साल 2020 का आखिरी चंद्रग्रहण किन राशियों को करेगा प्रभावित? जानिए

30 नवम्बर 2020

30 नवंबर 2020 को दोपहर 1 बजकर 2 मिनट पर लगने वाला चंद्र ग्रहण वर्ष 2020 का अंतिम चंद्र ग्रहण(chandra grahan 2020)  है। ग्रहण कुल 04 घंटे 21 मिनट तक रहेगा यानी कि शाम 5 बजकर 23 मिनट पर खत्म होगा। यह चंद्र कुछ विशेष राशियों पर खास असर डालेगा। इस बार लगने वाला ग्रहण पूर्ण नहीं हैं यह जो ग्रहण है वह उपछाया ग्रहण है। जो भारत समेत अमेरिका, प्रशांत महासागर, एशिया और ऑस्ट्रेलिया में लग रहा है। वहीं इस बार ग्रहण के दौरान सूतक काल भी मान्य नहीं होगा। हालांकि सूतक ग्रहण से 9 घंटे पूर्व शुरू हो जाता है और इस दौरान कोई भी शुभ कार्य करना वर्जित होता है।

ज्योतिष के अनुसार, चंद्रमा को मन का कारक माना जाता है। ऐसे में इन पर ग्रहण लगना आपके मन व ध्यान पर भी कुछ न कुछ प्रभाव जरूर डालेगा। ज्योतिषाचार्य का कहना है कि इस बार का चंद्र ग्रहण वृषभ राशि और रोहिणी नक्षत्र में लग रहा है और इस स्थिति में वृषभ राशि वालों को विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है और उन्हें अपनी माता की सेहत का ध्यान रखना जरूर है। तो चलिए जानते हैं 30 नवंबर को लगने वाले चंद्र ग्रहण का सभी 12 राशियों पर चंद्र ग्रहण का क्या प्रभाव पड़ेगा।

 
राशिनुसार चंद्रग्रहण का प्रभाव

मेष राशि
आपके लिए समय अच्छा रहेगा। खुशखबरी मिल सकती है लेकिन आंशिक चिंता बनी रहेगी और सुख-समृद्धि में वृद्धि होगी।
मंत्र जाप - ऊँ आदित्याय नम:

 

वृषभ राशि
आपको अधिक संघर्ष के बाद सफलता प्राप्त होगी। लाभ मिलेगा परंतु संघर्ष करने के बाद। शरीर के निचले भाग में कोई विकार हो सकता है।
मंत्र जाप - ऊँ शं शनैश्चराय नमः

 

मिथुन राशि
बिना बात के उलझने की कोशिश ना करें। आपको शारीरिक कष्ट हो सकता है। अपनी भावनाओं को काबू में रखें। समय मिलाजुला रहेगा।
मंत्र जाप - ॐ बृं बृहस्पतये नम:

 

कर्क राशि
सुखों में बढ़ोत्तरी होगी जिसके कारण व्यय बढ़ेगा। इस समय तर्क-वितर्क से बचकर रहें। त्वचा संबंधी समस्या पैदा हो सकती है।
मंत्र जाप - ॐ ऐं श्रीं बृहस्पतये नम:। ॐ गुं गुरवे नम:। 

 

सिंह राशि
निवेश करना से बचें, जोखिम ना लें। मान-सम्मान में वृद्धि होगी। धन-संपत्ति में बढ़ोत्तरी होगी।
मंत्र जाप - आदित्य हृदय स्त्रोत का पाठ

 

अपनी कुंडली के अनुसार चंद्र ग्रहण पर अपने जीवन में समृद्धि लाने के सरल ज्योतिषीय उपाय जानने के लिये एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों से परामर्श करें। अभी बात करने के लिये यहां क्लिक करें।

 

कन्या राशि
अच्छी खबर मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। वाद-विवाद से बचें। मुश्किलों से छुटकारा मिलेगा। माता की तबीयत का ख्याल रखें। करियर में परेशानी पैदा हो सकती है।
मंत्र जाप - ॐ बृं बृहस्पतये नम:

 

तुला राशि
आपके सुख सुविधा में बढ़ोत्तरी होगी। करियर में नया मोड़ आएगा, जो काफी सकारात्मक रहेगा। अनावश्यक वाद विवाद से बचें।
मंत्र जाप - ऊँ शं शनैश्चराय नमः

 

वृश्चिक राशि
आपके कार्यों को नई ऊंचाई मिलेगी। आपको अपने कार्यकुशलता के कारण आय के नए स्त्रोत प्राप्त होंगे। कुल मिलाकर समय लाभदायक रहेगा।
मंत्र जाप - ऊँ रां राहवे नम:

 

धनु राशि
आपको शुरुआत में संघर्ष करना होगा उसके बाद आपकी सफलता का द्वार खुलेगा। ये समय आपको बहुत कुछ सिखाएगा जिसका लाभ आपको आने वाले समय में मिलेगा।  रिश्तों में वाद-विवाद से बचें और किसी की बातों में ना आएं।
मंत्र जाप - ऊँ शं शनैश्चराय नमः

 

मकर राशि
ये समय परीक्षा से भरा होगा परंतु आपको अंत में सफलता मिलेगी। ये समय आपके लिए मिलाजुला रहेगा। संघर्ष के साथ-साथ कार्यों की नई राहें खुलेंगी।
मंत्र जाप - ऊँ शं शनैश्चराय नमः

 

कुंभ राशि
ये समय आपको नए अनुभवों से अवगत करवाएगा। भौतिक सुविधाओं में बढ़ोत्तरी होगी। मंजिल पाने में आप सफल होंगे और दुश्मन की हार होगी। हालांकि मन में भय रहेगा। दांपत्य जीवन में पार्टनर की सेहत का ख्याल रखें।
मंत्र जाप- ॐ ऐं श्रीं बृहस्पतये नम:। ॐ गुं गुरवे नम:

 

मीन राशि
इस समय आप लाभ कमा सकते हैं। किसी मित्र के कारण आपको तनाव झेलना पड़ सकता है। हालांकि कर्ज में बढ़ोत्तरी हो सकती है। रिश्तेदारों से उलझने से बचें।
मंत्र जाप - विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें। 

 

संबंधित लेख 

चंद्र ग्रहण 2020   |   चंद्र ग्रह - कैसे हुआ जन्म पढ़ें पौराणिक कथा   |   चंद्र दोष – कैसे लगता है चंद्र दोष क्या हैं उपाय

 

एस्ट्रो लेख

साल 2020 का आखिरी चंद्रग्रहण किन राशियों को करेगा प्रभावित? जानिए

चंद्र ग्रहण 2020 - कब है चंद्रग्रहण?

कार्तिक पूर्णिमा – बहुत खास है यह पूर्णिमा!

देव दिवाली - इस दिन देवता धरती पर आए थे दिवाली मनाने

Chat now for Support
Support