कितनी बार हो सकता है आपको प्यार? जानिए राशिनुसार

प्यार एक ऐसा एहसास है जिसे हर कोई महसूस करना चाहता है। एक बार प्यार रूपी इस धन को जो पा लेता है उसे इसे खोने मात्र की सोच ही भय व तनाव हो जाता है। लेकिन यह भी सत्य है कि सब के लिए यह मुमकिन नहीं है कि उसका प्यार उसके साथ जीवन भर रहे। समय अपना खेल दिखाता है और हंस के इस जोड़े को अलग कर देता है। वजह कुछ भी हो सकता है। परिवार का इनकार, यार समय का मार। लेकिन इस वियोग के विष को जोड़े को पीना पड़ता है। यदि आपने भी इस विष को पीया है तो आपके लिए यहां कुछ संतोष वाली बात है। क्योंकि आज हम इस लेख में बात करने वाले हैं की किस राशि के जातकों को कितनी बार प्यार हो सकता है। कुछ राशि हैं जिनके जातकों को उनके जीवन भर में 3 से 4 बार प्रेम हो सकता है तो वहीं कुछ है जिन्हें केवल एक ही बार प्रेम होता है। तो आइए जानते हैं राशिनुसार कितने बार हो सकता है प्यार?

 

राशिनुसार कितने बार हो सकता है प्यार?

मेष राशि

सबसे पहले राशि चक्र के पहले राशि मेष की बात करते हैं। मेष राशि के स्वभाव व प्रवृत्ति को देखा जाए ये इस राशि के जातक बहपत ही सोच समझकर अपने जीवन में किसी को आने देते हैं। यदि ये एक वार किसी को चाहने लगे तो उसके लिए कुछ भी कर गुजरते हैं। यदि आप मेष राशि के हैं तो हम आपको बता दें कि आपको जीवन में एक ही बार प्रेम होता है।

 

वृषभ राशि

मेष व बृषभ राशि के जातकों में कई समानताएं हैं जैसे कि दोनों ही अपने जीवन में प्रेम को महत्व देते हैं। परंतु इनके बीच एक बड़ा अंतर ये हैं कि मेष एक बार तो बृषभ राशि के जातक दो बार अपने जीवन में प्रेम कर सकते हैं। यदि इनका साथी इन्हें छोड़ दे तो ये उससे उबर कर आगे बड़ जाते हैं और एक नए साथी के साथ प्रेम के समुदर  में गोते लगाते हैं।

 

मिथुन राशि

मिथुन राशि के जातक भी प्यार के प्रति संवेदनशील होते हैं। इसके साथ ही सुंदरता इनकी कमजोरी होती है। ये खूबसूरत लोगों की ओर जल्दी आकर्षक होते हैं। यदि किसी कारण वश ये अपने साथी से दूर हो जाए तो ये जीवन में आगे बढ़ जाते हैं। मिथुन राशि जातकों को उनके जीवन में लगभग 4 बार प्रेम होने संभावना होती है। यदि आप मिथुन राशि के जातक है तो आपको निराश होने की आवश्यकता नहीं है।

 

कर्क राशि

कर्क राशि के जातक प्रेम को लेकर अधिक महत्वाकांक्षा रखते हैं। अपने साथी से बहुत कुछ चीजों की आश रखते हैं। परंतु आपका एक न एक बार दिल जरूर टूटता है। इसका कारण आपकी अपेक्षा ही होती है। ब्रेकप के बाद ये अधिक समय लेते हैं किसी अन्य के साथ अपने संबंधों को स्थापित करने में।

 

सिंह राशि

सिंह राशि में जन्मे लोग अपने जीवन में बहुतों के संपर्क में आते हैं। जिसके चलते आपको जीवन कई बार प्रेम हो सकता है।

 

कन्या राशि

कन्या राशि के जातक की बात करें तो प्रेम के मामले में ये बड़ा सुरक्षात्मक रवैया रखते हैं। अपने साथी का चयन बड़ी ही सोच समझकर करते हैं और जीवन में केवल एक ही बार प्रेम करने में विश्वास रखते हैं।

 

तुला राशि

तुला राशि के जातक अपने साथी के प्रति बड़े ही समर्पित व ईमानदार होते हैं। धोका इनसे सहा नहीं जाता है। हांलाकि ये जीवन में कई लोगों के साथ प्रेम संबंध में आ सकते हैं। व्यवहारिक होने के कारण लोग इनसे जल्दी आकर्षित होते हैं।

 

वृश्चिक राशि

वैसे तो इस राशि के जातकों में बहुत ही प्रेम होता है। परंतु ये थोड़े स्वार्थी  होते हैं जिसके चलते इनके साथी इनसे परेशान होते हैं। बात इनके प्रेम संबंध की करें तो इन्हें जीवन में दो बार प्रेम हो सकता है।

 

धनु राशि

इस राशि के जातक अधिक रोमांटिक होते हैं। जब तक संबंध में रहते है पूरी ईमानदारी के साथ उसे निभाते हैं। परंतु एक बार ये संबंध से बाहर निकल जाए तो दोबारा उससे संबंध रखने में विचार नहीं करते हैं। परंत जातकों को इनके जीवन में लगभग चार बार प्रेम हो सकता है।

 

मकर राशि

मकर राशि के जातकों को जीवन में केवल एक ही बार सच्चा प्यार होता है। चाहे ये कईयों के साथ संबंध में रहे। इसके साथ ही ये अपने प्यार को लेकर अधिक आशावादी होते हैं।

 

कुंभ राशि

इस राशि के जातक प्रेम को लेकर हमेशा असमंजस में रहते हैं। अंत तक यह नहीं समझ पाते की बेहतर कौन है। ये अपने लाइफ में दो बार प्यार में पड़ते हैं।

 

मीन राशि

मीन जातक अपने प्रेम को लेकर काल्पनिक होते हैं। ये अपने साथी को लेकर सपने बुनते रहते हैं। परंतु बात यदि इनके प्रेम की करें तो इन्हें केवल जीवन में एक ही बार प्रेम होता है।

वैसे ये तो सामान्य जानकारी है। यदि आप जानना चाहते है कि आपको जीवन में कितने बार प्यार हो सकता है तो अभी बात करें देश के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से। क्योंकि ज्योतिष आपको आपकी कुंडली का आकलन कर इसकी सटीक जानकारी देंगे।

एस्ट्रो लेख

बुध का वृश्चिक ...

इस 05 दिसंबर को बुध सुबह10 बजकर 46 मिनट पर राशि परिवर्तन करने जा रहे हैं। इस समय बुध तुला राशि में हैं परंतु 05 दिसंबर 2019 को यह राशि बदलकर वृश्चिक राशि में आ जाएंगे। जिसका आपके ऊ...

और पढ़ें ➜

स्कंद षष्ठी 201...

यदि आपके घर में कोई बहुत लंबे समय से बीमार है? आपको हमेशा पैसों की तंगी बनी रहती है? कड़ी मेहनत के बाद भी आपके संतान को सफलता नहीं मिलती है तो आपको हर माह हिंदू कैलेंडर के अनुसार. ...

और पढ़ें ➜

विवाह पंचमी 201...

देवी सीता और प्रभु श्री राम सिर्फ महर्षि वाल्मिकी द्वारा रचित रामायण की कहानी के नायक नायिका नहीं थे, बल्कि पौराणिक ग्रंथों के अनुसार वे इस समस्त चराचर जगत के कर्ता-धर्ता भगवान श्र...

और पढ़ें ➜

विनायक चतुर्थी 2019

इस व्रत का भी उतना ही महत्व है जितना की हिंदू धर्म के अन्य व्रतों का है। यह व्रत भगवान गणेश को समर्पित है। इस तिथि को गणेश जी का जन्मदिन माना जाता है। गणेश चतुर्थी के अलावा हर महीन...

और पढ़ें ➜