वक्री बुध का वृषभ में गोचर, किन राशियों के लिए है बेहद खास? जानिए

30 मई 2021

ज्योतिष के अनुसार, बुध को एक शुभ ग्रह माना गया है, लेकिन जब बुध वक्री हो जाता है तो उसका प्रभाव और भी प्रबल हो जाता है। यदि किसी ग्रह पर बुध का नकारात्मक प्रभाव पड़ता है, तो बुध का वक्री होना गंभीर परिणाम दे सकता है। लेकिन यदि बुध बहुत अच्छी स्थिति में हो तो बुध वक्री होने पर उत्कृष्ट परिणाम देता है। 3 जून 2021 को सुबह 3 बजकर 46 मिनट पर वक्री बुध वृषभ राशि में प्रवेश करेगा और 07 जुलाई 2021 तक वहीं पर विराजमान रहेगा। आइए जानते हैं कि वक्री बुध का सभी राशियों पर कैसा प्रभाव पड़ता है। 

 

वक्री बुध कहीं आपको नुकसान न पहुंचा दे इसलिये विद्वान ज्योतिषाचार्यों से परामर्श अवश्य कर लें। परामर्श करने के लिये लिंक पर क्लिक करें। 

 

वक्री बुध करेंगे 3 जून 2021 को वृषभ राशि में प्रवेश, किन राशि वालों को रहना होगा सावधान

 

वक्री बुध 2021 का मेष राशि पर प्रभाव 

वक्री बुध मेष राशि के दूसरे भाव में गोचर करेगा। इस गोचर के दौरान आपकी वाणी की मधुरता आपको सफलता दिलाएगी। अगर पैतृक संपत्ति को लेकर कोई विवाद चल रहा था तो इस अवधि के दौरान वह सुलझ जाएगा। आर्थिक लाभ के मामले में यह आपके लिए अनुकूल समय है। इस अवधि के दौरान छात्रों को भी लाभ मिलेगा, खासकर जो प्रतियोगी परीक्षाओं में शामिल हो रहे हैं। रिश्तों के लिहाज से यह भ्रम और मतभेद को दूर करने का एक अच्छा समय है।

 

वक्री बुध 2021 का वृषभ राशि पर प्रभाव

वक्री बुध आपकी राशि के प्रथम भाव में गोचर करेगा, जिसके फलस्वरूप आप निर्णय लेने में असमर्थ होंगे। वित्तीय मामलों पर, यह सलाह दी जाती है कि इस अवधि के दौरान आपको अपने व्यापारिक सौदों के बारे में अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए। किसी भी नए उद्यम और निवेश पर धन खर्च करने से बचें। रिश्तों के लिहाज से यह समय अनुकूल रहेगा। यह अवधि के दौरान प्रेमी जातकों के बीच चल रहा मनमुटाव खत्म होगा और उनके रिश्ते में मजबूती आएगी। यदि आप विद्यार्थी हैं तो इस अवधि में आपको लाभ होगा। 

 

वक्री बुध 2021 का मिथुन राशि पर प्रभाव

मिथुन राशि में वक्री बुध बारहवें भाव में गोचर कर रहा है। जिसकी वजह से आपके बातचीत के दौरान आपके शब्दों का गलत अर्थ निकाला जा सकता है या गलत समझा जा सकता है। इसलिए सलाह दी जाती है कि किसी से भी संवाद करते समय अपनी बातों पर ध्यान दें। आर्थिक रूप से स्थितियां स्थिर होंगी लेकिन धन खर्च में वृद्धि का सामना करना पड़ सकता है। माता की सेहत का ध्यान रखें। 

 

वक्री बुध 2021 का कर्क राशि पर प्रभाव

वक्री बुध आपकी राशि के एकादश भाव में गोचर करेगा। कर्क राशि में बुध का वक्री होना दैनिक बातचीत में समस्या पैदा कर सकता है। लेकिन आपकी शानदार बोलने की क्षमता के कारण, आप परिस्थितियों को संभाल लेंगे। पारिवारिक मेल-मिलाप के लिए यह बहुत अच्छा समय है। हालांकि, इस समय नया घर न खरीदें। यदि आप उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने की सोच रहे हैं तो आपको अभी यात्रा स्थगित कर देनी चाहिए।  

 

वक्री बुध 2021 का सिंह राशि पर प्रभाव

सिंह राशि में वक्री बुध दशम भाव में गोचर करेगा। यह ग्रह प्रभाव शब्दों और विचारों को और भी अधिक प्रभावी बनाएगा जो आपके रिश्ते में नया आकर्षण लाएगा। बुद्धिमत्ता में वृद्धि होगी और कार्यस्थल में आपके प्रदर्शन को सराहना मिलेगी। हालांकि आपके रास्ते में कुछ रुकावटें आ सकती हैं लेकिन आपको अपने लक्ष्यों पर ध्यान केंद्रित करना है। आपको अपनी माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखने की आवश्यकता है क्योंकि चतुर्थ भाव पर बुध की सीधी दृष्टि है।

 

वक्री बुध 2021 का कन्या राशि पर प्रभाव

वक्री बुध आपकी राशि के नवम भाव में गोचर करेगा। इस अवधि के दौरान आपके लिए कुछ निराशा पैदा हो सकती है। आपको अपनी सामाजिक स्थिति और प्रतिष्ठा में वृद्धि का अनुभव होगा। आप धार्मिक कार्यों से जुड़े रहेंगे। रिश्तों के लिहाज से जातक आनंदमय जीवन का आनंद लेंगे। स्वास्थ्य की दृष्टि से, जातक को कुछ छोटी-मोटी स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है जिनका उचित देखभाल के साथ इलाज किया जा सकता है। 

 

वक्री बुध 2021 का तुला राशि पर प्रभाव

तुला राशि के आठवें भाव में वक्री बुध गोचर करेगा, जिसकी वजह से आपको धन हानि हो सकती है इसलिए सर्तक रहें। इस अवधि के दौरान रोमांटिक पार्टनर्स, बिजनेस एसोसिएट्स या यहां तक ​​कि बेस्ट फ्रेंड्स के बीच में गलतफहमी पैदा हो सकती है। तुला राशि के जातकों में नई चीजों का पता लगाने और सीखने की इच्छा पैदा हो सकती है। आपको नियमित रूप से कसरत करने और खुद को फिट रखने की सलाह दी जाती है।

 

वक्री बुध 2021 का वृश्चिक राशि पर प्रभाव

वक्री बुध का आपकी राशि के सातवें भाव में गोचर करना आपके किसी करीबी के बारे में गलत धारणाएं पैदा कर सकता है, आपको समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इस गोचर के दौरान आपको भ्रम भी पैदा हो सकता है, आपके शब्दों में कड़वाहट के कारण आपके व्यावसायिक साझेदारों के साथ विवाद हो सकता है। इसलिए मजबूत संचार कौशल बनाकर रखें और आपको स्वास्थ्य के साथ कुछ मुद्दों का भी सामना करना पड़ सकता है। आपके जीवन साथी का स्वास्थ्य भी जोखिम में है, इसलिए उसका अच्छे से ख्याल रखें।

 

वक्री बुध 2021 का धनु राशि पर प्रभाव

वक्री बुध आपको उन सभी समस्याओं को हल करने का अवसर देगा जो आपको परेशान कर रही थीं। पेशेवर जातक काम पर अच्छा प्रदर्शन करेंगे और लाभ प्राप्त करेंगे और साथ ही अपने वरिष्ठों से समर्थन प्राप्त करेंगे। वित्त के मामले में धन खर्च हो सकता है इसलिए सोच-समझकर खर्च करें। इस गोचर के दौरान आपकी बुद्धि और साहस आपके शत्रुओं पर विजय पाने में आपकी मदद करेगा। हालांकि इस दौरान वाहन चलाते समय बेहद सावधानी बरतें। आपका वैवाहिक जीवन सुखद नहीं रहेगा। धनु राशि के जातक जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं या उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने की योजना बना रहे हैं, यह गोचर आपके लिए अनुकूल रहेगा।

 

वक्री बुध 2021 का मकर राशि पर प्रभाव

पंचम भाव में वक्री बुध आपकी रचनात्मकता को बढ़ा सकता है, लेकिन केवल तभी जब आप प्रयास करने को तैयार हों। इस गोचर के दौरान आपकी बुद्धिमत्ता में बढ़ोत्तरी होगी। उच्च शिक्षा प्राप्त करने का सपना देखने वाले छात्रों को इस गोचर से लाभ होगा, साथ ही यह उन छात्रों के लिए भी अनुकूल है जो विदेश में अपना करियर बनाना चाहते हैं। रिश्ते के हिसाब से, अगर आप सिंगल हैं तो आपकी मुलाकात किसी ऐसे व्यक्ति से होगी जिसके प्यार में आप पड़ जाएंगे।  

 

वक्री बुध 2021 का कुंभ राशि पर प्रभाव

चतुर्थ भाव में वक्री बुध आपको अपने कार्यों पर पुनर्विचार करने और स्थितियों को बदलने के लिए सोचने पर मजबूर कर सकता है। छोटी अंतर्दृष्टि आपको अपने कार्यों की योजना बनाने में मदद कर सकती है, खासकर भविष्य में। पेशेवर रूप से अचानक धन लाभ और करियर में वृद्धि हो सकती है। साथ ही आपके निजी और काम के माहौल में भी खुशनुमा माहौल रहेगा। रिश्तों के लिहाज से अगर आप किसी के साथ रिलेशनशिप में हैं तो सावधान हो जाएं क्योंकि धोखा मिलने की संभावना है। हालाँकि अपनी मां के स्वास्थ्य का ध्यान रखें और अपने पिता के साथ किसी भी तरह की बहस से बचें। 

 

वक्री बुध 2021 का मीन राशि पर प्रभाव 

वक्री बुध आप जो कर रहे हैं उसमें भ्रम पैदा कर सकता है, जो आपके आत्मविश्वास और उद्देश्य की भावना को प्रभावित कर सकता है। कूटनीतिक तौर पर आने वाली बाधाओं को दूर करने का प्रयास करें। इस गोचर के दौरान, आपके संचार कौशल में सुधार होगा और निश्चित रूप से, आपको इस चरण में लाभ मिलेगा। आर्थिक रूप से इस चरण के दौरान धन कमाने की काफी गुंजाइश रहेगी। छोटी दूरी की यात्रा की संभावना है, लेकिन बुध के वक्री रहने तक स्थगित करने की सलाह दी जाती है। रिश्ते के हिसाब से आपको अधिक ध्यान और देखभाल की आवश्यकता होगी और यह सलाह दी जाती है कि आप अपने साथी के साथ कुछ क्वालिटी टाइम बिताएं।

 

संबंधित लेख

ग्रह गोचर 2021 ।  बुध वक्री बुध गोचर 2021बुध महादशा 

 

Chat now for Support
Support