 अप्रैल 2022 को 14 बजकर 53 मिनट पर वृषभ से दोबारा गोचर कर जाएगा। इस अवधि के दौरान, यह 3 नक्षत्र - मृगशिरा, रोहिणी और कृतिका के मध्य से यात्रा करेगा। पंडितजी का कहना है कि वर्तमान में यह मंगल मृगशिरा के नक्षत्र से गुजर रहा है, जिसमें वह हिरण के समान व्यवहार करता है, जिसके पास स्वयं कस्तूरी होने के बाद भी वह इसे बाहर खोजने की कोशिश करता है। इसी तरह, जातक अपनी ताकत पर भरोसा नहीं करेगा और बाहर से समर्थन प्राप्त करने की कोशिश करेगा। लेकिन एक बार जब उसे अपनी क्षमता का एहसास हो जाता है, तो वह कुछ भी हासिल कर सकता है। 

रोहिणी में पारगमन के दौरान, यह चंद्रमा के नक्षत्र में होगा, इस अवधि के दौरान जातकों को संतुष्टि नहीं होगी। उनकी एक अनियंत्रित इच्छा होगी और इससे जुड़ा क्षेत्र यौन सुख, भौतिकवादी चीजें जैसे शानदार वाहन, संपत्ति, आदि आपको अधिक प्राप्त करने की गहरी इच्छा पैदा कर सकता है। तीसरे चरण में, यह कृतिका नक्षत्र से होकर गुजरेगा। इच्छाएँ चरम स्थिति में होंगी और उसे पूरा करने के लिए जातक कुछ भी करेंगे, भले ही उन्हें गलत रास्ते पर ही चलना पड़े। हालांकि राहु के राशि परिवर्तन से मानव जीवन पर प्रभाव भी पड़ेगा। ऐसे में एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्य आपको बताएंगे कि केतु के राशि परिवर्तन से सभी 12 राशियों पर कैसा पड़ेगा? 

मेष राशि
राहु जातक की कुंडली में दूसरे भाव में विराजमान होंगे, जो कि भाषण, धन और परिवार का घर है। इससे जातक का पारिवारिक बंधन मजबूत होगा। यदि आपके परिवार के साथ आपका कोई विवाद था, तो उस समस्या को हल करने के लिए यह अनुकूल समय है। पैतृक संपत्ति में लाभ होने की अच्छी संभावना है। इस गोचर के दौरान व्यवसायी फले-फूलेंगें। व्यवसायी जातक बाजार में अपने उत्पाद मूल्य को बनाए रखने के बारे में सतर्क रहेंगे और पैसे के मामले में काफी सीधे और स्पष्ट होंगे। कामकाजी पेशेवरों को अपनी नौकरी में अचानक वृद्धि का मौका मिलेगा। राहु उनके लिए धन और भाग्य लाएगा।  

वृषभ राशि
ज्योतिष के अनुसार वृषभ राशि के जातकों की कुंडली में राहु लग्न भाव में गोचर करेगा, जो कि व्यक्तित्व, स्वास्थ्य और सामान्य समृद्धि का घर है। 'तनु स्थान' में यह एक व्यक्ति में आकर्षण की शक्ति और लोगों को उनकी ओर सहजता से आकर्षित करने की क्षमता देता है। आप आत्म संदेह मोड में हो सकते हैं, लेकिन एक बार जब आप अपनी आंतरिक शक्ति को समझ जाते हैं, तो आपका मन आपके व्यक्तित्व को मजबूत करने में मदद करेगा और आपका साहसिक निर्णय आपके कैरियर के मोर्चे में अचानक वृद्धि देने में मदद कर सकता है।यह एक व्यक्ति को बहुत निचले स्तर से उच्चतम स्तर तक पहुंचने में सहायता करता है। आपकी वाणी में उग्रता रहेगी। आपके मन में कुछ हो सकता है लेकिन इस दौरान उन भावनाओं को प्रदर्शित नहीं करना चाहेंगे। आपको अपने खर्चों के बारे में सावधान रहना होगा, अप्रत्याशित व्यय आपके लिए समस्या पैदा कर सकता है।
 
मिथुन राशि
राहु आपके 12 वें भाव, जो कि प्रकृति, खर्च और ध्यान का भाव है। इस स्थिति में राहु की गतिशीलता उत्साह नहीं लाएगी, इसलिए व्यक्ति कम उत्साहित होगा। वह शांति की तलाश में होगा, लेकिन उसे यह एहसास नहीं है कि यह उसके भीतर है। चूंकि यह प्रकृति का घर है, और राहु भी प्रकृति का संकेत दे रहा है, इसलिए प्राकृतिक आपदा से संबंधित समस्याएं होने की संभावना है। ज्योतिषाचार्य का कहना है कि व्यय के घर के कारण आपको अप्रत्याशित खर्चों का सामना करना पड़ सकता है। इस अवधि के दौरान आपको स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए कृपया अपने स्वास्थ्य की अच्छी देखभाल करें और इसे ठीक से मॉनिटर करने के लिए नियमित जांच करवाएं। हो सकता है कि आपका निवेश आपको वांछित लाभ न दे सके इसलिए पैसा निवेश करते समय सावधान रहें। आप महंगे कपड़ों, आभूषणों, कारों आदि जैसी भौतिकवादी चीजों में निवेश करने की कोशिश करेंगे, लेकिन बहुत अधिक खरीद के बाद भी, आपको संतुष्टि नहीं मिलेगी।
 

कर्क राशि
राहु आपके 11 वें घर, जो कि बड़े भाई-बहन के संबंधों, लाभ और इच्छा की पूर्ति का भाव है। इस स्थिति में राहु की गतिशीलता अत्यंत शक्तिशाली होगी और लोग विभिन्न मार्गों से धन प्राप्त करते हैं। लोग अत्यधिक महत्वाकांक्षी हो जाते हैं, उनके पास उत्कृष्ट कल्पना शक्ति होगी, और जीवन में उत्कृष्ट आकांक्षाएं होंगी। दोस्तों और बड़े भाई-बहनों के साथ रिश्ते मज़बूत होंगे और लोगों को उनसे बढ़िया लाभ मिल सकता है। यह पारगमन आपको नाम, प्रसिद्धि और यश प्रदान करेगा। आपको संतान से सुख और संपत्ति प्राप्त होगी। ज्योतिषाचार्य का कहना है कि राहु के राशि परिवर्तन से आपको एक सुंदर घर, शानदार कार, गहने और जीवन के आराम जैसी सभी भौतिकवादी इच्छाओं को पूरा करने में मदद मिलेगी। इस स्थिति में राहु व्यक्ति को श्रेष्ठता प्रदान करता है। वित्तीय लाभ के लिए यह एक अच्छा समय है, लेकिन उन्हें लॉटरी, जुआ आदि में निवेश करने से बचना चाहिए। लोगों को रहस्य विज्ञान में रुचि हो सकती है, और वे इस अवधि के दौरान सीखने में रुचि रखेंगे।
 
सिंह राशि
राहु आपके 10 वें घर में गोचर करेगा। यह भाव कार्य के लिए है। लोगों को नई ज़िम्मेदारियाँ मिलेंगी, और आप इसे सफलतापूर्वक संभाल पाएंगे। आपकी कल्पना और रचनात्मक कौशल आपको शीर्ष स्थान पर ले जाएगा। काम के प्रति आपका जुनून आपको करियर के मोर्चे में नई ऊंचाइयां देगा। उत्कृष्ट प्रगति जातक को प्रशासनिक शक्ति प्रदान करती है। धन सृजन के लिए यह अच्छा समय है। नौकरी में बदलाव की संभावना है इसलिए जिन लोगों की इच्छा बदलना है उन्हें इस अवधि में मौका मिलेगा। आप अपने काम में व्यस्त रहेंगे, जिसके चलते आप आराम और पारिवारिक जीवन का आनंद नही ले पाएंगे। आपके रिश्तों में भी कुछ परेशानियां आ सकती है। आपका अपने अधिकारी या सरकारी अधिकारियों से विवाद हो सकता है इसलिए इस अवधि में सावधान रहें। अगर आप नया घर या वाहन खरीदना चाहते हैं, तो कुछ समय के लिए इस विचार को त्याग दें। 
 
कन्या राशि
राहु आपके 9 वें घर में गोचर करेंगे जो भाग्य का घर है। यह धार्मिक विश्वास, पिता, धर्म, लंबी यात्रा, और अध्यात्मिकता का भाव है। लोगों को अपने नाम से इस अवधि में एक नया व्यवसाय शुरू नहीं करना चाहिए क्योंकि उनकी किस्मत इस गोचर के दौरान अनुकूल नहीं होगी, इसलिए उन्हें इसे बढ़ाने के लिए दूसरों के नाम का उपयोग करना चाहिए। लोग धर्म में विश्वास खो सकते हैं। तीर्थयात्रा और धार्मिक गतिविधि आपके कठिन जीवन पर कोई सकारात्मक प्रभाव प्रदान नहीं करेंगे। कई देशों में दौरा करने की संभावना है, लेकिन आपको अपनी यात्रा के दौरान कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, और आप इसे सार्थक नहीं मान सकते हैं। वांछित परिणाम प्राप्त करने के लिए लोगों को कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता हो सकती है जो उनके लिए आरामदायक नहीं है। इस अवधि में एक स्वास्थ्य समस्या उत्पन्न हो सकती है।
 
तुला राशि
राहु आपके 8 वें घर में गोचर करने वाले हैं। यह भाव रहस्य, अनुसंधान, अप्रत्याशित धन और बाधाओं का है। जो लोग ज्योतिष, हस्तरेखा, वास्तु, आदि जैसे गूढ़ विज्ञान में रुचि रखते हैं, उनके लिए यह सीखने का एक अच्छा समय है। शोध कार्य करने वाले छात्र और शोधकर्ता बेहतर निष्कर्षों के साथ आएंगे। आध्यात्मिक विकास के लिए यह अच्छा समय है। यह गोचर आपको अनावश्यक भय दे सकता है। पंडितजी का कहना है कि बाधाओं के घर में राहु की उपस्थिति जीवन में अप्रत्याशित बाधाएं पैदा करेगी। निवेश करने से पहले उचित मार्गदर्शन लें ताकि आपको किसी वित्तीय नुकसान का सामना न करना पड़े। आपको बोलते समय संयम बरतना चाहिए। वाहन चलाते समय सतर्क रहें क्योंकि दुर्घटनाओं की भी संभावना है। पैतृक संपत्ति पाने के लिए आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।
 
वृश्चिक राशि
राहु आपके 7 वें घर में गोचर कर रहा है। जो कि साझेदारी और व्यापार के घर में स्थानांतरित हो रहा है। यह पारगमन साझेदारी व्यवसाय के लिए अनुकूल नहीं है, और इस अवधि के दौरान साझेदारी में विश्वासघात की उच्च संभावना है। लोगों को अपने व्यवसाय के माध्यम से अच्छा लाभ हो सकता है, काम के लिए उनका जुनून उन्हें पेशेवर जीवन में नई ऊंचाइयां देगा। वित्तीय लाभ होगा, लेकिन आप अपने खर्चों के प्रति सचेत रहें। दांपत्य जीवन के लिए, यह गोचर सहायक नहीं है। झगड़े और विवाद रिश्ते में विवाद पैदा करेंगे। जीवनसाथी से उन्हें कम आराम और समर्थन मिल सकता है और परस्त्री के कारण धन की हानि हो सकती है, यदि आपकी कुंडली में राहु का दंश बुरी तरह से पड़ा है तो आफकी आजीविका पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। 

धनु राशि
आपकी राशि के लिए राहु 6 वें भाव में गोचर करेंगे। यह घर प्रतियोगिता, दुश्मन और रोग का है। धनु राशि वालों के लिए बहुत ही अनुकूल गोचर है। आपके पास दुश्मनों को नष्ट करने की क्षमता होगी और वे आपको कोई नुकसान नहीं पहुंचा सकते। व्यय नियंत्रण में रहेंगे जिससे आप संपत्ति बना पाएंगे। लोग अपने खर्चों में कटौती करने की कोशिश करेंगे ताकि वे अपने कर्ज को चुका सकें। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से, यह परिवर्तन बहुत सहायक है, आपके पास बेहतर प्रतिरक्षा शक्ति होगी। व्यावसायिक तौर पर आपको सफलता मिलेगी। लोग अधिक संगठित हो जाएंगे और व्यवस्थित रूप से सभी काम करने की कोशिश करेंगे। आप नियमित रूप से काम कर सकते हैं और जीवन के हर पहलू में पूर्णता की खोज करने का प्रयास करेंगे। काम के लिए जुनून आपके करियर को बढ़ावा देगा और आपको अपने अधीनस्थों से अच्छा समर्थन मिलेगा। इस दौरान अचानक पदोन्नति या वित्तीय लाभ होने की संभावना है। आध्यात्मिक विकास के प्रति झुकाव बढ़ सकता है।
 
मकर राशि
मकर जातकों के लिए राहु पांचवें भाव में गोचर कर रहा है। शिक्षा, रचनात्मकता, बुद्धि, बच्चे के जन्म और नव निर्माण के लिए यह घर जाना जाता है। छात्रों को इस गोचर के दौरान बहुत भ्रम हो सकता है इसलिए उन्हें ध्यान केंद्रित करना होगा। इस परिवर्तन से कुछ लोगों को यह महसूस होगा कि वे सब कुछ जानते हैं और इस वजह से वे नई चीजों को सीखने की कोशिश नहीं करेंगे जो भविष्य में उन्हें परेशानी में डालने के लिए वापस आ सकते हैं। इसलिए सलाह दी जाती है कि इस दौरान अति आत्मविश्वासी न बनें। वित्तीय मामले को सावधानी से निपटाया जाना चाहिए, शेयरों व अन्य योजना में निवेश करने से बचें, अन्यथा, आपको इस अवधि में नुकसान का सामना करना पड़ सकता है। यह गोचर आपकी आय को प्रभावित कर सकता है और आपको उम्मीद से कम लाभ हो सकता है। अपने बच्चे की बहुत अच्छी देखभाल करें क्योंकि उन्हें कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है।
 
कुंभ राशि
राहु चतुर्थ भाव में गोचर करेंगे। यह भाव माता के साथ संबंध, आराम, प्रारंभिक शिक्षा, संपत्ति, वाहन, और मानसिक शांति को प्रदर्शित करता है। राहु गोचर आपको मिश्रित परिणाम प्रदान करेगा। आप काम से ज्यादा भौतिकवादी सुख का आनंद लेना पसंद करेंगे। लेकिन यह आपको संतुष्टि नहीं देगा। आपकी माँ की तबीयत खराब हो सकती है इसलिए उनकी बहुत अच्छी देखभाल करें। घर को बदलने की योजना बना रहे लोगों के पास एक अच्छा अवसर होगा। लोग संपत्ति या वाहनों में बड़ा निवेश करना पसंद करेंगे लेकिन किसी भी सौदे को अंतिम रूप देने से पहले इस अवधि के दौरान सावधान रहें। ज्योतिषाचार्य कहना है कि अत्यधिक खर्च आपको कर्ज में डाल सकता है। आप करियर में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर सकते हैं, लेकिन फिर भी, आपको उसके लिए नाम, पहचान और पदोन्नति नहीं मिल सकती है, लेकिन आस न छोड़ें और अपना अच्छा काम जारी रखें। इस मेहनत के लिए आपको भविष्य में बेहतर परिणाम मिलेंगे।
 
मीन राशि
मीन राशि वालों के लिए राहु तीसरे घर में गोचर करेगा। यह भाव छोटे भाई-बहनों के साथ संबंध, संचार और साहस को प्रदर्शित करता है। यह अनुकूल पारगमन किसी भी विषम परिस्थितियों से निपटने का साहस प्रदान करेगा। आपकी अवचेतन शक्ति आपको अपना लक्ष्य प्राप्त करने के लिए मार्गदर्शन करेगी। आपकी संचार क्षमता आपके लिए सफलता और सुरक्षित वित्तीय लाभ के मार्ग का निर्माण करेगी। आपकी सुपर काल्पनिक शक्ति यथार्थवादी दृष्टिकोण का पालन करने के लिए आपको कल्पना में बेहतर स्थिति में ले जाएगी।

आपका बातूनी स्वभाव आपके भाई-बहनों के साथ विवाद पैदा कर सकता है इसलिए बात करते समय संयम बरतना आवश्यक होगा। यह पारगमन आध्यात्मिक विकास के प्रति आकर्षण पैदा कर सकता है। आप इस अवधि के दौरान सोशल मीडिया में अधिक शामिल हो सकते हैं जो अन्य कार्यों के लिए आपके कीमती समय को बर्बाद कर देगा। आप गैजेट्स, इलेक्ट्रॉनिक आदि पर पैसा लगा सकते हैं, इसलिए पैसे खर्च करते समय ध्यान रखें।

संबंधित लेख 

केतु गोचर 2020 । खर मास - क्या करें क्या न करें । कन्या से तुला में बुध के परिवर्तन का क्या होगा आपकी राशि पर असर?

एस्ट्रो लेख

तुला संक्रांति 2020 – सूर्य कर रहे हैं तुला में गोचर, जानिए कैसा रहेगा आपका राशिफल

जानिए बुध का तुला राशि में वक्री होना आपके लिए कितना शुभ?

शुक्र का सिंह राशि में गोचर – क्या रहेगा आपका राशिफल?

राहु गोचर 2020 - मिथुन से वृषभ राशि में गोचर

Chat now for Support
Support