मंगल राशि परिवर्तन – मीन से मेष

मंगल राशि परिवर्तन – 6 फरवरी को मंगल ग्रह का गोचर मीन राशि से मेष राशि में हो रहा है। मंगल राशि चक्र की पहली राशि मेष व आठवीं राशि वृश्चिक के स्वामी भी हैं। स्वराशि मेष में मंगल का आना सामान्यत: फाइनेंस, प्रोपर्टी संबंधी मामलों में लाभकारी योग बना रहा है। छोटे भाई बहनों के साथ भी रिश्तों में सुधार होने के आसार मंगल का यह परिवर्तन बना रहा है। साथ ही रक्त संबंधी विकार होने से यदि हाल ही में किसी बिमारी से ग्रस्त हुए हैं तो उससे भी यह राहत देने के योग बना रहे हैं। राशिनुसार मंगल आपको कैसे प्रभावित कर रहे हैं आइये जानते हैं।

यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन के आधार पर लिखा गया है आपके लिये सलाह है कि अपनी कुंडली के अनुसार मंगल के प्रभाव जानने के लिये एस्ट्रोयोगी पर भारत के प्रसिद्ध ज्योतिषियों से परामर्श लें। अभी बात करने के लिये यहां क्लिक करें।


मेष राशि

मंगल आपकी ही राशि में प्रवेश कर रहे हैं। मंगल आपकी राशि के स्वामी भी हैं आपके लिये यह समय सौभाग्यशाली रहने के संकेत मंगल कर रहे हैं। छोटे भाई बहनों के साथ संबंधों में सुधार होने की उम्मीद कर सकते हैं। सामाजिक गतिविधियों में भी आपकी भागीदारी बढ़ने के आसार हैं। स्वास्थ्य के मामले में भी यह समय आपके लिये अच्छा रहेगा। पर्सनल लाइफ के लिये भी समय अच्छा कहा जा सकता है।


वृषभ राशि

वृषभ राशि वालों के लिये 12वें घर में मंगल का आना धन लाभ के संकेत कर रहा है खासकर इस समय में धन निवेश करना आपके लिये लाभकारी रह सकता है। रूके हुए कार्य बन सकते हैं। इस समय बातचीत करने में थोड़ा सतर्क रहें। क्योंकि अच्छी कम्यूनिकेशन स्किल से आपको सफलता मिल सकती है। स्वास्थ्य भी अच्छा बने रहने के संकेत मंगल कर रहे हैं। पैतृक संपत्ति से लाभ मिलने के योग हैं। रोमांटिक लाइफ भी बहुत अच्छी रहेगी। पार्टनर के साथ रिश्ते एक कदम और आगे बढ़ेंगें। अविवाहित जातकों के लिये विवाह के योग बन रहे हैं।


मिथुन राशि

मिथुन राशि वालों के लिये लाभ घर में मंगल बहुत ही मंगलकारी रहने वाले हैं। विशेषकर शेयर मार्किट, पोलिटिक्स, अकाउंट, फाइनेंस से जुड़े लोगों के लिये समय लाभ वाला है। आय में वृद्धि के योग भी मंगल आपके लिये बना रहे हैं। गृहस्थ जीवन भी अच्छा रहने की उम्मीद कर सकते हैं। दोस्तों से भी सपोर्ट मिल सकती है। लाइफ में सकारात्मकता रहने के आसार हैं। स्वास्थ्य अच्छा बना रहेगा।


कर्क राशि

कर्क राशि वालों के लिये मंगल दसवें स्थान में आ रहे हैं। आपके लिये मंगल खर्चों में बढ़ोतरी के संकेत कर रहे हैं साथ ही धन व प्रतिष्ठा में भी हानि होने के आसार बन रहे हैं। स्वास्थ्य पर भी आपको ध्यान देने की आवश्यकता है। संभव है इस समय कुछ जातकों को कर्ज भी उठाना पड़े रोमांटिक लाइफ सामान्य बनी रहने की उम्मीद कर सकते हैं। तमाम परिस्थितियों में आपके लिये सुकून देने वाली बात यह है कि पार्टनर की पूरी सपोर्ट आपको रहेगी। दुख सुख में अपनों का साथ होना आपके हौसले को बढ़ाएगा व परिस्थितियों का सामना करना आपके लिये आसान रहेगा।

               

सिंह राशि

सिंह राशि वालों के लिये भाग्य स्थान में मंगल का आना काफी अच्छे संकेत कर रहा है। आपको इस समय नाम व प्रसिद्धि मिल सकती है। भाग्य का साथ आपको मिलेगा ही। लेकिन आपके लिये सलाह है कि भाग्य भी कर्मठ लोगों का साथ देता है इसलिये मेहनत करने से न हिचकें। आपको अपनी कड़ी मेहनत का फल अवश्य मिलेगा। कार्यस्थल पर वरिष्ठ कर्मियों, मैनेजर्स आदि का पूरा सहयोग आपको मिल सकता है।


जरुर पढ़ें - कुंडली में मंगल दोष निवारण के उपाय


कन्या राशि

कन्या राशि वालों के लिये अष्टम मंगल करियर में तरक्की के योग बना रहे हैं। नौकरी में परिवर्तन के इच्छुक जातकों की मुराद भी पूरी हो सकती है। बेहतर अवसर आपको मिल सकते हैं। जो व्यवसायी जातक अपने व्यवसाय में विस्तार करना चाहते हैं उनके लिये भी यह समय शुभ रहने के आसार हैं। रोमांटिक लाइफ में पार्टनर के साथ काफी अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं। जो जातक अभी तक सिंगल हैं और रोमांटिक लाइफ की शुरुआत करना चाहते हैं उन्हें भी अपना प्यार मिल सकता है। स्वास्थ्य सामान्य बने रहने की उम्मीद कर सकते हैं।


तुला राशि

तुला राशि वालों के लिये मंगल का सप्तम भाव में आना आपके लिये भाग्य में वृद्धि करने वाला रह सकता है। घर में किसी मांगलिक कार्य का आयोजन हो सकता है। कोई कथा या पाठ भी करवा सकते हैं। रोमांटिक लाइफ भी काफी अच्छी रहने की उम्मीद कर सकते हैं। स्वास्थ्य बेहतर बना रहेगा। कुल मिलाकर मंगल का यह गोचर आपके लिये काफी सुखद रहने वाला है।


वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि के स्वामी स्वयं मंगल हैं जो कि आपकी राशि से छठे घर में प्रवेश कर रहे हैं। रोग व शत्रु घर में मंगल के आने से यह समय आपके लिये चुनौतियों भरा रह सकता है। खासकर पिता के स्वास्थ्य को लेकर आप चिंतित रह सकते हैं। हाल ही के दिनों में आपने जो कठिन मेहनत की है उसका परिणाम मिलने में थोड़े विलंब का सामना करना पड़ सकता है। आत्मबल में कमी रहने के आसार हैं। रोमांटिक लाइफ भी आपके लिये कुछ खास नहीं कही जा सकती है। आपके लिये सलाह है कि जितना हो सके अपने पार्टनर के लिये समय निकालने का प्रयास करें।               


धनु राशि

धनु राशि वालों के लिये पांचवें स्थान में मंगल प्रवेश कर रहे हैं। विवाह के इच्छुक अविवाहित पुरुष जातकों के लिये मंगल विवाह के योग बना रहे हैं तो वहीं कन्या जातकों को विवाह में देरी या अन्य बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। करियर में भी आपको नई चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। व्यवसायी जातकों के लिये भी यह समय प्रतिस्पर्धात्मक रहने वाला है। स्वास्थ्य अच्छा बने रहने की उम्मीद कर सकते हैं।


मकर राशि

मकर राशि वालों के लिये मंगल चौथे स्थान में आ रहे हैं। सुख भाव में मंगल आपके लिये काफी अच्छे संकेत कर रहे हैं। खासकर अपने शत्रुओं, विरोधियों, विपक्षियों पर आप हावि रह सकते हैं। पार्टनर से भी आपको पूरी सपोर्ट मिल सकती है। जो जातक किसी नई परियोजना में धन निवेश करने के इच्छुक हैं उनके लिये अभी समय शुभ नहीं है। विवाहित जातकों को अपने लाइफ पार्टनर से पूरी सपोर्ट मिल सकती है।          


कुंभ राशि

कुंभ राशि वालों के लिये मंगल पराक्रम भाव में प्रवेश करेंगें। आपके लिये यह समय नाम व प्रसिद्धि मिनले के योग बना रहा है। जो जातक अभी तक करियर में ब्रेक मिलने का इंतजार कर रहे हैं, उन्हें कोई अच्छा जॉब ऑफर मिल सकता है। लंबे समय समय चली आ रही किसी बिमारी से भी आपको निजात मिल सकती है। विद्यार्थियों के लिये भी यह समय उपलब्धियों भरा रह सकता है।


मीन राशि

मंगल आपकी ही राशि से गोचर कर आपके धन भाव में जा रहे हैं। यह आपके आत्मबल के सामान्य रहने के संकेत कर रहे हैं। आपके रूके हुए कार्यों में अचानक से तेजी आने के आसार भी बन रहे हैं। आप देखेंगे जो बाधाएं आपको दिखाई दे रही थी वह एक-एक कर दूर हो रही हैं। परिजनों के साथ भी काफी अच्छा समय व्यतीत करने को मिल सकता है। रोमांटिक लाइफ सामान्य रहेगी। आपके लिये सलाह है कि इस दौरान माता के स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहें।


यह भी पढ़ें

मंगल गोचर 2019   |   मूंगा रत्न – मंगल की पीड़ा को हर लेता है मूंगा   |   युद्ध देवता मंगल का कैसे हुआ जन्म पढ़ें पौराणिक कथा

एस्ट्रो लेख

शुक्र का सिंह र...

ऊर्जा व कला के कारक शुक्र माने जाते हैं। शुक्र जातक के किस भाव में बैठे हैं यह बहुत मायने रखता है। शुक्र के हर परिवर्तन के साथ जातक की कुंडली में शुक्र की स्थिति में भी बदलाव आता ह...

और पढ़ें ➜

विदेश जाने का य...

क्या आपको पता है कि आपके विदेश जाने राज आपके हथेली में छुपा है? क्या आप इस बात को मानते है कि हमारे हथेलियों की लकीर में छिपा है हमारे किस्मत का राज? यदि जवाब हां में है तो ठीक यदि...

और पढ़ें ➜

भाद्रपद - भादों...

हिन्दू पंचांग के अनुसार साल के छठे महीने को भाद्रपद अथवा भादों का महीना कहा जाता है। ये श्रावण माह के बाद और आश्विन माह से पहले आता है। सावन शंकर का महीना है तो भादों श्रीकृष्ण का ...

और पढ़ें ➜

भाई की सुख समृद...

हिंदू धर्म में कई तरह के रीति-रिवाज और परंपराएं विद्यमान है। दुनियाभर में भारत को त्योहारों का देश कहा जाता है, यहां आए दिन कोई न कोई पर्व मनाया जाता है। वहीं किसी भी तीज-त्योहार क...

और पढ़ें ➜