Skip Navigation Links
शुक्र गोचर – शुक्र करेंगे राशि परिवर्तन क्या रहेगा आपका राशिफल?


शुक्र गोचर – शुक्र करेंगे राशि परिवर्तन क्या रहेगा आपका राशिफल?

31 मई को प्रात: 9 बजकर 11 मिनट पर शुक्र ग्रह अपनी उच्च राशि मीन से परिवर्तन कर मेष राशि में आ जायेंगें। शुक्र को वृषभ व तुला राशियों का स्वामी माना जाता है। जीवन में दांपत्य सुख एवं लाभ का कारक भी शुक्र को माना जाता है। शुक्र का राशि परिवर्तन ज्योतिष शास्त्र में काफी अहम स्थान रखता है क्योंकि जिस भी भाव में शुक्र आते हैं उसी के अनुसार जातक की राशि पर अच्छे बूरे प्रभाव का आकलन किया जाता है। तो आइये जानते हैं आपकी राशि के लिये शुक्र का राशि परिवर्तन कैसा रहेगा।

मेष – मेष राशि में शुक्र का प्रवेश मित्रवत है इससे मेष जातकों को नई उम्मीद जगेगी और सफलता प्राप्ति के योग बनेंगें। मेष राशि में बुध के शुक्र की युति संपदा को बढ़ाने वाली है। पारिवारिक और दांपत्य जीवन सुखमय रहने के आसार हैं।

वृषभ – वृषभ राशि के स्वामी शुक्र मेष में प्रवेश कर रहे हैं। जो कि वृषभ राशि से 12वें घर में प्रवेश करेंगें। इस समय कुछ नया करने के लिये आपके जीवन में योग बन रहे हैं जिसका भविष्य में आपको अच्छा लाभ मिलने के आसार हैं। हालांकि आपके लिये सलाह है कि इस समय गुप्त शत्रुओं से जरा बचकर रहें।

मिथुन – आपकी राशि से शुक्र का परिवर्तन 11वें भाव में हो रहा है। यह आपके लिये लाभ के संकेत कर रहा है। इस समय आपके पारिवारिक जीवन में भी शांति बनी रहने के आसार हैं। संतान का सुख आपको मिल सकता है, संतान पक्ष की ओर से संतुष्टि भी आपको हो सकती है। राशि स्वामी बुध के साथ शुक्र की युति होने से कार्यक्षेत्र में आपके लिये पदोन्नति की संभावनाएं भी प्रबल हो सकती हैं।

कर्क – कर्क राशि से शुक्र दशम भाव में प्रवेश कर रहे हैं। जो जातक दूरस्थ स्थानों पर जानें के इच्छुक हैं उनके लिये अनुकूल समय है, नये रास्ते खुल सकते हैं। पैतृक संपत्ति से भी इस समय आप लाभ मिलने की उम्मीद कर सकते हैं। सुख-साधनों में वृद्धि होने की संभावना है।

सिंह – आपकी राशि से शुक्र भाग्य स्थान में आ रहे हैं। यह समय आपके लिये भाग्यवर्धक रहने के आसार हैं। पराक्रम क्षेत्र में आप पर लंबे समय से काम यदि दबाव बना हुआ है तो उससे आपको इस समय राहत मिल सकती है। स्वास्थ्य के लिहाज से भी आप बेहतर महसूस कर सकते हैं। इस समय आपमें एक नई ऊर्जा होगी। थोड़े से अतिरिक्त प्रयास से आप बड़ी सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

कन्या – कन्या राशि से शुक्र का अष्टम घर में प्रवेश करना चिंता बढ़ाने वाला हो सकता है। अचानक से आपके कार्यक्षेत्र में आपको बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का भी आपको सामना करना पड़ सकता है। प्रेम के मामले में भी ध्यान रखें। राशि स्वामी बुध भी अष्टम में ही हैं जोकि लाभप्रद संकेत नहीं है। आपके लिये सलाह है कि भगवान गणेश की आराधना करें।

तुला – तुला राशि से शुक्र का परिवर्तन सातवें घर में हो रहा है। विवाह क्षेत्र में आ रही बाधाएं दूर हो सकती हैं। मनपसंद जीवनसाथी मिलने के योग बन रहे हैं। कार्यक्षेत्र के लिहाज से यह समय सामान्य बने रहने के आसार हैं। दांपत्य जीवन में परेशान चल रहे जातकों की परेशानियां भी इस समय समाप्त हो सकती हैं।

वृश्चिक – आपकी राशि से शुक्र छठे घर में आ रहे हैं। यह आपके लिय शुभ संकेत नहीं है विशेषकर सेहत के मामले में। आपके लिये रोग वृद्धि के आसार हैं। यात्रा के दौरान भी अतिरिक्त सावधानी बरतें। अष्टम मंगल मानसिक चिंताएं बढ़ा सकता है। कार्यक्षेत्र में भी समय थोड़ा कठिन रहने के आसार हैं। संयम और धैर्य से काम लेकर आप इस समय से पार पा सकते हैं।

धनु – धनु राशि से शुक्र का परिवर्तन पंचम भाव में हो रहा है। जोकि बुद्धि और संतान के क्षेत्र में आपके लिये बहुत ही शुभ योग बना रहा है। आप अपने बुद्धि बल या संतान की उपलब्धि से समाज में प्रतिष्ठा प्राप्त कर सकते हैं। इस समय व्यवसायी जातकों को भी लाभ के नये अवसर प्राप्त हो सकते हैं। नव प्रेमी युगलों के लिये भी यह प्रेम संबंधों में मधुरता लाने का समय है। पिछले कुछ समय से यदि साथी से अनबन चल रही है तो यह समय आपको एक दूसरे के काफी करीब लेकर आ सकता है।

मकर – मकर राशि से शुक्र का परिवर्तन चौथे स्थान में हो रहा है। आपकी राशि में राजयोग का निर्माण हो रहा है। यह समय कार्यक्षेत्र में नई सफलता अर्जित करने का है। यदि आप घर या गाड़ी की ताक में हैं तो आपको कामयाबी मिल सकती है। कार्यस्थल पर वरिष्ठ अधिकारियों के कृपा पात्र बने रहें उनका उचित सहयोग आपको मिलता रहेगा। दांपत्य जीवन में भी खुशियां बनी रहने के आसार हैं।

कुंभ – कुंभ राशि से शुक्र का परिवर्तन तीसरे घर में हो रहा है। पराक्रम क्षेत्र में पराक्रम दिखाने का यह उपयुक्त समय है। भाग्य का भी आपको प्रबल साथ मिलने के आसार हैं। दांपत्य जीवन में भी खुशियां मिलने की संभावनाएं प्रबल हैं। हालांकि पंचम मंगल इस समय आपकी बुद्धि की परीक्षा ले सकता है। यदि आप सही निर्णय लेते हैं तो आपको अपने कार्य में सफलता प्राप्त हो सकती है।

मीन – मीन राशि से शुक्र का परिवर्तन दूसरे घर में हो रहा है। शुक्र और बुध की युति धन भाव में होने के कारण धन प्राप्ति के योग बन रहे हैं। काफी समय से रूका हुआ धन भी इस समय आपको मिल सकता है। आपकी राशि में पराक्रम के स्वामी धनभाव में होने से थोड़े से प्रयासों से आप अच्छा लाभ कमा सकते हैं। 

आपकी कुंडली में शुक्र की स्थिति कैसी है व शुक्र कैसे आपको प्रभावित कर रहे हैं? जानने के लिये एस्ट्रोयोगी पर देश भर के जाने-माने ज्योतिषाचार्यों से परामर्श करें। अभी बात करने के लिये यहां क्लिक करें।




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

मार्गशीर्ष अमावस्या – अगहन अमावस्या का महत्व व व्रत पूजा विधि

मार्गशीर्ष अमावस्य...

मार्गशीर्ष माह को हिंदू धर्म में काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। इसे अगहन मास भी कहा जाता है यही कारण है कि मार्गशीर्ष अमावस्या को अगहन अमावस्य...

और पढ़ें...
कहां होगा आपको लाभ नौकरी या व्यवसाय ?

कहां होगा आपको लाभ...

करियर का मसला एक ऐसा मसला है जिसके बारे में हमारा दृष्टिकोण सपष्ट होना बहुत जरूरी होता है। लेकिन अधिकांश लोग इस मामले में मात खा जाते हैं। अक...

और पढ़ें...
विवाह पंचमी 2017 – कैसे हुआ था प्रभु श्री राम व माता सीता का विवाह

विवाह पंचमी 2017 –...

देवी सीता और प्रभु श्री राम सिर्फ महर्षि वाल्मिकी द्वारा रचित रामायण की कहानी के नायक नायिका नहीं थे, बल्कि पौराणिक ग्रंथों के अनुसार वे इस स...

और पढ़ें...
राम रक्षा स्तोत्रम - भय से मुक्ति का रामबाण इलाज

राम रक्षा स्तोत्रम...

मान्यता है कि प्रभु श्री राम का नाम लेकर पापियों का भी हृद्य परिवर्तित हुआ है। श्री राम के नाम की महिमा अपरंपार है। श्री राम शरणागत की रक्षा ...

और पढ़ें...
मार्गशीर्ष – जानिये मार्गशीर्ष मास के व्रत व त्यौहार

मार्गशीर्ष – जानिय...

चैत्र जहां हिंदू वर्ष का प्रथम मास होता है तो फाल्गुन महीना वर्ष का अंतिम महीना होता है। महीने की गणना चंद्रमा की कलाओं के आधार पर की जाती है...

और पढ़ें...