Skip Navigation Links
शुक्र राशि परिवर्तन – किसको मिलेगा लाभ किसको होगी हानि जानें राशिफल



शुक्र राशि परिवर्तन – किसको मिलेगा लाभ किसको होगी हानि जानें राशिफल

किसी भी जातक की कुंडली में लाभ, सुख-समृद्धि आदि के कारक शुक्र माने जाते हैं इसलिये शुक्र का गोचर भी ज्योतिषीय दृष्टिकोण से खास अहमियत रखता है। 26 जुलाई को शुक्र स्वराशि से वृषभ से परिवर्तित होकर मिथुन राशि में प्रवेश करेंगें। ऐसे में सभी 12 राशियों को शुक्र किस तरह प्रभावित करेंगें आइये जानते हैं।

मेष – मेष राशि से शुक्र का परिवर्तन तीसरे घर में हो रहा है जो कि शुक्र का मित्र घर है। पराक्रम क्षेत्र में शुक्र के गोचर से आपमें नई ऊर्जा का संचार होगा। पिछले कुछ समय से हो सकता है आप स्वयं को आलस से घिरा हुआ महसूस कर रहे हों शुक्र के परिवर्तन से आप पर छाया आलस्य दूर होने के प्रबल आसार हैं। पारिवार से कुछ समय के लिये दूर जाने के योग भी बन सकते हैं। पिछले समय में की गई मेहनत शुक्र के परिवर्तन से रंग ला सकती है। स्वास्थ्य के प्रति थोड़ा सचेत रहने की आवश्यकता भी आपको है। कुल मिलाकर शुक्र का परिवर्तन आपके लिये शुभ कहा जा सकता है।

वृषभ – राशि स्वामी शुक्र का परिवर्तन आपकी ही राशि से हो रहा है। दूसरे घर में शुक्र के आने से आपके लिये काफी शुभकारी योग बन रहे हैं। विशेषकर धनलाभ के प्रबल योग आपके लिये हैं। लंबे समय से यदि आपका धन कहीं अटका हुआ है तो प्रयासरत रहें उसके मिलने के आसार हैं। शुक्र का यह परिवर्तन आपके लिये शत्रु बाधाओं को भी कम करने वाला रह सकता है। हालांकि किसी परिजन के स्वास्थ्य को लेकर आपकी चिंताए हो सकती हैं और सकता है आपको स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं पर पैसा भी खर्च करना पड़े। छोटी यात्राओं का योग भी आपके लिये बन सकते हैं हो सकता है यह यात्राएं कामकाज के सिलसिले में हों। कार्यक्षेत्र में आपको नई जिम्मेदारियां भी मिल सकती हैं।

मिथुन – शुक्र का स्वराशि वृषभ से परिवर्तित होकर आपकी ही राशि में प्रवेश कर रहे हैं। इस समय आप अपनी सेहत को काफी दुरुस्त व तंदूरूस्त महसूस कर सकते हैं। जो लोग लंबे समय से परिजनों से दूर रह रहे हैं उन्हें अपने परिवार के साथ अच्छा समय व्यतीत करने के अवसर प्राप्त हो सकते हैं। नये प्रेम प्रसंगों से भी जुड़ सकते हैं। रोमांटिक जीवन के लिहाज से तो आपके लिये यह समय अच्छे संकेत कर रहा है, यदि साथी के साथ पिछले कुछ दिनों से मनमुटाव चल रहा है तो इस समय आप दोनों एक दूसरे के काफी महसूस कर सकते हैं। संतान से भी खुशी मिलने के योग हैं। अपने जीवन में ऐश्वर्य का आनंद उठाने के लिये भी कुछ वस्तुओं पर पैसा खर्च कर सकते हैं। घर की साज-सज्जा के लिये खरीददारी करने का विचार भी इस समय आप बना सकते हैं। कार्यक्षेत्र में भी यह समय आपके अनुकूल कहा जा सकता है।

कर्क – कर्क राशि से शुक्र का परिवर्तन 12वें घर मे हो रहा है। संभव है पिछले कुछ समय से आप कम मेहनत में ज्यादा लाभ उठा रहे हों लेकिन शुक्र के परिवर्तन से आपको इसके लिये थोड़े अतिरिक्त प्रयास और करने पड़ सकते हैं। सुख के स्वामी शुक्र के 12वें घर में विचरण करने से आपकी दैनिक भागदौड़ बढ़ सकती है। जिससे आपको शारीरिक तौर पर थकावट महसूस हो सकती है। इसलिये विशेष रूप से अपनी सेहत पर ध्यान दें क्योंकि आपकी राशि में नीच के मंगल भी गोचर कर रहे हैं। घर मकान वाहन आदि में निवेश कर सकते हैं लेकिन थोड़ी सावधानी रखें।

सिंह – सिंह राशि वालों के लिये शुक्र लाभ घर में गोचररत होंगे यह आपके लिये लाभ के प्रबल शुभ योग बना रहा है। आपके कर्मेश शुक्र के लाभ स्थान में विचरण करने से मेहनत का फल मिलने का आभास होगा। वहीं आपके पराक्रमेश भी शुक्र हैं इस कारण लाभ घर में इनका गोचर वर्तमान में किये गये प्रयासों का भी तुरंत लाभ देने में प्रभावकारी हो सकता है। मित्र के घर में स्थित होने से किसी प्रकार की साझेदारी में व्यवसाय करने का यह शुभ समय है। आपकी राशि में शुक्र लाभप्रद बने रहेंगें।

कन्या – कन्या राशि के जातकों के लिये शुक्र कर्मभाव में प्रवेश करेंगें। आपके भाग्य स्थान से शुक्र का गोचर आपके कर्मभाव में हो रहा है। इससे यदि पिछले कुछ समय आप स्वयं को किसी कार्य में फंसा हुआ महसूस कर रहे थे तो शुक्र के प्रभाव से किसी मित्र या सहकर्मी के सहयोग से आप उससे निकल सकते हैं। भाग्य का स्वामी मित्र घर में विचरण करने से अपने उच्च पदस्थ अधिकारियों की नज़र में आप प्रशंसा के पात्र बन सकते हैं साथ ही आपकी मेहनत अपेक्षित फल दिलाने में भी यह महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा। संचित धन में से कुछ अनावश्यक वस्तुओं पर भी खर्च बढ़ने के आसार हैं इसलिये बेहतर है कि अपने भविष्य की योजनाओं के अनुसार ही खर्च वहन करें। मध्य में शुक्र स्वास्थ्य संबंधी चिंताएं भी दे सकता है इसलिये सेहत के प्रति लापरवाही न बरतें।

तुला – शुक्र आपकी राशि का स्वामी है और उनका विचरण आपकी राशि से नवें घर में हो रहा है जो कि आपके लिये भाग्यवर्धक समय को दर्शाता है। जो जातक लंबे समय से खुद को शारीरिक तौर पर अस्वस्थ या कमजोर महसूस कर रहे हैं, छोटी मोटी बिमारियों से घिरे हैं शुक्र के प्रभाव से उनके स्वास्थ्य में कुछ सकारात्मक परिवर्तन हो सकते हैं और आप पहले से बेहतर महसूस कर सकते हैं। यदि किसी अन्य दुविधाजनक स्थिति से भी आप निबटने का प्रयास कर रहे हैं तो शुक्र इस मामले में भी आपके मददगार हो सकते हैं। कोई निकटवर्ती व्यक्ति आपसे मदद की दरकार रख सकते हैं। आप भी इनकी मदद करने से अपने भीतर एक आत्मिक संतुष्टि, एक मानसिक शांति का अहसास कर सकते हैं।

वृश्चिक – आपकी राशि से शुक्र का परिवर्तन आठवें घर में हो रहा है। शुक्र के आठवें भाव में गोचर करने से आपको अपने जीवन में निराशा के भाव भी नजर आ सकते हैं। उम्मीद के अंतिम दरवाजे भी बंद होने की संभावना है। पारिवारिक एवं दांपत्य जीवन से दूरी या अलगाव रहने की आशंका भी मन में रह सकती है। बेमतलब की यात्राएं न करके आप अपने धन की बचत कर सकते हैं। रोग पर धन खर्च होने के संकेत भी हैं। कुल मिलाकर यह समय आपके लिये थोड़ा संभल कर चलने और हिम्मत और धैर्य से परिस्थितियों का सामना करने का है।

धनु – धनु राशि से शुक्र का परिवर्तन सप्तम घर में हो रहा है। लंबे समय से अगर दांपत्य जीवन में किसी तरह के मतभेद चल रहे हैं या किसी प्रकार का मामला न्यायालय मे विचाराधीन है तो उन्हें सुलझाने के लिहाज से यह उत्तम समय कहा जा सकता है। किसी बड़े बुजूर्ग द्वारा दी गई सलाह को नज़रंदाज न करें यह आपके भविष्य के लिये लाभदायक हो सकती है। छिटपुट धन लाभ के संकेत भी बने रहेंगें। कार्यक्षेत्र में मीठे बोलने वाले व्यक्ति से सतर्क रहें।

मकर – मकर राशि से शुक्र का परिवर्तन छठे घर में हो रहा है। आपका घनिष्ठ मित्र भी आपके शत्रु के साथ मिलकर आपकी योजनाओं का खुलासा कर सकता है। रोग और शत्रु से भय बना रहेगा। प्रेम प्रंसंगों में विशेष ध्यान दें। संतान से संबंधित चिंताएं भी बनी रह सकती हैं। कार्यक्षेत्र में अनावश्यक कार्यों का बोझ भी बढ़ सकता है। निष्ठा और ईमानदारी से इसे निभाएं भविष्य के लिये लाभप्रद रहेगा। छोटे समय के लिये विदेश यात्राओं का योग भी आपके लिये बन सकता है। आर्थिक स्थिति को संतुलित बनाये रखने के लिये अपने खर्चों पर नियंत्रण रखें जो कि बढ़ सकते हैं।

कुंभ – कुंभ राशि से शुक्र का परिवर्तन पंचम घर में हो रहा है। जो अविवाहित जातक अभी तक किसी के प्रेम में नहीं पड़े हैं किसी को अपना बनाने के लिहाज से यह अनुकूल समय है। भाग्य के स्वामी शुक्र का आपके जीवन में प्रबल प्रभाव रह सकता है। कोई नया कार्य करने जा रहे हैं तो उस कार्य का उचित समय यही है। अगर दांपत्य जीवन मे किसी प्रकार का मनमुटाव है तो किसी खास मित्र की सलाह लेना आपके लिये लाभकारी रहे हैं। लंबे समय से अगर कार्य से दूर हैं तो आपको अब अपने कार्य के प्रति समर्पित होना पड़ेगा जो कि आपके भविष्य की योजनाओं के लिये भी अति आवश्यक है। स्वास्थ्य बेहतर रहने की उम्मीद कर सकते हैं।

मीन – मीन राशि से शुक्र का परिवर्तन चतुर्थ घर में हो रहा है जो कि प्रबल राजयोग बनाता है। इस समय आपको कोई बड़ा पद या जिम्मेदारी भी मिल सकती है या फिर अपने कार्यक्षेत्र में आप कोई ब़ी उपलब्धि हासिल कर सकते हैं। राजकीय क्षेत्र में कार्य करने के उत्साहित व्यक्तियों के लिये भी यह समय शुभ समाचार लेकर आ सकता है। किसी पुराने मित्र से मुलाकात होने के संकेत भी हैं। छोटी यात्राओं के योग भी बन सकते हैं जो कि लाभप्रद रह सकती हैं।

आपकी कुंडली में शुक्र की स्थिति कैसी है व शुक्र कैसे आपको प्रभावित कर रहे हैं? जानने के लिये एस्ट्रोयोगी पर देश भर के जाने-माने ज्योतिषाचार्यों से परामर्श करें। अभी बात करने के लिये यहां क्लिक करें।




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

शुक्र अस्त - अब 3 फरवरी के बाद बजेंगी शहनाइयां!

शुक्र अस्त - अब 3 ...

विवाह के लिये सर्दियों का मौसम बहुत ही अच्छा माना जाता है। क्योंकि ऐसा मानना है कि सर्दियों के मौसम खाने पीने से लेकर ओढ़ने पहनने व संजने संव...

और पढ़ें...
पौष अमावस्या – 12 साल बाद बन रहा है अद्भुत संयोग!

पौष अमावस्या – 12 ...

धार्मिक दृष्टि से पौष मास का बहुत ही खास महत्व होता है। इस माह में अक्सर सूर्य धनु राशि में विचरण करते हैं। इस कारण आध्यात्मिक उन्नति के लिये...

और पढ़ें...
खर मास - क्या करें क्या न करें

खर मास - क्या करें...

भारतीय पंचाग के अनुसार जब सूर्य धनु राशि में संक्रांति करते हैं तो यह समय शुभ नहीं माना जाता इसी कारण जब तक सर्य मकर राशि में संक्रमित नहीं ह...

और पढ़ें...
गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 भविष्यवाणी

गुजरात विधानसभा चु...

गुजरात चुनाव 2017 में अब बहुत समय नहीं बचा है 9 दिसंबर को प्रथम चरण का मतदान होगा तो 14 दिसंबर को दूसरे व अंतिम चरण का। 18 दिसंबर को यह पता च...

और पढ़ें...
अस्त शनि से मिल सकता है भंसाली की पद्मावती को लाभ !

अस्त शनि से मिल सक...

संजय लीला भंसाली हिंदी सिनेमा के जाने-माने चेहरे हैं। बड़े-बड़े सेट, बड़ी स्टार कास्ट और बड़े तामझाम से सजी फिल्मों के निर्माण व निर्देशन के ...

और पढ़ें...