सनी लियोन - क्या कहती है करनजीत कौर की कुंडली?

सनी लियोन के नाम से मशहूर करनजीत कौर वर्तमान में भारतीय फिल्म जगत में अपनी अदाओं का जलवा बिखेर रही हैं। 13 मई 1981 को कनाडा के सार्निया में जन्मी करनजीत कौर 2011 में भारत आयीं। भारत आने के बाद कलर्स पर प्रसारित होने वाले शो बिग बॉस में सनी लियोन काफी चर्चा में रहीं। इसी दौरान सन्नी की मुलाकात हिंदी फिल्म निर्माता व निर्देशक महेश भट्ट हुई। 2012 में महेश भेट्ट ने सन्नी को जिस्म 2 में मुख्य अभिनेत्री के रूप में साईन किया। इस फिल्म में सन्नी ने इज्ना की भूमिका निभाई, जिसे खूब सराहा गया। इसके बाद सन्नी को सीरियल क्वीन एकता कपूर ने रागिनी एमएमएस 2 में मौका दिया। जिसके चलते सन्नी प्रशंसकों के बीच काफी लोकप्रिय हुईं। इसके बाद सन्नी ने एक पहेली लीला, कुछ कुछ लोचा है में काम किया। अभिनय के अलावा सनी लियोन ने कई फिल्मों में आइटम साँग भी किया। जिनमें हेट स्टोरी 2, डोंगरी का राजा, रईस, बादशाहो व भूमि प्रमुख फिल्में हैं। भारतीय फिल्म जगत में आपना एक आयाम स्थापित करने वाली करनजीत कौर उर्फ सन्नी लियोन का आगामी 13 मई को जन्मदिन है। ऐसे में एस्ट्रोयोगी एस्ट्रोलॉजर ने आपकी चहेती अभिनेत्री की जन्म कुंडली का विश्लेषण कर इस वर्ष सनी लियोन के ग्रहों की दशा व दिशा इनका कितना साथ देने वाले हैं इसका अनुमान लगाया है, जिसे हम यहां आपके लिए प्रस्तुत कर रहे हैं।

नाम – सन्नी लियोन

जन्म दिनांक – 13 मई 1981

जन्म समय – 14:30 दोपहर

जन्म स्थान – सार्निया (कनाडा)

कुंडली के अनुसार सनी लियोन का जन्म सिंह लग्न, कन्या राशि तथा उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र के द्वितीय चरण में हुआ है। वर्मान में इनकी कुंडली में राहु की महादशा 4 जनवरी 2002 से चल रही है जो 5 जनवरी 2020 तक चलने वाली है। अंतरदशा में मंगल 17 दिसंबर 2018 से चल रहे हैं जो 5 जनवरी 2020 तक रहने वाले हैं। बात प्रत्यंतर दशा की करें तो इस समय शनि चल रहे हैं। ज्योतिष के मुताबिक सिंह लग्न के जातकों के चेहरे पर एक प्रकार का विशेष तेज रहता है और ये हमेशा जीवन में अग्रसर रहते हैं। यही कारण है कि सन्नी अपने जीवन में आगे बढ़ रही हैं। इनकी कुंडली के भाग्य स्थान में सूर्य व मंगल एक साथ विराजमान हैं जिससे एक सुंदर योग बना रहा है जिसे केंद्र त्रिकोण राजयोग कहा जाता है। यह योग जातक को सम्मान व प्रतिष्ठा दिलाता है। सनी के भाग्य का साथ हमेशा इनके साथ रहता है। राहु की महादशा चल रही है और राहु चंद्रमा की राशि में बारहवें भाव में बैठा है। जो जातक को विदेश में ख्याती दिलाने में सहायक भूमिका निभाता है। इसी के चलते आज सन्नी को अपने अभिनय के दम पर भारत में ख्याती मिली है और आने वाले वर्षों में भी मिलेगी।

यह भी पढ़ेंमाधुरी दीक्षित जन्मदिन विशेष   |   स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2   |   अनुष्का शर्मा

 

बात करें कार्यक्षेत्र की तो इस स्थान में बुध और शुक्र (धनेश व कर्मेश) का संबंध केंद्र में होना कार्यक्षेत्र के लिए शुभ है। नवांश में शुक्र का उच्च का होकर बैठना इनके वैवाहिक जीवन में मधुरता लाएगा। वर्ष कुंडली के अनुसार यह साल सन्नी लियोन के लिए करियर के हिसाब से उतना अच्छा नहीं रहगा। लेकिन इनके वैवाहिक जीवन के लिए यह वर्ष ज्योतिषीय गणना के अनुसार बेहतर रहने वाला है। धन व संपत्ती का साथ बना रहेगा। सन्नी की कुंडली में जो राज योग बने हुए हैं, गजकेसरी व केंद्र त्रिकोण राजयोग, इन्हें कभी असफल नहीं होने देगा। बात करें सनी की स्वास्थ्य कि तो इस पहलू पर कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए इन्हें थोड़ा सतर्क रहने की आवश्यकता है। 23 मार्च 2019 को हुआ राहु परिवर्तन सन्नी के लिए लाभकारी सिद्ध होगा। क्योंकि राहु अपना स्थान बदलकर इनकी कुंडली के ग्यारहवें भाव में आ गया है जो धन तथा वैभव को बढ़ने में सहयोग करेगा। कुल मिलाकर यह वर्ष सन्नी के लिए अच्छा रहने वाला है।

क्या है आपकी कुंडली में केंद्र त्रिकोण राजयोग? जानने के लिए बात करें देश के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्योंं से।

एस्ट्रो लेख

बुध का राशि परि...

इस माह बुध राशि परिवर्तन कर मकर राशि के कुंभ राशि में जा रहे हैं। वैदिक ज्योतिष में बुध को वाणी का कारक माना जाता है। कहते हैं कि वाणी में मधुरता हो तो शत्रु भी मित्र बन जाता है। प...

और पढ़ें ➜

Saturn Transit ...

निलांजन समाभासम् रवीपुत्र यमाग्रजम । छाया मार्तंड संभूतं तं नमामी शनैश्वरम ।। Saturn Transit 2020 - सूर्यपुत्र शनिदेव 24 जनवरी 2020 को भारतीय समय दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर धनु राशि ...

और पढ़ें ➜

बसंत पंचमी पर क...

जब खेतों में सरसों फूली हो/ आम की डाली बौर से झूली हों/ जब पतंगें आसमां में लहराती हैं/ मौसम में मादकता छा जाती है/ तो रुत प्यार की आ जाती है/ जो बसंत ऋतु कहलाती है। सिर्फ खुशगवार ...

और पढ़ें ➜

Rashianusar Puj...

हिंदू धर्म में पूजा-पाठ का बड़ा महत्व है, लेकिन कई बार रोज़ाना पूजा-पाठ करने के बावजूद भी हमारा मन अशांत ही रहता है। वहीं भगवान की पूजा के दौरान कौन सा फूल, फल और दीपक जलाना चाहिए ...

और पढ़ें ➜