शुक्र का कर्क राशि में परिवर्तन - जानिए किन राशियों की बदलने वाली है किस्मत

21 जून 2021

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार राशिचक्र की 12 राशियों में वृषभ व तुला राशि के स्वामी शुक्र एक शुभ ग्रह माने जाते हैं। इन्हें लाभ व सुख-समृद्धि का कारक भी माना जाता है। शुक्र के बल से ही प्रेम व दांपत्य जीवन में सफलता मिलती है। इसलिये शुक्र का गोचर ज्योतिषीय आकलन के लिये बहुत मायने रखता है। 22 जून 2021 को दोपहर 02 बजकर 34 मिनट पर  शुक्र का राशि परिवर्तन मिथुन राशि से कर्क राशि में हो रहा है। ऐसे में समस्त राशियों को शुक्र कैसे प्रभावित करेंगें आइये जानते हैं।

 

आपकी कुंडली में शुक्र की स्थिति कैसी है व शुक्र कैसे आपको प्रभावित कर रहे हैं? जानने के लिये एस्ट्रोयोगी पर देश भर के जाने-माने ज्योतिषाचार्यों से परामर्श करें। अभी बात करने के लिये यहां क्लिक करें।

 

शुक्र का कर्क राशि में परिवर्तन - किन राशियों की बदलने वाली है किस्मत

 

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का मेष राशि पर प्रभाव

इस गोचर के दौरान मेष राशि के जातकों का पारिवारिक जीवन सुखी रहेगा क्योंकि शुक्र मेष राशि के चौथे भाव में गोचर कर रहा है। सभी प्रकार के विवाद समाप्त होंगे और शांति बनी रहेगी। मेष राशि वालों के पेशेवर जीवन में वृद्धि और प्रगति होगी क्योंकि वे अपने रचनात्मक सर्वश्रेष्ठ पर होंगे। मेष राशि के जातकों को सलाह दी जाती है कि वे व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन के बीच संतुलन बनाए रखें। मेष राशि की माताओं के स्वास्थ्य में सुधार होगा और इससे मेष राशि वालों को आंतरिक शांति मिलेगी। जीवनसाथी के साथ संबंध प्रगाढ़ होंगे और प्रेम की जीत होगी। छात्र अपने विषयों का गहनता से अध्ययन करने में सक्षम होंगे।

 

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का वृषभ राशि पर प्रभाव

शुक्र वृषभ राशि के तीसरे भाव में गोचर करेगा, जिसके कारण यात्राएं होंगी। इन यात्राओं के दौरान, संभावना है कि वृषभ राशि के जातक प्रभावशाली और रचनात्मक लोगों से मिल सकेंगे। इस गोचर के दौरान वृषभ राशि वालों का प्रेम और वैवाहिक जीवन रोमांटिक रहेगा। दोस्तों और परिवार के साथ अच्छा समय बितेगा। भाई-बहनों के साथ संबंधों में सुधार होगा। जो लोग शादीशुदा हैं उनका जीवनसाथी के साथ पूरा समय रहेगा जिसमें आपसी सहयोग प्रबल होगा। 

 

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव

शुक्र मिथुन राशि के दूसरे भाव में गोचर करेगा। गोचर के दौरान आप अपने परिवार के साथ आनंदमय समय व्यतीत करेंगे। विदेशी निवेश में या दुनिया के दूरदराज के क्षेत्रों के लोगों के माध्यम से आप धन में महत्वपूर्ण लाभ का अनुभव करेंगे। इस राशि के जातकों के लिए यह समय काफी अनुकूल रहेगा, क्योंकि आपके मार्ग में आने वाली अधिकांश बाधाएं दूर होंगी। मिथुन राशि वालों को संतान पक्ष की तरफ से खुशखबरी मिल सकती है। व्यावसायिक रूप से, व्यवसाय और जो साझेदारी में अपने उद्यमों के मालिक हैं, वे पर्याप्त लाभ पा सकते हैं। आप नए लोगों के संपर्क में आएंगे और आपकी यात्रा होने की भी संभावना है। हालांकि मिथुन राशि के जातकों को विशेष ध्यान देने की आवश्यकता हो सकती है क्योंकि वे मानसिक रूप से मजबूत महसूस नहीं कर सकते हैं। विद्यार्थियों को मेहनत का फल मिलेगा। 

 

कर्क राशि में शुक्र के गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव

कर्क राशि पर शुक्र के प्रथम भाव (लग्न भाव) में गोचर के साथ कर्क राशि पर भगवान शुक्र की कृपा रहेगी। इस अवधि में, आप अधिक आत्म-जागरूक होंगे, और आप अपने दैनिक जीवन में बदलाव करेंगे; ये बदलाव आपके लिए सकारात्मक होंगे। प्रेम के मुद्दों सहित हर चीज में कर्क को अनुकूल परिणाम प्राप्त होंगे। अपेक्षित व्यक्ति से सकारात्मक उत्तर मिलेगा। व्यावसायिक जीवन फल-फूलेगा और नौकरीपेशा जातकों को प्रमोशन और प्रोत्साहन मिलेगा। शादीशुदा लोग साथ में क्वालिटी टाइम बिताएंगे। छात्रों के पास शांतिपूर्ण अध्ययन का समय होगा।

 

सिंह राशि पर शुक्र के कर्क राशि में गोचर का प्रभाव

शुक्र सिंह राशि के बारहवें भाव में स्थित होगा। इस गोचर से सिंह जातकों के ख़र्चों में वृद्धि होगी। इस कारण सिंह राशि के जातकों को अतिरिक्त खर्चों से बचने के लिए उचित योजनाएँ बनाने की आवश्यकता है। जो लोग निर्यात/आयात में हैं उनके लिए यह अवधि बहुत अच्छी है। जो लोग विदेश में बसना चाहते हैं या पढ़ाई के लिए विदेश जाना चाहते हैं, उनके लिए यह समय अच्छा रहेगा। आपके काम या व्यवसाय में वृद्धि होगी। जो लोग रिलेशनशिप में हैं उनके लिए यह समय अच्छा रहेगा।

 

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव

कन्या राशि के ग्यारहवें घर में शुक्र गोचर करेगा। यह गोचर आय में वृद्धि के कारण कन्या राशि के लिए वित्तीय स्थिरता की भविष्यवाणी करता है। यह किसी महिला मित्र के सहयोग से संभव होगा। यह गोचर आपको बहुत से कार्यों को सफलतापूर्वक पूरा करने में मदद करेगा। जो कुछ भी पूरा नहीं हो रहा था, वह सफल समापन को प्राप्त होगा। मनोकामनाएं पूर्ण होंगी। दांपत्य जीवन मध्यम रहेगा, जोड़ों के बीच मामूली विवाद होगा। जातक अपने पेशेवर क्षेत्र में आकर्षण का केंद्र रहेंगे। दोस्तों के साथ क्वालिटी टाइम बिताएंगे, जो अस्थायी शांति और जीवन के संघर्षों से राहत का मार्ग प्रशस्त करेगा। व्यवसायी अच्छा समय देखेंगे और मुनाफा कमाएंगे। सिंह राशि के जातकों को यदि कुछ मनोवैज्ञानिक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है, तो यह सलाह दी जाती है कि वे इसे अपने परिवार और करीबी दोस्तों के साथ साझा करें।

 

तुला राशि पर शुक्र के कर्क राशि में गोचर का प्रभाव

शुक्र तुला राशि के दशम भाव में प्रवेश करेगा, जो कर्म का भाव है। तुला राशि वालों को इस गोचर के दौरान बेहद सावधान रहने की सलाह दी जाती है। कार्यक्षेत्र में वाद-विवाद हो सकता है और इसीलिए; बेहतर है कि वाद-विवाद से दूर रहें और चुप रहें। पारिवारिक जीवन सामान्य रहेगा और तुला राशि के जातकों के जीवनसाथी कई समस्याओं को सुलझाने में उनकी मदद कर सकते हैं। ध्यान व्यक्तिगत जीवन पर होना चाहिए और गलतफहमी से बचने के लिए संयमित रहने की आवश्यकता है। इस गोचर के दौरान तुला राशि वालों को कई कठिन परिस्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। स्वास्थ्य स्थिर रहेगा, लेकिन बीमारियों से दूर रहने के लिए सावधानी बरतने की जरूरत है।

 

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव

वृश्चिक राशि के नवम भाव में शुक्र का गोचर मिले-जुले परिणाम लेकर आएगा। दाम्पत्य जीवन में घनिष्ठता और प्रसन्नता रहेगी। बिजनेस पार्टनर एक-दूसरे के प्रति ईमानदार रहेंगे और आपसी लाभ होगा। व्यापार यात्राएं चल रही हैं जो थकाऊ हो सकती हैं लेकिन सकारात्मक परिणाम देगी। प्रेम जीवन भी समृद्ध रहेगा। सामाजिक मेलजोल वृश्चिक राशि के जातकों को ऊर्जा और जीवन शक्ति प्रदान करेगा। कला में रुचि रखने वाले जातकों के लिए समय अनुकूल रहेगा। छात्रों को मेडिटेशन के माध्यम से अपना ध्यान और एकाग्रता में सुधार करने की आवश्यकता है।

 

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का धनु राशि पर प्रभाव

धनु राशि के आठवें घर में शुक्र के गोचर से कुछ बीमारियां हो सकती हैं। धनु राशि के जातकों को सलाह दी जाती है कि वे अपना ध्यान रखें। तनाव हावी हो सकता है। दूसरों के साथ कुछ वाद-विवाद हो सकता है। यातायात नियमों का पालन करते हुए सावधानी पूर्वक वाहन चलाना चाहिए। कुछ आर्थिक मुद्दे हो सकते हैं और अतिरिक्त खर्चों से बचना चाहिए। यह समय आपके लिए उतार-चढ़ाव भरा रहेगा। जो लोग नौकरी कर रहे हैं उनके लिए यह समय तनावपूर्ण रहेगा। जो लोग व्यापार कर रहे हैं उनके लिए यह समय अच्छा रहेगा। आपके सही फैसले आपको अच्छी कमाई करने में मदद करेंगे। काम के सिलसिले में आपको किसी लंबी यात्रा पर जाने का मौका मिल सकता है जो आपके लिए फायदेमंद रहेगा।

 

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का मकर राशि पर प्रभाव

शुक्र मकर राशि के सप्तम भाव में गोचर करेगा जो विवाह का प्रतीक है। कपल्स के बीच प्रेम विकसित करने के लिए भी यह समय अनुकूल रहेगा। जो लोग पार्टनरशिप में काम कर रहे हैं उनके लिए यह समय अच्छा रहेगा। जो लोग व्यापार कर रहे हैं उनके लिए यह समय अच्छा है। वे अच्छा पैसा कमाने में सक्षम होंगे। पति-पत्नी के बीच मतभेद खत्म होंगे और संबंध मजबूत होंगे। संतान की ओर से शुभ समाचार मिल सकता है।

 

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव

कुम्भ राशि के छठे भाव में शुक्र का गोचर उन्हें मनोवांछित फल की प्राप्ति में मदद करेगा। मेहनत और लगन पर भरोसा जरूरी है। पेशेवर क्षेत्र में महिलाओं के साथ विशेष रूप से बहस और विवाद से बचना चाहिए। वाहन चालन सावधानी से करना चाहिए। छात्रों के लिए अधिक ध्यान केंद्रित करने और सफलता प्राप्त करने में सक्षम होने के लिए यह एक अनुकूल समय है। आलस्य से सख्ती से बचना चाहिए। जो लोग परिवार से दूर हैं उन्हें अपनों की याद आ सकती है। जो लोग विदेश में काम कर रहे हैं यह समय उनके लिए अनुकूल रहेगा। भाई-बहनों के साथ संबंधों में उतार-चढ़ाव आ सकता है। नकारात्मक बातचीत से दूर रहें।

 

मीन राशि पर शुक्र के कर्क राशि में गोचर का प्रभाव

शुक्र आपके पंचम भाव में प्रवेश करेगा जो संतान का प्रतीक है। सभी प्रकार के छिपे हुए कौशल की खोज की जाएगी और मीन राशि वाले नए कौशल सीखने के लिए उत्सुक रहेंगे। इस गोचर के दौरान छात्रों को लाभ होगा क्योंकि वे अच्छी तरह से अध्ययन करने और संबंधित विषयों पर ध्यान केंद्रित करने में सक्षम होंगे। पेशेवरों को नए वित्तीय सौदों का सामना करना पड़ेगा। इन सौदों से लाभ होगा। जो लोग रिलेशनशिप में हैं, उनके लिए प्रेम विवाह के योग बन रहे हैं। मीन राशि के लोग परिवार में बड़ों की समस्याओं का समाधान करने में सक्षम होंगे।

 

यह भी पढ़ें

शुक्र ग्रह - कैसे बने भार्गव श्रेष्ठ शुक्राचार्य पढ़ें पौराणिक कथा   |  ग्रह गोचर 2021   |   शुक्र गोचर 2021

Chat now for Support
Support