Skip Navigation Links
2018 क्या लायेगा अच्छे दिन?


2018 क्या लायेगा अच्छे दिन?

एक अकेला व्यक्ति हो या भरा पूरा परिवार, एक समुदाय हो या पूरा राष्ट्र हर कोई समाज की बेहतरी की कामना करता है। किसी देश या समाज का विकास तभी माना जाता है जब उस समाज या देश के जीवन स्तर में कुछ बेहतर परिवर्तन हुए हों। मनुष्य जीवन जब सुख-सुविधाओं से परिपूर्ण हो तभी माना जा सकता है कि अच्छे दिन हैं। वैसे तो हर समाज उन्नति की ओर अग्रसर रहता है लेकिन कई बार परिस्थितियों की मार इतनी पड़ती है कि अच्छे दिन भी दुर्दिनों में बदल जाते हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार सब ग्रहों की चाल पर निर्भर करता है। अच्छे दिनों की उम्मीद कुछ विशेष अवसरों पर विशेष रूप से बंध जाती है। नववर्ष इन विशेष अवसरों में एक है।

2017 में हमने कहा था कि चंद्रमा में मंगल की अंतर्दशा के चलते अच्छे दिनों की उम्मीद बहुत ज्यादा नहीं की जा सकती है जो कि कई क्षेत्रों में सही भी साबित हुई। नोटबंदी हो या जीएसटी जैसे निर्णय इन्हें रोजगार कम होने का कारण माना जा रहा है। भात-भात करती हुई लड़की की जब मौत हो रही हो तो अच्छे दिन कल्पना ही माने जा सकते हैं। अब बात करें 2018 कि तो आइये जानते हैं 2018 में ग्रहों की दशा अनुसार भारतवासियों के लिये अच्छे दिनों की आस की जा सकती है या नहीं।

एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस समय भारत पर चंद्रमा की महादशा चल रही है। जैसे ही 2017 को अलविदा कहकर वर्ष 2018 का प्रवेश होगा उस समय भारत की कुंडली में चंद्रमा के साथ अंतर में राहू रहेंगें और प्रत्यंतर में केतु। राहू-केतु चंद्रमा को ग्रहण लगाने वाले माने जाते हैं। इसलिये बहुत ज्यादा उम्मीदें तो इस साल भी नहीं हैं लेकिन इस वर्ष के आगमन के समय चंद्रमा वर्ष लग्न से भाग्य स्थान में गोचर कर रहे हैं जिससे कुछ तबकों के लिये यह साल वाकई अच्छे दिन लेकर आ सकता है विशेषकर मेहनत करने वाले युवाओं के दिन इस वर्ष बदल सकते हैं।  

इस साल बेरोजगार युवाओं को रोजगार के अच्छे अवसर उपलब्ध हो सकते हैं। हालांकि इस साल मंहगाई की मार थोड़ी अधिक रह सकती है लेकिन समय के साथ-साथ सूरत ए हाल बदल भी सकता है।

हालांकि राहू के समय में व्यापारी वर्ग को थोड़ी निराशा हाथ लग सकती है लेकिन नौकरीशुदा जातकों के लिये यह समय उत्तम बना रहने के आसार हैं। इस समय आपको अपनी मेहनत का फल अवश्य मिलने के आसार हैं।

राजनीतिक क्षेत्र में जो लोग लंबे समय से सत्ता से चिपक कर बैठे हैं उनके लिये अपने पद व प्रतिष्ठा को बचाना काफी मुश्किल हो सकता है। राजनीति के क्षेत्र में कुछ चमत्कारिक परिवर्तन भी दिखाई दे सकते हैं। इसलिये राजनीति में रूचि रखने वाले जातकों के दिन अच्छे हो सकते हैं लेकिन कुछ को माथा पकड़ कर बैठना भी पड़ सकता है।

कृषक वर्ग हमारे देश में बहुत बड़ा वर्ग है और उसके अच्छे दिन आये तो समझो देश के अच्छे दिन आये लेकिन ज्योतिषाचार्यों का मानना है कि किसानों के लिये 2018 सामान्य रूप से लाभप्रद रहने के आसार हैं अर्थात कोई उत्साहजनक परिवर्तन शायद किसानों के जीवन में न आयें लेकिन यह भी है कि कोई बड़ी क्षति भी किसानों को शायद न उठानी पड़े।

कला के क्षेत्र में मेहनती कलाकारों को अपने जीवन में सकारात्मक परिणाम देखने को मिल सकते हैं। विशेषकर अभिनय के क्षेत्र में लंबे समय से अपनी पहचान स्थापित करने के लिये जद्दोजहद करने वाले जातकों में से कुछ को अपनी मंजिल मिल सकती है यानि वे अपनी पहचान 2018 में बना सकते हैं। कुल मिलाकर कलाकारों के अच्छे दिन 2018 में आ सकते हैं।

महिला वर्ग के अच्छे दिन 2018 में जरुर आ सकते हैं दरअसल वर्ष का आरंभ कन्या वर्ग में हो रहा है जिसका संकेत हैं कि स्त्री वर्ग को इस वर्ष उच्च सफलताएं व सम्मान मिल सकता है। साथ ही महिलाओं पर होने वाली हिंसात्मक घटनाओं सहित अन्य अपराधों में कमी इस वर्ष आ सकती है जिससे कहा जा सकता है कि महिलाओं के अच्छे दिन आयेंगें।

अपनी कुंडली के अनुसार एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों से जानें कब आयेंगें आपके अच्छे दिन। पंडित जी से बात करने के लिये यहां क्लिक करें।

संबंधित लेख

साल 2018 में किस क्षेत्र में बढ़ेंगें रोजगार के अवसर   |   भारत खेल 2018 - खेलों के लिये कैसा है 2018   |   नववर्ष 2018 राशिफल    |

2018 में कैसे रहेंगे भारत-पाक संबंध? क्या कहता है ज्योतिष?   |   2018 में क्या कहती है भारत की कुंडली   |   प्रेमियों के लिये कैसा रहेगा 2018




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

कन्या राशि में बुध का गोचर -   क्या होगा आपकी राशि पर प्रभाव?

कन्या राशि में बुध...

राशिचक्र की 12 राशियों में मिथुन व कन्या राशि के स्वामी बुध माने जाते हैं। बुध बुद्धि के कारक, गंधर्वों के प्रणेता भी माने गये हैं। यदि बुध के प्रभाव की बात करें तो ...

और पढ़ें...
भाद्रपद पूर्णिमा 2018 – जानें सत्यनारायण व्रत का महत्व व पूजा विधि

भाद्रपद पूर्णिमा 2...

पूर्णिमा की तिथि धार्मिक रूप से बहुत ही खास मानी जाती है विशेषकर हिंदूओं में इसे बहुत ही पुण्य फलदायी तिथि माना जाता है। वैसे तो प्रत्येक मास की पूर्णिमा महत्वपूर्ण ...

और पढ़ें...
अनंत चतुर्दशी 2018 – जानें अनंत चतुर्दशी पूजा का सही समय

अनंत चतुर्दशी 2018...

भादों यानि भाद्रपद मास के व्रत व त्यौहारों में एक व्रत इस माह की शुक्ल चतुर्दशी को मनाया जाता है। जिसे अनंत चतुर्दशी कहा जाता है। इस दिन अनंत यानि भगवान श्री हरि यान...

और पढ़ें...
परिवर्तिनी एकादशी 2018 – जानें पार्श्व एकादशी व्रत की तिथि व मुहूर्त

परिवर्तिनी एकादशी ...

हिंदू पंचांग के अनुसार प्रत्येक माह के कृष्ण और शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को व्रत, स्नान, दान आदि के लिये बहुत ही शुभ फलदायी माना जाता है। मान्यता है कि एकादशी व्रत ...

और पढ़ें...
श्री गणेशोत्सव - जन-जन का उत्सव

श्री गणेशोत्सव - ज...

गणों के अधिपति श्री गणेश जी प्रथम पूज्य हैं सर्वप्रथम उन्हीं की पूजा की जाती है, उनके बाद अन्य देवताओं की पूजा की जाती है। किसी भी कर्मकांड में श्री गणेश की पूजा-आरा...

और पढ़ें...