Skip Navigation Links
पंजाब और गोवा विधानसभा चुनाव 2017 – किसे मिलेगा ग्रहों का साथ


पंजाब और गोवा विधानसभा चुनाव 2017 – किसे मिलेगा ग्रहों का साथ

उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों में चुनावों का बिगुल बज चुका है पंजाब और गोवा में तो चुनाव की तारीख बिल्कुल सर पर है। 4 फरवरी को पंजाब और गोवा राज्यों की सरकार का फैसला इवीएम में कैद हो जायेगा। ऐसे में 4 फरवरी को ग्रहों की दशा व दिशा के आधार पर गोवा और पंजाब में किस पार्टी को बहुमत मिलने के आसार हैं इसका आकलन किया है एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों ने तो आइये जानते हैं किस की बन सकती है सरकार और किस पर पड़ सकती है ग्रहों की मार। यदि आप भी ग्रहों की मार से बचने के ज्योतिषीय उपाय जानना चाहते हैं तो एस्ट्रोयोगी पर बात कीजिये देश के जाने-माने ज्योतिषियों से। ज्योतिषाचार्यों से परामर्श करने के लिये लिंक पर क्लिक करें।

भारतीय जनता पार्टी – 6 अप्रैल 1980 – वृश्चिक राशि

कांग्रेस – 28 दिसंबर 1885 – कन्या राशि

आम आदमी पार्टी – 26 नवंबर 2012 - मेष राशि

पंजाब – 1 नवंबर 1966 – वृषभ राशि

गोवा – 29 मई 1987 – मीन राशि


पंजाब विधानसभा चुनाव 2017

भारतीय जनता पार्टी की जन्म राशि वृश्चिक है जो पंजाब में मकर राशि वाले शिरोमणि अकाली दल की सहयोगी है। 4 फरवरी को भाजपा की राशि से चंद्रमा छठा रहेगा जो कि सम है। इससे भारतीय जनता पार्टी को विशेष लाभ या हानि होने की संभावना नहीं है लेकिन अकाली दल की राशि मकर से चंद्रमा चौथा रहेगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चौथा चंद्रमा शुभ नहीं माना जाता इसके अनुसार अकाली दल को हानि होने की उम्मीद है। वहीं पंजाब राज्य की कुंडली से आकलन करें तो राज्य की कुंडली कुंभ लग्न व वृषभ राशि की है। भाजपा की राशि से राज्य की राशि सातवीं है जो कि सम है जिसके अनुकूल रहने की उम्मीद की जा सकती है। वहीं अकाली दल की राशि मकर से पंजाब की राशि पाचवीं है जो कि सम है इसके अनुसार चुनाव परिणाम सामान्य दिखते हैं लेकिन ग्रह गोचर की भूमिका इसमें अहम रहेगी।

वहीं दूसरी पार्टी कांग्रेस है जिसकी राशि कन्या है 4 फरवरी को कन्या राशि से चंद्रमा आठवां रहेगा। ज्योतिषशास्त्री आठवें चंद्रमा को भी शुभ नहीं मानते इसलिये कांग्रेस पार्टी को भी विशेष लाभ मिलने के आसार नहीं है। वहीं कांग्रेस पर शनि की दशम दृष्टि भी है जिससे अनुकूल परिणाम मिलने की संभावना कम ही है। लेकिन पंजाब राज्य की राशि कांग्रेस की राशि से 9वीं है जो कि भाग्य की संकेतक है और अनुकूल परिणाम को दर्शाती है। यदि ग्रह गोचर का साथ भी मिल जाये तो अच्छे परिणाम की उम्मीद कांग्रेस कर सकती है।

तीसरी और एकदम नई उभर कर आयी पार्टी है आम आदमी पार्टी स्थापना दिवस के आधार पर आम आदमी पार्टी की राशि मेष बनती है। चंद्रमां भी मेष राशि में विचरण कर रहा है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यह भी शुभकारी नहीं है। लेकिन आप के लिये शुभ संकेत यह है कि शनि राशि से नवम स्थान पर रहने से जनता का समर्थन मिलने की उम्मीद जता रहा है। लेकिन यह समर्थन बहुमत में मिलने की संभावनाएं प्रबल नहीं हैं। लेकिन राज्य राशि के अनुसार आम आदमी पार्टी यानि आप की राशि से पंजाब की राशि दूसरी है जोकि सम है यह भी अनुकूल चुनाव परिणाम की संकेतक है।


गोवा विधानसभा चुनाव 2017

गोवा के विधानसभा चुनाव के लिये भी मतदान 4 फरवरी को होना है। पार्टियों की राशि के आधार पर तो स्थिति उपरोक्त ही रहने के आसार हैं। लेकिन गोवा राज्य की राशि से तुलना करने पर समीकरण कुछ इस प्रकार के बनते हैं।

भाजपा की राशि से गोवा राज्य की राशि पांचवी है जो कि सम है। जिसका परिणाम अनुकूलित होता है। ग्रह गोचर भी यदि अनुकूलित हो तो चुनाव में अच्छे परिणाम मिल सकते हैं

आम आदमी पार्टी गोवा भी चुनाव लड़ रही है आप की राशि से गोवा राज्य की राशि बारहवीं है। यह स्थान भी ज्योतिष शास्त्र के नज़रिये अच्छा नहीं माना जाता और चंद्रमा भी उस दिन आप की राशि में रहने से शुभ संकेतक नहीं है।

कांग्रेस की राशि गोवा राज्य की राशि से सातवीं पड़ती है जो कि शुभ संकेतक है जिससे की अनुकूलित परिणाम मिलने की उम्मीद होती है। किंतु चुनाव की तिथि के दिन आठवां चंद्रमा होने से चुनाव परिणाम में मध्यम फल मिलने के आसार हैं।

यह भी पढ़ें

 राहुल गांधी और अखिलेश यादव की दोस्ती पर कैसी है ग्रहों की दृष्टि   |   2017 देश के आंतरिक हालात पर कैसी है ग्रहों की नज़र?   |  

नरेंद्र मोदी 2017 - कैसा रहेगा नया साल प्रधानमंत्री मोदी के लिये   |   विद्यार्थियों के लिये कैसा रहेगा साल 2017   |   2017 क्या लायेगा अच्छे दिन?

साल 2017 में किस क्षेत्र में बढ़ेंगें रोजगार के अवसर   |   2017 में क्या कहती है भारत की कुंडली   |   2017 में कैसे रहेंगें सिनेमा के सितारे

डोनाल्ड ट्रंप - जानें क्या कहती हैं दुनिया के सबसे शक्तिशाली राष्ट्रपति की कुंडली




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

मार्गशीर्ष अमावस्या – अगहन अमावस्या का महत्व व व्रत पूजा विधि

मार्गशीर्ष अमावस्य...

मार्गशीर्ष माह को हिंदू धर्म में काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। इसे अगहन मास भी कहा जाता है यही कारण है कि मार्गशीर्ष अमावस्या को अगहन अमावस्य...

और पढ़ें...
कहां होगा आपको लाभ नौकरी या व्यवसाय ?

कहां होगा आपको लाभ...

करियर का मसला एक ऐसा मसला है जिसके बारे में हमारा दृष्टिकोण सपष्ट होना बहुत जरूरी होता है। लेकिन अधिकांश लोग इस मामले में मात खा जाते हैं। अक...

और पढ़ें...
विवाह पंचमी 2017 – कैसे हुआ था प्रभु श्री राम व माता सीता का विवाह

विवाह पंचमी 2017 –...

देवी सीता और प्रभु श्री राम सिर्फ महर्षि वाल्मिकी द्वारा रचित रामायण की कहानी के नायक नायिका नहीं थे, बल्कि पौराणिक ग्रंथों के अनुसार वे इस स...

और पढ़ें...
राम रक्षा स्तोत्रम - भय से मुक्ति का रामबाण इलाज

राम रक्षा स्तोत्रम...

मान्यता है कि प्रभु श्री राम का नाम लेकर पापियों का भी हृद्य परिवर्तित हुआ है। श्री राम के नाम की महिमा अपरंपार है। श्री राम शरणागत की रक्षा ...

और पढ़ें...
मार्गशीर्ष – जानिये मार्गशीर्ष मास के व्रत व त्यौहार

मार्गशीर्ष – जानिय...

चैत्र जहां हिंदू वर्ष का प्रथम मास होता है तो फाल्गुन महीना वर्ष का अंतिम महीना होता है। महीने की गणना चंद्रमा की कलाओं के आधार पर की जाती है...

और पढ़ें...